Advertisement

jamshedpur

  • Aug 23 2019 7:48AM
Advertisement

दो घंटे बाद आये डॉक्टर तब तक मरीज की मौत

 जमशेदपुर : एमजीएम अस्पताल के इमरजेंसी में इलाज कराने पहुंचे बागुनहातु के उमेश महतो की गुरुवार की सुबह मौत हो गयी. मौत की खबर सुनते ही परिजनों ने डॉक्टरों पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा किया. हंगामा को अस्पताल की सुरक्षा में लगे होमगार्ड के जवानों ने शांत कराया.

 
 इसके बाद परिजन शव लेकर घर चले गये. इस संबंध में मृतक के भाई बच्चू कुमार ने बताया कि गुरुवार की सुबह उमेश ने बताया कि सिर दर्द हो रहा है, जिसके बाद इलाज के लिए उसे एमजीएम अस्पताल लेकर आये. यहां लगभग दो घंटे तक किसी डॉक्टर ने नहीं देखा. कर्मचारियों को बेड देने के लिए कहा गया, तो उन लोगों ने कहा कि बेड नहीं है और कुर्सी पर बैठा दिया. कई बार बोलने पर भी डॉक्टर देखने नहीं आये. 
 
कुर्सी पर बैठे-बैठे हिचकी आयी, लेकिन डॉक्टर नहीं आये. इसी दाैरान उमेश की मौत हो गयी. इसके बाद पहुंचे डॉक्टरों ने जांच करने के बाद कहा कि मरीज की मौत हो गयी. बच्चू ने बताया कि मृतक टेंपो चलाकर अपना परिवार चलाता था. अगर डॉक्टर द्वारा जांच कर दवा दी जाती, तो उसकी मौत नहीं होती.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement