1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. champaran east
  5. bihar election 2020 rebels on both sides making purvi champaran fight interesting see candidate matdan voting party details of sugauli raxaul dhaka chiraiya motihari assembly election news hindi smt

Bihar Election 2020: पूर्वी चंपारण के सभी सीटों पर लड़ाई को रोचक बना रहे दोनों तरफ के बागी, अप्रत्याशित आ सकते है चुनाव परिणाम

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
Bihar Election 2020, Rebels, Purvi Champaran Assembly Election
Bihar Election 2020, Rebels, Purvi Champaran Assembly Election
Prabhat Khabar Graphics

मोतिहारी : सात नवंबर को पूर्वी चंपारण में होने वाले तृतीय चरण के चुनाव में कुछ विधानसभा क्षेत्रों में बागियों के मैदान में उतरने से अप्रत्याशित परिणाम सामने आये तो आश्चर्य नहीं होगा. तृतीय चरण में सुगौली, रक्सौल, नरकटिया, ढाका, चिरैया व मोतिहारी में चुनाव होना है. विकास, शिक्षा, उद्योग-धंधे, बाढ़ से निजात, पुल-पुलिया, सड़क, प्रखंड का दर्जा प्रमुख मुद्दे हैं.

सुगौली : आमने-सामने की हो सकती है जंग

ऐतिहासिक सुगौली संधी से मशहूर सुगौली विधान सभा का 2010 में मानचित्र बदला. पहले बंजरिया सुगौली में था अब रामगढ़वा सुगौली विधान सभा का हिस्सा हो गया है. यहां एनडीए के वीआईपी से रामचंद्र सहनी भाग्य आजमा रहे हैं. रामचंद्र भाजपा थे. एलायंस के तहत वीआईपी में शामिल हो गये हैं. उनका मुकाबला महागठबंधन के राजद उम्मीदवार शशिभूषण सिंह से है. भाजपा के बागी पूर्व मंत्री विजय गुप्ता सहित 15 प्रत्याशी चुनावी मैदान में अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. यहां कुल वोटर 286765 है, जिसमें महिला 152805 और पुरूष 133960 हैं. मुद्दा है यहां का सिकरहना नदी के बाढ़ से निजात दिलाना, रघुनाथपुर को प्रखंड और सुगौली को अनुमंडल का दर्जा दिलाना शामिल है. वर्ष 2015 के विस चुनाव में भाजपा के रामचंद्र सहनी ने राजद के ओम प्रकाश चौधरी को 7756 मतों से शिकस्त दी थी.वर्ष 2015रामचंद्र सहनी (भाजपा) - 62384ओम प्रकाश चौधरी (राजद) 54628मुद्दासिकरहना नदी के बाढ़ से मुक्तिरघुनाथपुर को प्रखंड और सुगौली को अनुमंडल बनाना

रक्सौल : लड़ाई को रोचक बना रहे दोनों तरफ के बागी

नेपाल के प्रवेश द्वार के रूप में चर्चित रक्सौल विधान सभा का अधिकांश इलाका नेपाल सीमा से जुड़ा है. परिसीमन के दौरान आदापुर प्रखंड रक्सौल में शामिल हुआ जहां जदयू से भाजपा में शामिल प्रमोद सिन्हा और महागठबंधन के कांग्रेस प्रत्याशी रामबाबू यादव मैदान में हैं. भाजपा से पांच बार विधायक रहे डा. अजय सिंह टिकट कटने के कारण बसपा की टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं. राजद के बागी सुरेश यादव ने भी मैदान में उतर कर मुकाबला रोचक बना दिया है. ऐसे में जीत किसकी होगी कहना मुश्किल है. इस रोचक जंग में भारत-नेपाल के रक्सौल स्टेशन पर ओवरब्रिज का निर्माण, शहर को जाम से मुक्ति दिलाने सहित जिला मुख्यालय को जोड़ने वाली एनएच 28 का पूर्णाेद्धार मुख्य मुद्दा बना हुआ है. यहां कुल वोटर 277659 है जिसमें महिला 147218 और पुरुष 130441 है. वर्ष 2015 के चुनाव में भाजपा के अजय कुमार सिंह ने राजद के सुरेश कुमार को 3169 मतों से शिकस्त दी थी.वर्ष 2015अजय कुमर सिंह (भाजपा) - 64731सुरेश कुमार (राजद) - 61562मुद्दाभारत-नेपाल के रक्सौल स्टेशन पर ओवरब्रिजशहर को जाम से निजात

नरकटिया : लोजपा के मैदान में उतरने से रोचक हुआ मुकाबला

सीमावर्ती छौड़ादानो, बनकटवा और बाढ़ प्रभावित बंजरिया प्रखंड को मिलाकर बने नरकटिया विधान सभा में बाढ़ से निजात दिलाना किसी भी प्रत्याशी के लिए चुनौती बना हुआ है. प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी बंजरिया के करीब 13 पंचायत बाढ़ से डूबे थे. यहां राजद से दूसरी बार चुनाव लड़ रहे डा. समीम अहमद के सामने जदयू प्रत्याशी श्यामबिहार प्रसाद है. लोजपा से सोनू मुखिया मुकाबले को त्रिकोणीय बनाने की कोशिश में हैं. यहां का मुख्य मुद्दा बाढ़ से निजात दिलाना ही है. इसके अलावा बंजरिया में जर्जर सड़क व बंजरिया से जटवा होकर बेला नहर सड़क निर्माण आदि मुख्य मुद्दा है. कुल वोटर 287707 है जिसमें पुरूष 135162 है महिला 152545 है. वर्ष 2015 के चुनाव में राजद के शमीम अहमद ने रालोसपा के संत सिंह कुशवाहा को 19982 मतों से हराया था.वर्ष 2015शमीम अहमत (राजद) - 75118संत सिंह कुशवाहा (रालोसपा) - 55136मुद्दाबाढ़ से निजातबंजरिया में जर्जर सड़क को दुरुस्त करना

ढाका : पुराने तीन खिलाड़ियों के बीच आमने-सामने की टक्कर

घोड़ासहन व ढाका प्रखंड को मिलाकर बने ढाका विधान सभा में तीनों प्रमुख खिलाड़ी पुराने हैं. राजद के वर्तमान विधायक फैसल रहमान को महागठबंधन ने फिर प्रत्याशी बनाया है. इनका मुकाबला राजद के पूर्व विधायक सह भाजपा प्रत्याशी पवन जायसवाल से होगा. पिछले चुनाव में निर्दलीय बेहतर वोट हासिल करने वाले रामपुकार सिन्हा जदयू से ढाका से टिकट नहीं मिलने के कारण बागी बन रालोसपा से चुनाव लड़ रहे है. ऐसे में लड़ाई त्रिकोण में फंसे तो आश्चर्य नहीं. यहां मुख्य मुद्दा लालबकेया नदी के फुलवरिया घाट में लंबित पुल का निर्माण, लालबकेया के बाढ़ से ढाका के दर्जनों गांव को बचाना, कुंडवा चैनपुर को प्रखंड बनाने व बेहतर शिक्षा व्यवस्था कायम करना है. कुल वोटर 320842 है जिसमें महिला 168638 व पुरूष 152204 है. वर्ष 2015 में राजद के फैसल रहमान ने भाजपा के पवन कुमार जायसवाल को 19197 मतों से हराया था.वर्ष 2015 मेंफैसल रहमान (राजद) - 87458पवन कुमार जायसवाल (भाजपा) - 68281मुद्दाफुलवरिया घाट पर पुल निर्माणलालबकेया के बाढ़ से मुक्ति

चिरैया : बागियों ने मुकाबले का बनाया रोचक

जिले में सर्वाधिक प्रत्याशी चिरैया विधान सभा में है. यहां से 24 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. बागियों ने मुकाबले को दिलचस्प बना दिया है. भाजपा ने अपने सिटिंग विधायक लालबाबू प्रसद गुप्ता को मैदान में उतारा है. राजद से अच्छेलाल प्रसाद यादव मैदान में हैं. मुकाबले को पूर्व विधायक लक्ष्मीनारायण यादव, पूर्व भाजपा विधायक अवनीश कुमार सिंह, सामाजिक कार्यों से पहचान बनाने वाले संजय सिंह की उपस्थिति के कारण लड़ाई दिलचस्प हो गयी है. रालोसपा के मधुरेंद्र सिंह भी मैदान में हैं. यहां का मुद्दा बूढ़ी गंडक से चिरैया के 17 गांव तथा पताही में बागमती से 12 गांवों का प्रभावित होना है. इसके अलावा पताही के बेलवा घाट में पुल निर्माण व शिकारगंज को प्रखंड बनाना शामिल है. यहां कुल वोटर 294947 है जिसमें महिला 156905, पुरूष 138042 है. वर्ष 2015 के चुनाव में भाजपा के लाल बाबू प्रसाद गुप्ता ने राजद के लक्ष्मी नारायण प्रसाद यादव को 4374 मतों से हराया था.वर्ष 2015 मेंलाल बाबू प्रसाद गुप्ता (भाजपा) - 62831लक्ष्मी नारायण प्रसाद यादव (राजद) - 58457मुद्दाबूढ़ी गंडक और बागमती के बाढ़ से चिरैया व पताही को बचानापताही के बेलवा घाट पर पुल निर्माणशिकारगंज को प्रखंड बनाना

माेतिहारी : भाजपा-राजद के आमने-सामने की टक्कर

तृतीय चरण के चुनाव में जिले की नजर मोतिहारी सीट पर है. यहां से भाजपा ने अपने सिटिंग विधायक सह मंत्री प्रमोद कुमार फिर से उतारा है. उनके सामने राजद के ओमप्रकाश चौधरी है. मोतिहारी में करीब 15 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं. रालोसपा के डा. दीपक कुमार, निर्दलीय रामेश्वर साह, जनता पार्टी के प्रभुनंदन प्रसाद, द प्लुरल्स पार्टी के मुन्ना कुमार सहित कई प्रत्याशी चुनाव जीतने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं. यहां का मुख्य मुद्दा नगर परिषद मोतिहारी को नगर निगम का दर्जा दिलाना, मोतीझील सौंदर्यीकरण, मोतिहारी को प्रमंडल का दर्जा दिलाना है. यहां कुल वोटर 313761 है जिसमें महिला 166373 है पुरूष 147388 है. वर्ष 2015 में भाजपा के प्रमोद कुमार ने राजद के बिनोद कुमार श्रीवास्तव को 18517 मतों से हराया.प्रमोद कुमार (भाजपा) - 79947बिनोद कुमार श्रीवास्तव (राजद) - 61430मुद्दामोतिहारी को नगर निगम व प्रमंडल का दर्जामोतीझील का सौंदर्यीकरण

Posted By: Sumit Kumar Verma

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें