आया था सिगरेट पीने, पुलिस के हत्थे चढ़ा

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

भागलपुर : बरारी थाना क्षेत्र के सीढ़ी घाट के समीप फेरी रोड में बुधवार रात परती जमीन पर बमबाजी करने वाले तीन युवकों में से दूसरा आरोपित राहुल कुमार को पुलिस ने शुक्रवार देर शाम गिरफ्तार कर लिया. शुक्रवार शाम राहुल सुधा डेयरी के गेट के समीप देर शाम सिगरेट पीने के लिए पहुंचा था. वहीं गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया.

हालांकि गिरफ्तार हुए आरोपित राहुल का कोई आपराधिक इतिहास नहीं है. मामले में पुलिस ने गुरुवार सुबह वांटेड सन्नी ठाकुर को गिरफ्तार कर लिया था. बम चलाने वाला आरोपित सानू कुमार अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है. बरारी थानाध्यक्ष रोहित सिंह ने बताया कि जल्द ही सानू को भी गिरफ्तार कर लिया जायेगा. उन्होंने बताया कि बमबाजी करवाने वाले का भी जल्द खुलासा किया जायेगा.
अभय-कारू बरारी से भागे : बरारी स्थित संतनगर कॉलोनी में बमबाजी मामले में पुलिस लगातार अभय यादव और कारू यादव को तलाश रही है. वहीं मिली जानकारी के अनुसार अभय और कारू दोनों ही बरारी छोड़ भाग चुके हैं. थानाध्यक्ष ने बताया कि अभय-कारू की तलाश जारी है. अन्य थानों की पुलिस की भी सहायता ली जा रही है.
भागलपुर : दक्षिणी क्षेत्र में विगत दिनों रहमत कुरैशी उर्फ रहमत मियां के बढ़ते वर्चस्व को देखते हुए फेकू मियां गिरोह और अंसारी गिरोह के एक होने की सूचना मिली है. वहीं दो दिन पूर्व मौलानाचक के समीप रेलवे लाइन किनारे दोनों गुटों के गुर्गों को एक साथ देखा गया है. दूसरी तरफ टिंकू मियां गैंग और फिरोज गैंग के बीच हुई गोलीबारी और बमबाजी के बाद फिरोज गैंग और रहमत गैंग के हाथ मिलाने की भी चर्चा है. मिली जानकारी के अनुसार टिंकू मियां ने अंसारी के साथ मिलकर रहमत से निपटने की तैयारी में है. बीते तीन दशक से दक्षिणी क्षेत्र में कन्नाकेताब पर वर्चस्व और बूचड़खानों से लाखों रुपये की अवैध वसूली से शुरू हुई कहानी आज भी दक्षिणी क्षेत्र में जीवंत है. हालांकि तातारपुर इलाके में अपना लोहा मनवा चुका अंसारी गिरोह फिल्हाल शांत है. वहीं अंसारी गिरोह के कुछ सदस्य नशा के कारोबार में जुटे हुए हैं. वहीं पिछले दिनों रहमत पर कोर्ट हाजत में हुए हमले के बाद से ही अंसारी गिरोह और टिंकू मियां गिरोह (फेकू मियां गिरोह) एकजुट होना शुरू हो गया है. जानकारों का कहना है कि दस साल पूर्व फेकू मियां भी अंसारी और फेकू मियां गिरोह एक हुआ करता था.
जेल में तैयार हुआ कपिल गिरोह: विगत दिनों जेल में दो गुट के बीच पैसों के विवाद को लेकर हुए मारपीट के बाद जेल के भीतर ही पप्पू सोनार के अलावा एक और गिरोह बनकर तैयार हो गया. कुख्यात कपिल यादव द्वारा बनाये गये गिरोह में हीरू मियां को भी शामिल किया गया है. वहीं इसमें सागर, बिल्लू और सावन भी शामिल है. जेल में पप्पू सोनार गुट के रोहित साह, मन्ना यादव और अमित साह भी एकजुट हो गये हैं. हालांकि मारपीट की घटना के सभी कैदियों के वार्ड को बदल दिया गया है. जिसके बाद यह बताया जा रहा है कि घटना के बाद से दोनों गुटों के सदस्यों के बीच तनाव बढ़ गया है. वहीं दोनों गुटों ने जेल से बाहर मौजूद अपने अपने सदस्यों को आगाह कर दिया है. जेल से निकलते ही शहर में बड़े गैंगवार की आशंका जतायी जा रही है.
बाबा गिरोह का बढ़ता कद, फेंकू मियां गिरोह परेशान: दक्षिणी इलाके में हुसैनाबाद से सटे अलीगंज और कटघर इलाके में लगातार बाबा गिरोह का वर्चस्व बढ़ता जा रहा है. मनीष अपहरण के बाद मनीष और कुमार गौरव उर्फ बाबा आमने सामने आ गये थे. करीब 15 दिनों तक दोनों के बीच चली रंजिश और इसमें हुई बमबाजी के बाद अब दोनों मनीष और बाबा के एकजुट होने की भी सूचना है.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें