Advertisement

katihar

  • Oct 23 2019 9:02AM
Advertisement

सिमुलतला पंडाल में दिखेगी इस्कॉन मंदिर की झलक

 कटिहार  : शहर के ओटी पाड़ा में आइएनवाइए सिमुलतला काली पूजा एंड चैती दुर्गापूजा कमेटी की ओर से इस वर्ष भी काली पूजा को लेकर भव्य पंडाल का निर्माण कराया जा रहा है. इस वर्ष कमेटी अपने स्थापना का 50 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष में गोल्डन जुबली मना रही है. इस वर्ष यहां कोलकाता मायापुर का इस्कॉन मंदिर का प्रतिरूप बनाया जा रहा है. जिसकी लागत 22 लाख रुपये तक आयेगी. इसके अलावा लाइटिंग पर तीन लाख रुपया अलग से खर्च किये जा रहे हैं. 

 
कुल मिलाकर कमेटी की ओर से इस वर्ष पूजा को लेकर 25 लाख रुपये का बजट रखा गया है. पंडाल निर्माण को लेकर बालू घाट पश्चिम बंगाल से आये 40 कारीगर दिन रात पंडाल निर्माण कार्य में लगे हुए हैं. पंडाल निर्माण में बांस, लकड़ी के बीट, थरमोकोल, कपड़ा का उपयोग किया जायेगा.  कमेटी के अध्यक्ष सागर कुमार पासवान ने बताया कि क्लब का 50 वर्ष पूरा होने के उपलक्ष में भव्य रुप से पूजा अर्चना की जायेगी. 
 
पंडाल 50 फीट ऊंचा और 110 फीट चौड़ा बनाया जा रहा है. जो श्रद्धालुओं को काफी पसंद आने वाला है. अध्यक्ष ने बताया कि क्लब सदस्यों द्वारा गोल्डन जुबली मनाते हुए मां काली प्रतिमा को हीरे के नथ से सिंगार किया जायेगा. लाइटिंग पर भी विशेष तैयारी की गयी है. चंदन नगर से बेहतर लाइटिंग का सेटअप मंगाया गया है. पंडाल के दोनों गेट पर 75 फीट ऊंचा लाइट गेट लगाया जायेगा. 
 
जो काफी आकर्षण का केंद्र रहेगा. अध्यक्ष ने बताया कि पूजा पंडाल का निर्माण दीपावली से पहले कर लिया जायेगा और दीपावली के दिन से ही पंडाल का द्वार श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया जायेगा. इस वर्ष श्रद्धालु कोलकाता के मायापुर का इस्कॉन मंदिर अपने शहर में देख पायेंगे. जो श्रद्धालुओं को काफी पसंद आने वाला है.
 
1969 में क्लब की हुई स्थापना : आइएनवाइए सिमुलतला काली पूजा कमेटी की स्थापना 1969 से की गयी है. तभी से यहां पर मां काली की विशेष पूजा अर्चना की जाती है. हर वर्ष यहां पर भव्य पंडाल का निर्माण कराया जाता है. जैसे-जैसे क्लब की आयु बढ़ती गयी. वैसे-वैसे क्लब में भव्य पंडाल का निर्माण होते जा रहा है. आज 25 लाख रुपये की लागत से पंडाल निर्माण का कार्य हो रहा है. बीते वर्षों में कमेटी की ओर से एक से बढ़कर एक पंडाल निर्माण कराये गये हैं. 
 
एक वर्ष यहां पर संठी का पंडाल का निर्माण कराया गया था. जो 70 फीट ऊंचा 110 फीट चौड़ा था. जो काफी आकर्षण का केंद्र बना हुआ था. जबकि एक वर्ष बालू के पंडाल का भी निर्माण हो चुका है. थरमोकोल पंडाल के अलावा एक वर्ष यहां बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के थीम पर पंडाल निर्माण कराया गया था. जो श्रद्धालुओं ने काफी पसंद किया था और पूरे शहर में चर्चा का विषय बना रहा था. इस वर्ष भी कमेटी की ओर से कोलकाता मायापुर का इस्कॉन टेंपल का प्रतिरूप बनाया जा रहा है. जो श्रद्धालुओं को काफी पसंद आने वाला है.
 
इनकी है सक्रिय भूमिका : पूजा को सफल बनाने में अध्यक्ष सागर कुमार पासवान, उपाध्यक्ष मनोज सिंह, मुन्ना सिंह, ज्योति शाह, राजेश दास, देव राज गोस्वामी, मिंटू पासवान,  कोषाध्यक्ष चंदन पासवान, नरेंद्र पासवान, पितांबर सिन्हा, प्रकाश पासवान, विक्टर झा, संजय यादव, राजू पासवान, श्याम किशोर सिन्हा, बाबू छतरी, रिंकू खान, लखन साह, लक्ष्मण राय, राजेंद्र राय, सुनील ठाकुर, पप्पू विश्वकर्मा, शंभू सरदार, प्रभु शर्मा, बिट्टू खान, कुंदन पासवान आदि भूमिका निभा रहे हैं.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement