1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. araria
  5. murder in name of narbali pratha in araria bihar crime news skt

दशहरा पर बिहार में नरबलि, तांत्रिक पत्नी के इशारे पर दुर्गा मंदिर में छात्र को काटा, बेटा भी अपराध में शामिल

अररिया में एक छात्र को बलि के नाम पर काट दिया गया. इस वारदात को अंजाम देने वाले आरोपित ने कबूल किया है कि उसने अपने बेटे और पत्नी के साथ मिलकर यह हत्या की है. ग्रामीणों का कहना है कि अपनी तांत्रिक पत्नी के इशारे पर ये हत्या आरोपित ने की.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
अररिया में छात्र को बलि के नाम पर काटकर मारा गया. मृतक के घर में शोक
अररिया में छात्र को बलि के नाम पर काटकर मारा गया. मृतक के घर में शोक
प्रभात खबर

अररिया: कुआड़ी ओपी क्षेत्र की ग्राम पंचायत लैलोखर के मधुबनी वार्ड संख्या 10 स्थित दुर्गा मंदिर परिसर में शुक्रवार की देर रात मंदिर के बरामदे में सोये 25 वर्षीय एमसीए के छात्र की धारदार हथियार से नरबलि दे दी गयी.

मृतक कुर्साकांटा के प्रखंड के पूर्व प्रमुख धनजीत सिंह का 25 वर्षीय भतीजा जितेंद्र कुमार सिंह उर्फ प्रेमचंद पिता भक्ति सिंह बताया जाता है. वह दिल्ली में रहकर एमसीए की पढ़ाई कर रहा था. वह दुर्गापूजा में अपने घर लैलोखर पंचायत के मधुबनी वार्ड संख्या 10 आया था. पूर्व प्रमुख के अपने ही मंदिर में वह दस दिनों तक मां दुर्गा की प्रतिमा की पूजा-पाठ में रुचि रखता था.

ग्रामीणों की मानें तो विजयदशमी के दिन मूर्ति विसर्जन के बाद जितेंद्र को उसके गांव के ही जगदीश सिंह के पुत्र रामएकबाल अपने साथ आइपीएल का फाइनल मैच देखने के बहाने मंदिर पर ले गया था. जहां देर रात जितेंद्र की बलि रामएकबाल (20) के ही पिता जगदीश सिंह (57) के द्वारा दे दी गयी. घटना को अंजाम दे आरोपित हत्या में प्रयुक्त दबिया अपने पुत्र रामएकबाल को सुपुर्द कर वहां से फरार हो गया. रामएकबाल ने ही प्रमुख के घर पर जाकर जितेंद्र की हत्या होने की बात बतायी.

जब ग्रामीण जुटे तो उसके जितेंद्र की हत्या किसी के द्वारा किये जाने की बात कह पिता को बचाने का हर संभव प्रयास किया, लेकिन सूचना पाते ही पहुंचे कुआड़ी ओपी अध्यक्ष अवधेश कुमार ने रामएकबाल को हिरासत में ले लिया. वहीं ग्रामीणों के सहयोग से हत्यारे को भी नेपाल सीमा के समीप गिरफ्तार कर लिया. वहीं कथित तांत्रिक महिला रूपा देवी (45) को भी हिरासत में ले लिया. इधर घटना के बाद परिजन जितेंद्र को लेकर पीएचसी कुर्साकांटा गये, वहां से रेफर किये जाने के बाद सदर अस्पताल में जितेंद्र ने अंतिम सांस ली.

घटना में हत्यारे जगदीश सिंह ने हत्या की बात स्वीकार कर ली है. उसने हत्या के पीछे भू-विवाद को कारण बताया है. वहीं ग्रामीणों के द्वारा नरबलि देने की बात कही जा रही है. हत्यारा साइको किलर लग रहा है. हत्यारे की पत्नी व पुत्र को भी हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है. हत्या के कारणों का खुलासा भी जल्द ही कर लिया जायेगा.

-पुष्कर कुमार, एसडीपीओ अररिया

Published By: Thakur Shaktilochan

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें