22.1 C
Ranchi
Sunday, February 25, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Homeबिहारगयाबिहार: भागलपुर में खनन विभाग की टीम पर हमला, गया में पुलिस से भिड़े बालू माफिया, जब्त गाड़ियों को...

बिहार: भागलपुर में खनन विभाग की टीम पर हमला, गया में पुलिस से भिड़े बालू माफिया, जब्त गाड़ियों को लेकर भागे

बिहार के भागलपुर और गया में पुलिस पर हमले की घटना सामने आयी है. भागलपुर के पीरपैंती में खनन विभाग की टीम पर हमला किया गया. जबकि गया में पुलिस से बालू माफिया भिड़ गये. दोनों जगहों पर जब्त की गयी गाड़ी को लेकर वो भाग गए.

बिहार में पुलिस पर हमले की घटना अक्सर सामने आती है. बालू माफिया के पंख भी फड़फड़ाते रहे हैं. पुलिस की कार्रवाई जब तेज होती है तो बेखौफ होकर ये माफिया पुलिस पर ही हमला कर देते हैं. ऐसे दो मामले हाल में सामने आए. भागलपुर में खनन विभाग की टीम पर हमला कर दिया गया और जब्त की गयी गाड़ी को छुड़ाकर आरोपित लोग भाग गए. जबकि गया में अवैध बालू खनन के खिलाफ छापेमारी करने गयी पुलिस की टीम से बालू माफिया भिड़ गए और जब्त गाड़ी को लेकर भाग गए.

भागलपुर में ट्रैक्टरों व ट्रकों को जब्त किया तो हुआ विरोध

शुक्रवार को भागलपुर जिले के पीरपैंती में एनएच-80 पर साधु मठिया के पास खनन विभाग की टीम ने गिट्टी ढुलाई में लगे ओवरलोड आठ ट्रैक्टरों व ट्रकों को जब्त किया. इन वाहनों पर करीब 250 एमटी ओवरलोड ढुलाई का आरोप था. खनन विभाग के अधिकारी केशव कुमार पासवान के नेतृत्व में महेश मणि सिंह, संतोष झा व पुलिस की टीम गाड़ियों की धर-पकड़ के लिए एनएच पर खड़ी थी. इसी बीच कुछ लोगों ने खनन विभाग की टीम के साथ झड़प शुरू कर दी.

पीरपैंती में खनन विभाग की टीम पर हमला

भागलपुर में जब खनन विभाग की टीम से झड़प हुई तो इसी दौरान बीच-बचाव करने में लकड़कोल निवासी अमरजीत यादव घायल हो गये. सूचना मिलते ही एसडीएम अशोक कुमार मंडल व एसडीपीओ शिवानंद सिंह पीरपैंती थाना पहुंचे. जहां खनन पदाधिकारी ने बताया कि छापेमारी अभियान चलाने के दौरान गाड़ी मालिकों के द्वारा हमला कर दिया गया. हमला से बचने के लिए वे टीम के साथ थाना पहुंच गये. उधर, सभी जब्त गाड़ियों को पासिंग गिरोह ने भगा दिया.

Also Read: बिहार: अवैध संबंध बनाते देखा तो मां ने बच्ची की कर दी हत्या, प्रेमी से पति की हत्या करवाने का भी आया मामला
घायल अमरनाथ ने दिया थाना में आवेदन

लकड़कोल निवासी अमरनाथ यादव ने पीरपैंती थाना में आवेदन देकर बताया है कि वह स्कॉर्पियो से महादेवगंज अपनी बेटी की ससुराल जा रहा था. साधु मठिया के पास खनन पदाधिकारी बीच सड़क पर अपनी गाड़ी रोके हुए थे. अधिकारियों ने गाड़ी का फाटक खोल कर मेरे साथ गाली-गलौज कर बेरहमी से मारपीट की. जिसमें वह बुरी तरह घायल हो गये. सूचना पाकर परिजनों ने उसे इलाज के लिए रेफरल अस्पताल पहुंचाया. जहां से उसकी गम्भीर स्थिति को देखते हुए मायागंज रेफर किया गया है.

क्या बोले एसडीएम..

पूरे मामले को लेकर एसडीएम अशोक मंडल ने बताया कि कुछ लोगों के द्वारा खनन पदाधिकारी के साथ बदसलूकी की गयी है. जिसकी जांच की जाएगी. एसडीपीओ शिवानंद सिंह ने कहा कि अधिकारी पर हमला और जब्त ट्रैक्टर को भगाने की जांच की जा रही है. दोषियों पर प्राथमिकी दर्ज कर अग्रतर कार्रवाई की जाएगी.

गया में पुलिस से भिड़े बालू माफिया, छुड़ा ले भागे बालू लदा ट्रैक्टर

गया में फल्गु नदी के पूर्वी तट पर ननौक पंचायत के खेदरपुरा गांव के समीप अवैध बालू खनन के खिलाफ छापेमारी करने गयी पुलिस से बालू खनन करने वाले माफिया उलझ गये और पुलिस के द्वारा जब्त किए गए अवैध बालू लदे ट्रैक्टर को छुड़ाकर ले भागे. हालांकि, इस दौरान पुलिस ने एक युवक को दबोच लिया. मामला शुक्रवार का है और बुनियादगंज थाना क्षेत्र से जुड़ा है.

महिला दारोगा के नेतृत्व में गयी थी टीम

शुक्रवार को छापेमारी दल का नेतृत्व कर रही प्रशिक्षु एसआइ नेहा कुमारी बालू माफियाओं के खिलाफ छापेमारी करने खेदरपुरा पहुंची थीं. पुलिस ने खेदरपुरा के रहनेवाले प्रमोद कुमार नामक एक व्यक्ति को हिरासत में ले लिया है.

गया में बालू का अवैध खनन जारी

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, अवैध बालू खनन के मामले में हिरासत में लिये गये व्यक्ति के खिलाफ प्राथमिक दर्ज करते हुए आगे की कार्रवाई शुरू की गयी है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, फल्गु नदी से बड़े पैमाने पर बालू माफिया अवैध खनन में जुटे हुए हैं. फल्गु नदी के भदेजा, भदेजी, भुसुंडा घाट, मठियापर, शादीपुर एवं कुकियासीन के साथ खेदरपुरा और अलीपुर से बड़े पैमाने पर खनन हो रहा है.

सीमांचल में बालू माफियाओं ने जब पुलिस को पीटा

बता दें कि बालू माफियाओं के बढ़े हुए मनोबल कई बार दिखे हैं. पिछले ही महीने दिसंबर में किशनगंज जिले में बालू माफियाओं का कारनामा सामने आया था. अवैध खनन को लेकर छापेमारी के लिए गयी खनन विभाग की टीम पर हमला कर दिया गया था. देर रात की यह घटना थी. जहां किशनगंज टाउन थाना क्षेत्र के महीनगांव पंचायत स्थित बसंतपुर गांव में अवैध बालू के भंडारण की सूचना पर छापेमारी के लिए गयी खनन विभाग के अधिकारी और पुलिसकर्मियों पर बालू माफ़िया के द्वारा धावा बोलकर बोल दिया गया था. बालू माफियाओं के हमले में दो पुलिस कर्मी व खनन विभाग के चालक घायल हो गए थे. सभी घायलों का किशनगंज सदर अस्पताल में इलाज करवाया गया था.

लाठी-डंडे से पुलिस को किया था जख्मी

मामले में खान निरीक्षक सौरभ गुप्ता के बयान पर सदर थाने में 6 नामजद व 10-12 अज्ञात लोगों के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज की गयी थी. खनन विभाग को महीनगांव में कुछ लोगों के द्वारा अवैध रूप से बालू खनन कर भंडारण किये जाने की सूचना मिली थी. सूचना मिलते ही खान निरीक्षक पुलिस की टीम के साथ उक्त स्थल पर पहुंचे थे. टीम के पहुंचते ही बालू माफिया सतर्क हो गए और टीम के द्वारा अवैध भंडारण में शामिल लोगों को जैसे ही रोका गया. बालू माफिया और उनके गुर्गों ने पुलिस टीम पर लाठी-डंडे से अचानक हमला कर दिया था. हमले के बीच पुलिस व खनन विभाग की टीम किसी तरह से वहां से जान बचाकर भाग निकली.

किशनगंज में बालू माफियाओं का आतंक

किशनगंज में बालू माफियाओं के द्वारा खनन विभाग की टीम पर इससे पहले भी हमले किए गए थे. जिले के पोठिया थाना अंतर्गत चमरानी बालू खदान में खनन विभाग के टीम पर लाठी डंडे से हमला कर कई सुरक्षा कर्मियों को घायल कर दिया गया था.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें