Advertisement

jamshedpur

  • Jan 12 2019 8:09AM
Advertisement

जमशेदपुर : आठ करोड़ से बनेगा बीएससी नर्सिंग स्कूल

जमशेदपुर :  आठ करोड़ से बनेगा बीएससी नर्सिंग स्कूल
जमशेदपुर : एमजीएम अस्पताल में लगभग पांच साल से अधूरे पड़े बीएससी नर्सिंग स्कूल भवन के लिए केंद्र सरकार ने चार करोड़ का आवंटन दिया है. केंद्र से एमजीएम अस्पताल में बीएससी नर्सिंग स्कूल के लिए अब तक दो किस्त में एक करोड़ दो लाख रुपये मिल चुके हैं. उस फंड से बिल्डिंग तैयार की गयी थी. बीच में आवंटन रुक जाने के कारण भवन निर्माण का काम अधूरा रह गया था. 
 
अस्पताल में संचालित जीएनएम स्कूल भवन के जर्जर होने के कारण यहां पढ़ रही छात्राओं को परेशानी हो रही है. उन्हें नयी बिल्डिंग में शिफ्ट करने और भवन का निर्माण पूर्ण करने हेतु अस्पताल प्रबंधन ने केंद्र सरकार से फंड मांगा था.
 
 नये भवन में बीएससी नर्सिंग की पढ़ाई होगी. अस्पताल अधीक्षक डॉ एसएन झा ने स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव डॉ नितिन मदन कुलकर्णी को पत्र लिखकर बीएससी नर्सिंग स्कूल भवन के लिए केंद्र से चार करोड़ मिलने की जानकारी दी है. बताया है कि भवन का निर्माण करा रहे पूर्व ठेकेदार ने पैसा नहीं मिलने के कारण काम बंद कर दिया है. मंतव्य मांगा है कि अब काम किस तरह शुरू कराया जाये. 
 
सीसीटीवी से होगी अस्पताल की निगरानी
एमजीएम में लगातार होने वाले हंगामे ओर कर्मचारियों की हर हरकत पर अब सीसीटीवी से निगरानी रखी जायेगी. पूरे परिसर में लगभग 126 सीसीटीवी कैमरे लगाने का काम शुरू हो गया है. अधीक्षक चैंबर के बगल में इसका कंट्रोल रूम बनाया जा रहा है. यह कक्ष में सीसीटीवी और टेलीफोन दोनों का कंट्रोल रूम रहेगा. 
 
शुक्रवार से कंट्रोल रूम में काम शुरू हो गया. इसके बाद अस्पताल के हर वार्ड के पास, बरामदे, इमरजेंसी के भीतर व बाहर, प्रशासनिक भवन, अस्पताल की नयी बिल्डिंग, ब्लड बैंक, सभी वार्ड व ओपीडी के सामने कैमरे लगाये जायेंगे. 
 
माना जा रहा है कि कैमरे लग जाने से अस्पताल में लगातार हो रही चोरी, छिनतई, मारपीट, छेड़खानी की घटनाओं पर रोक लग सकेगी. इससे यह भी पता चल सकेगा कि कर्मचारी अपने ड्यूटी स्थल पर हैं की नहीं. इसके साथ ही सभी वार्ड, इमरजेंसी, ओपीडी, प्रशासनिक भवन, ब्लड बैंक, बर्न यूनिट आदि को टेलीफोन कनेक्शन से जोड़ा जा रहा है. 
 
अस्पताल में उपलब्ध दवा ही लिखने का दिया आदेश 
एमजीएम में रांची स्थित केंद्रीय दवा भंडार से काफी मात्रा में दवा भेजी गयी है. इसमें कई दवाएं है, जिनकी एक्सपायर डेट काफी कम है. इसको देखते हुए अधीक्षक डॉ एसएन झा ने अस्पताल के सभी विभागाध्यक्षों को पत्र लिखकर उपलब्ध दवाओं को ही लिखने का निर्देश दिया है. साथ ही पत्र में यह भी कहा गया कि अगर बहुत जरूरत हो, तो तभी बाहर की दवा लिखें. उन्होंने सभी विभागाध्यक्षों को पत्र के साथ दवा की लिस्ट भी उपलब्ध करायी है, जिसमें 104 प्रकार की दवा है. 
 
