Advertisement

patna

  • Apr 21 2017 6:33AM

प्राथमिकी दर्ज कर सरकार करे कार्रवाई, हों बरखास्त

प्राथमिकी दर्ज कर सरकार करे कार्रवाई, हों बरखास्त
पटना : पूर्व उपमुख्यमंत्री व भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पत्र लिख कर स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव पर धोखाधड़ी के मामले में बरखास्तगी और उन पर प्राथमिकी दर्ज कर कानूनी कार्रवाई करने की मांग की है. सुशील मोदी ने कहा है कि तेज प्रताप यादव ने औरंगाबाद में अपने नाम से 53 लाख रुपये की 45 डिसमिल जमीन रजिस्ट्री करायी है. इसकी जानकारी उन्होंने चुनाव आयोग व बिहार सरकार से छुपायी है. 
 
उन्होंने जानबूझ कर और धोखाधड़ी से संपत्ति की जानकारी छुपायी है. इसलिए राज्य सरकार उन पर आवश्यक कार्रवाई करे. मोदी ने कहा कि तेज प्रताप यादव ने औरंगाबाद में 16 जनवरी, 2010 में सात लोगों से 53,34,000 रुपये में 45.24 डिसमिल जमीन की रजिस्ट्री अपने नाम से करायी. फिर दो फरवरी, 2012 को इस जमीन को गिरवी रखकर मध्य बिहार ग्रामीण बैंक, औरंगाबाद से 2,29,60,000 रुपये का ऋण लिया गया.
 
वर्तमान में इस जमीन पर लारा डिस्ट्रीब्यूटर्स प्राइवेट लिमिटेड का भवन बना हुआ है और इसमें हीरो होंडा मोटरसाइकिल का शो रूम है. सुशील मोदी ने कहा कि तेज प्रताप यादव ने 2015 के विधानसभा चुनाव के दौरान दिये गये अपनी संपत्ति के ब्योरे में औरंगाबाद हाइवे पर अवस्थित इतनी महत्वपूर्ण जमीन और इसपर मिलने वाले ऋण के तथ्यों को  छुपा लिया. साथ ही, 2016 में बिहार सरकार को अपनी संपत्ति के संबंध में दिये गये ब्योरे में भी उन्होंने इसका उल्लेख नहीं किया. 
 
यह धोखाधड़ी और जानबूझकर बेनामी संपत्ति को छुपाने का कुत्सित प्रयास है. इसलिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तेज प्रताप यादव को मंत्री पद से तत्काल बरखास्त करते हुए उनके विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज आवश्यक कानूनी कार्रवाई करें और अपनी न्यायप्रियता का परिचय दें.
 

Advertisement
पोल
इस बार गुजरात में किसकी बनेगी सरकार? क्या है आपकी राय बतायें?


View Result
Advertisement

Comments