Advertisement

patna

  • Jun 20 2019 6:44AM
Advertisement

नीतीश ने एक देश, एक चुनाव का किया समर्थन

नीतीश ने एक देश, एक चुनाव का किया समर्थन
पीएम की अध्यक्षता में हुई बैठक में रखा जदयू का पक्ष
 
नयी दिल्ली : एक देश, एक चुनाव सहित अन्य मुद्दों को लेकर बुधवार को प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में सर्वदलीय बैठक हुई. इसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, ओड़िशा के सीएम नवीन पटनायक और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री ने लोकसभा चुनाव के साथ विधानसभा चुनाव कराये जाने का समर्थन किया. 
 
बैठक में हुई चर्चा को लेकर जदयू के महासचिव सह राष्ट्रीय प्रवक्ता केसी त्यागी ने कहा कि जदयू का स्पष्ट मानना है कि एक देश, एक चुनाव फिजूलखर्ची रोकने में कामयाब होगा. जदयू जैसी पार्टी, जिसके पास सीमित संसाधन है, वह इसके पक्ष में है, क्योंकि  इससे खर्च बचेगा. यह कहना कि इससे क्षेत्रीय दलों का वर्चस्व समाप्त हो जायेगा, गलत है. 
 
जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने पहले भी चुनाव सुधारों का समर्थन किया है. श्री कुमार गुरुवार की दोपहर पटना लौटेंगे. बैठक के बाद त्यागी ने कहा कि 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा को स्पष्ट बहुमत मिला, लेकिन कुछ महीने बाद दिल्ली और बिहार में हुए विधानसभा चुनावों में क्षेत्रीय दलों को कामयाबी मिली. 
 
मौजूदा समय में पूरे पांच साल कहीं-न-कहीं चुनाव होते रहते हैं, जिससे नीतियों को क्रियान्वित करने में दिक्कत होती है. यह संविधान संशोधन का विषय है, ऐसे में सभी दलों की सहमति  भी जरूरी है. त्यागी ने कहा कि बैठक में गांधी जी की 150वीं जयंती पर होने वाले कार्यक्रम के आयोजन को लेकर भी चर्चा हुई. बिहार गांधी जी की कर्मभूमि रही है और ऐसे में वहां पहले से कार्यक्रम चल रहे हैं और आगे भी चलेंगे.
 
150वीं जयंती पर राज्य में व्यापक पैमाने पर कार्यक्रम किये जायेंगे. गांधी जी के सिद्धांतों पर अमल करते हुए बिहार ने राज्य में पूर्ण शराबबंदी, निर्बल वर्ग के सशक्तीकरण से लेकर महिलाओं के अधिकारों के लिए काम किया है. बिहार ऐसा पहला राज्य हैं, जहां प्राथमिक स्कूलों में गांधी की जीवनी को शामिल किया गया है. सही अर्थों में गांधी के बताये रास्ते पर आज बिहार आगे बढ़ रहा है और उनके विचार को अमल में ला रहा है.
 

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement