Advertisement

saraikela kharsawan

  • Jun 15 2019 6:14PM
Advertisement

सरायकेला में डीजीपी ने की उच्चस्तरीय बैठक, नक्सलियों के खात्मे की रणनीति बनायी

सरायकेला में डीजीपी ने की उच्चस्तरीय बैठक, नक्सलियों के खात्मे की रणनीति बनायी

प्रताप कुमार मिश्र

सरायकेला : झारखंड के पुलिस महानिदेशक कमल नयन चौबे ने शनिवार को सरायकेला में पुलिस पदाधिकारियों की उच्चस्तरीय बैठक की. इसमें नक्सलियों के खात्मे की रणनीति बनायी गयी. श्री चौबे ने बैठक से पहले नक्सलियों द्वारा मारे गये पांच जवानों को श्रद्धांजलि दी. कहा कि नक्सलियों की शहादत बेकार नहीं जायेगी. एक विशेष रणनीति बनाकर नक्सलियों का खात्मा किया जायेगा.

डीजीपी ने कहा कि क्षेत्र में विगत कुछ दिनों से नक्सली घटनाएं बढ़ी हैं. पुलिस मुख्यालय के सभी पुलिस पदाधिकारी यहां मौजूद हैं. सब मिलकर क्षेत्र में नक्सली गतिविधियों की समीक्षा करेंगे. डीजीपी ने कहा कि संविधान विरोधी काम करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी. इसके लिए जितने पुलिस बल की जरूरत होगी, यहां तैनात किये जायेंगे.

डीजीपी ने कहा कि झारखंड राज्य पिछले कुछ वर्षों से नक्सलवाद से बेहतर तरीके से निबट रहा है. नक्सलियों के खिलाफ लड़ाई अंतिम चरण में है. फलस्वरूप वे बौखला गये हैं. इसलिए ऐसी घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं. हालिया नक्सली हमले को बेहद दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए श्री चौबे ने कहा कि पुलिस शहादत को नहीं भूलती.कहा किजवानों की शहादत को कभी जाया नहीं होने देंगे. जल्द ही नक्सलियों को जवाब दिया जायेगा.

डीजीपी ने कहा कि जो भी व्यक्ति कानून और संविधान के खिलाफ काम करेगा, उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जायेगी. डीजीपी ने कहा खुफिया तंत्र कमजोर नहीं है. लोग अच्छा काम कर रहे हैं. लोगों में धैर्य होना चाहिए. संविधान विरोधी चरमपंथियों पर रोक लगाने के लिए राज्य सरकार ने संकल्प ले लिया है.

श्री चौबे ने कहा कि राज्य में आंतिम सांसें गिन रहा नक्सल अभियान अपनी उपस्थिति दर्ज कराने की कोशिश कर रहा है. उसे इसका पुरजोर जवाब दिया जायेगा. पुलिस नक्सलवाद का सफाया जरूर करेगी. डीजीपी ने शहीद जवानों के परिजनों को ढाढ़स बंधाते हुए कहा, ‘हम सब आपके परिवार के साथ हैं. नक्सली हमला में शहीद जवानों को सरकार की ओर से मिलने वाला लाभ जल्द ही मिल जायेगा. जिला के एसपी जवानों के परिवार के साथ संपर्क में रहेंगे, ताकि उन्हें किसी प्रकार की परेशानी न हो.’

समाहरणालय में आयोजित बैठक में पुलिस महानिदेशक के अलावा वरिष्ठ पुलिस अधिकारी आशीष कुमार बत्रा, एमएल मीणा, अजय कुमार सिंह, कुलदीप द्विवेदी, साकेत कुमार सिंह और सरायकेला के एसपी शामिल हुए.

ज्ञात हो कि शुक्रवार को सरायकेला-खरसावां जिला के तिरुलडीह में नक्सलियों ने गश्ती पर निकले पुलिस के पांच जवानों को कुकड़ू हाट बाजार में घेरकर मौत के घाट उतार दिया था. इनमें एक बिहार के भोजपुर के रहने वाले थे. बाकी चार में एक देवघर जिला के, एक रांची के और दो पश्चिमी सिंहभूम के रहने वाले थे.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement