Advertisement

darbhanga

  • May 18 2017 5:58AM

रेलवे की लापरवाही से दरभंगा शर्मसार

 ए-वन दर्जा प्राप्त स्टेशन गंदगी के मामले में टॉप पर

दरभंगा   : रेलवे का खजाना भरकर ए-वन दर्जा हासिल करने वाले दरभंगा जंकशन पर विभाग ने दर्जे के अनुरूप सुविधा तो नहीं दी, लेकिन गंदे स्टेशनों की सूची में इसे सिरमौर बना दिया. बुधवार को राष्ट्रीय स्तर के सर्वेक्षण में सबसे गंदे स्टेशनों में दरभंगा का नाम अव्वल आते ही जिलावासियों का सिर शर्म से झुक गया. विभागीय लापरवाही तथा आम यात्री की स्वच्छता के प्रति गैर संजीदगी ने इस स्थिति में पूरे जिला के रेल यात्रियों को ला खड़ा किया है.
 
रेलवे ने यहां की कमाई को देखते हुए विभाग का सबसे बड़ा दर्जा दरभंगा जंकशन को प्रदान कर रखा है. ग्रेड के अनुरूप सुविधा की अभी तक व्यवस्था नहीं हो सकी है. इसके प्रति अधिकारियों से लेकर मंडल तथा मुख्यालय स्तर तक के पदाधिकारी सीधे तौर पर जवाबदेह हैं. यहां की साफ-सफाई इतनी घटिया रहती है कि जगह-जगह गंदगी का अंबार लोगों को परेशान करती रहती है. 
 
गंदगी में सबसे भद्दा ग्रेड मिलने से निराश यात्रियों ने इसके लिए विभाग के साथ आम यात्रियों को भी दोषी माना है. बुधवार की शाम इस मुद्दे पर जब आम यात्री से बात की गयी तो सभी ने एक स्वर में कमोबेश यही बात कही. यात्रियों का कहना था कि स्वच्छता के प्रति विभाग को तत्पर होना होगा. साथ ही आम यात्रियों को भी जागरूक बनना पड़ेगा. दोनों के सहयोग से ही अपना जंकशन चकाचक हो सकेगा. 
सुरेश कुमार गुप्ता, मशरफ बाजार, दरभंगा. विभाग स्टेशन की साफ-सफाई के प्रति गंभीर नहीं है. यहां भीड़ अधिक होती है, लिहाजा गंदगी भी अधिक फैलती है. इसलिए चाहिए कि नियमित रूप से साफ-सफाई की जाय. 
मो. इसलाम, महपतिया, मधेपुर : जिस तरह हमलोग अपने घर को साफ रखते हैं, उसी तरह अपने जंकशन को भी साफ रखने में मदद करनी चाहिए. कचरा या पॉलीथीन कचरा बॉक्स में ही डालेंगे तो गंदगी नहीं फैलेगी. लेकिन यहां तो लोग जहां बैठते हैं वहीं कचरे की ढेर लगा देते हैं. 
मनीष कुमार, भगवानदास मोहल्ला: देशभर में दरभंगा का नाम बदनाम हुआ है. इसमें सिर्फ रेलवे का ही दोष नहीं है, आम यात्री भी जहां-तहां कचरा फैलाते रहते हैं. उन्हें भी स्टेशन को अपना घर मानकर साफ रखने में मदद करनी चाहिए. 
रामबाबू, आनंदपुर, हायाघाट: जंकशन की बेहतर साफ-सफाई के लिए पदाधिकारियों को सख्ती दिखानी चाहिए. इस परिसर में अगर कोई गंदगी फैलाता हुआ मिले तो उसे कड़ी सजा देनी चाहिए. इसके बाद ही इसपर रोक लग सकेगा. 
दिवाकर कुमार झा, हायाघाट: दरभंगा जंकशन पर अन्य स्टेशनों की तुलना में अधिक भीड़ जुटती है. इसको ध्यान में रखते हुए रेलवे को साफ-सफाई के लिए यहां विशेष व्यवस्था करनी चाहिए. लेकिन यहां तो सामान्य सफाई भी नहीं होती. 
शैलेश कुमार, लहेरियासराय: दरभंगा जंकशन की सफाई की खानापूरी होती है. झाड़ू चलाकर पोंछा मारा जाता है, जबकि इसकी धुलाई होनी चाहिए. अपना स्टेशन स्वच्छ रहे, इसमें रेलवे के साथ हम आम यात्रियों को भी साकांक्ष रहना होगा.
 
Advertisement

Comments