निजी सुरक्षाकर्मियों को नहीं मिला पीएफ व इएसआइ
एमजीएम के निजी सुरक्षाकर्मियों ने एजेंसी जी एलर्ट पर पीएफ व छुट्टी का पैसा नहीं देने का आरोप लगाते हुए शिकायत उप श्रमायुक्त से की है. पत्र में बताया गया है कि एजेंसी का टेंडर खत्म होने के बाद उन्हें काम से हटा दिया गया है. एजेंसी ने आज तक किसी भी कर्मी को पीएफ, इएसआइ, साप्ताहिक व राष्ट्रीय अवकाश का लाभ तक नहीं दिया है. उन्हें सही मासिक वेतन और न्यूनतम मजदूरी तक नहीं दी गयी. काम से हटाने के बाद उन्हें लंबित पैसा नहीं दिया जा रहा है.  
 
एमजीएम से हटाये गये छह सीनियर रेजीडेंट
एमजीएम में कार्यरत छह सीनियर रेजीडेंट का कार्यकाल पूरा होने के बाद उन लोगों को हटा दिया गया. कुछ दस सीनियर रेजीडेंट डॉक्टरों का कार्यकाल पूरा हुआ है, चार सीनियर रेजीडेंट द्वारा इसको लेकर कोर्ट में केस किया गया है. जिससे उन लोगों को छोड़ दिया. बाकी छह को हटा दिया गया. 
 
इस संबंध में अस्पताल के अधीक्षक डॉ एसएन झा ने बताया कि विभाग द्वारा आदेश दिये जाने के बाद जिन लोगों द्वारा कोर्ट में केस नहीं किया गया है, उन सभी को हटा दिया गया. बाकि केस चलने तक उसी तरह काम करेंगे.
 
 उन्होंने कहा कि इन लोगों के हटने के बाद अस्पताल में जो समस्या होगी, उसको देखते हुए शुक्रवार को अस्पताल के सभी विभागाध्यक्षों के साथ बैठक की गयी. जिसमें समस्या का समाधान कैसे होगा, इस पर चर्चा किया गया. अधीक्षक ने कहा कि मेडिसिन, गायनिक, रेडियोलॉजी व सर्जरी से सीनियर रेजीडेंट को हटाया गया है. इन लोगों को सरकार ने तीन साल के लिए अनुबंध पर बहाल किया था.
 
बिरसानगर गुरुद्वारा के नवनिर्मित बिल्डिंग के दूसरा तल्ला फूलों से सजा
जमशेदपुर. सिखों के दसवें गुरु श्री गुरु गोविंद सिंह के प्रकाशोत्सव के मद्देनजर बिरसानगर गुरुद्वारा के नवनिर्मित बिल्डिंग के दूसरे तल्ला को फूलों से सजाया गया. इस मौके पर सीजीपीसी के प्रधान गुरमुख सिंह मुखे ने पहुंचकर माथा टेका. सीजीपीसी के प्रधान को  बिरसानगर के प्रधान गुलशन सिंह फौजी द्वारा शॉल भेंट कर सम्मानित किया गया. मुखे ने अपने संबोधन में श्री गुरु गोविंद सिंह जी प्रकाशोत्सव के लिए संगत को बधाई दी. 
 
इसके अलावा गुरुद्वारा के कई निर्माण कार्य करवाने के लिए संतोष सिंह को विशेष सम्मान चेयरमैन  बूटा सिंह  द्वारा दिया गया. कार्यक्रम का संचालन कमेटी के मीत प्रधान रंजीत सिंह ने किया. इस मौके पर धर्म प्रचार कमेटी के पदाधिकारी, सिख यूथ बिग्रेड के समेत कई लोग मौजूद थे.
 

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement