Advertisement

siliguri

  • Feb 12 2019 5:13AM

सिलीगुड़ी : शहीद मेजर को दी गयी अंतिम सलामी

 सिलीगुड़ी :  पड़ोसी राज्य सिक्किम के उत्तर सिक्किम जिले में शहीद सेना के मेजर निशीथ डोगरा को सोमवार को अंतिम सलामी दी गई. मेजर निशीथ डोगरा शनिवार को अपनी ड्यूटी के दौरान शहीद हो गए थे. आज शहीद के शव को हेलीकॉप्टर से बैंकडूबी सेना छावनी लाया गया. जहां त्रिशक्ति कोर के जनरल ऑफिसर कमांडिंग सीपी मोहंती तथा सेना के अन्य अधिकारियों ने उन्हें श्रद्धांजलि दी.

सेना सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार 28 वर्षीय शहीद निशीथ डोगरा शनिवार को उत्तर सिक्किम में 6 फीट बर्फ के नीचे दब गए थे. बाद में उन्हें बरामद कर उनकी चिकित्सा की गई. लेकिन वह जिंदगी की जंग हार गए. आज उनका सब बेंगडूबी पहुंचते ही सेना छावनी में मातम पसर गया. सभी ने नम आंखों से उन्हें अंतिम विदाई दी. बाद में उनके शव को विमान से नई दिल्ली रवाना कर दिया गया. सेना सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शनिवार को सिक्किम के कई इलाकों में भारी बर्फबारी हो रही थी.

अपनी टुकड़ी के साथ निशीथ डोगरा उत्तर सिक्किम में तैनात थे. वह अपने जवानों को लेकर गस्ती पर निकले थे. इसी दौरान तेज बर्फबारी शुरू हो गई. ऐसे भी उत्तर सिक्किम में पिछले 2 दिनों से बर्फबारी हो रही थी. निशीथ डोगरा कब बर्फ के नीचे दब गए ,इसका पता किसी को नहीं चला. इस बात का खुलासा तब हुआ जब शाम को सभी सैनिकों को गिनती हो रही थी. गिनती के दौरान निश्चित डोगरा गायब पाए गए. उसके बाद सेना टुकड़ी में खलबली मच गई.

उनकी तलाश के लिए एक विशेष सर्च टीम का गठन किया गया. उसी दिन रात 10 बजे के आसपास उन्हें 6 फीट बर्फ के नीचे दबे पाया गया. उन्हें बरामद कर तत्काल उनकी चिकित्सा शुरू की गई. लेकिन उन्हें बचा पाना संभव नहीं हो सका. सेना सूत्रों ने बताया है कि निशीथ डोगरा मूल रूप से उत्तर प्रदेश के नोएडा के रहने वाले थे.

उनके परिवार में माता-पिता तथा पत्नी हैं. परिवार वालों को इसकी सूचना दे दी गई है. शव को आज ही उनके पैतृक आवास पहुंचाया जाएगा. बागडोगरा से सेवा विमान से शहीद के शव को नई दिल्ली रवाना कर दिया गया है. नई दिल्ली से सेना के लोग उनके शव को लेकर नोएडा स्थित पैतृक आवास जायेंगे. परिवार वालों से बातचीत कर शव का अंतिम संस्कार किया जायेगा.

 

Advertisement

Comments

Advertisement