1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. champaran east
  5. dhankuber turned out to be excise superintendent avinash farm house in patna land in many cities with 15 accounts in 5 banks asj

धनकुबेर निकला एक्साइज अधीक्षक अविनाश, पटना में फार्म हाउस, 5 बैंकों में 15 खातों के साथ कई शहरों में जमीन

उत्पाद विभाग के एक्साइज अधीक्षक अविनाश प्रकाश अवैध कमाई के मामले में बड़े खिलाड़ी निकले. शराब माफियाओं से सांठगांठ कर अविनाश ने अकूत संपत्ति जमा कर ली है.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
निगरानी का छापा
निगरानी का छापा
ट्वीटर

पटना/मोतिहारी. उत्पाद विभाग के एक्साइज अधीक्षक अविनाश प्रकाश अवैध कमाई के मामले में बड़े खिलाड़ी निकले. शराब माफियाओं से सांठगांठ कर अविनाश ने अकूत संपत्ति जमा कर ली है. बुधवार की सुबह विशेष निगरानी इकाई, पटना ने पूर्वी चंपारण के एक्साइज सुपरिन्टेंडेंट अविनाश प्रकाश के विरुद्ध आय से अधिक सम्पत्ति जमा करने के मामले में बड़े पैमाने पर रेड किया.

उत्पाद विभाग के किसी पदाधिकारी के विरुद्ध दायर यह पहला मामला है. निगरानी विभाग से मिली जानकारी के अनुसार इनके भ्रष्ट आचरण के संबंध में लगातार सूचना मिल रही थी.

पूरे दिन चली छापेमारी के बाद निगरानी विभाग की ओर से जो जानकारी दी गयी है इसके अनुसार पटना में इनका एक विशालकाय फार्म हाउसनुमा मकान है, जो लगभग एक बीघा जमीन में सम्पूर्ण सुविधाओं से सुज्जित है. इसमें इनके खूबसूरत बगान, 10 गायों के खटाल एवं कई नौकर-चाकर सेवा में लगे दिखे. इनके पास अपना 02 JCB मशीन, एक इनोवाा गाड़ी तथा करोड़ों की चल-अचल सम्पत्ति होने के प्रमाण मिले हैं.

इतना ही नहीं इनके और इनके परिजनों के नाम लाखों के निवेश बैंक एवं एलआईसी में मिले हैं. खगड़िया में एक अलीशान मकान और एक JCB भी बरामद हुआ है. पटना में एक फ्लैट खरीदने का एग्रीमेंट पेपर मिला है. इसके घर से एक नोट गिनने की मशीन भी बरामद हुई है.

पासपोर्ट के अलावा एचडीएफसी में 5 पासबुक, इलाहाबाद में 1 पासबुक, एसबीआइ में 5 पासबुक, यूनियन बैंक में 3 पासबुक, कैनरा बैंक में 1 पासबुक, एचडीएफसी एलआइसी बीमा में 3 ,टाटा एआइजी में और एलआइसी में 2 बीमा, एक टैक्सी का रजिस्ट्रेशन पेपर पत्नी के नाम पर 3 फ्लैट कुल 41 डिसिमल में कीमत 8.25 लाख, पिता के नाम से 20 प्लॉट रकबा 800 डिस्मिल जिसकी कीमत 48.5 लाख है, जो 2016-17 में खरीद की गई है.

इन पर आरोप है कि सरकारी सेवा में रहते हुए इन्होंने नजायज ढंग से अकूत सम्पत्ति अर्जित की है जो कि उनके द्वारा प्राप्त वेतन एवं अन्य ज्ञात स्रोतों की तुलना में बहुत ही अधिक है. इसी आरोप पर इन पर आय से अधिक कुल 94 लाख से अधिक की संपत्ति गैरकानूनी और नाजायज ढंग से अर्जित करने के कारण एस.भी.यू. कांड संख्या 05 / 2021 u / s 13 ( 1 ) ( b ) 13 ( 2 ) r / w 12 of PC Act 1988 and 120 ( B ) of IPC दर्ज किया गया. इस धनकुबेर अधिकारी द्वारा अर्जित किए अवैध सम्पति से सम्बन्धित जानकारी और भी मिलने की संभावना है.

Posted by Ashish Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें