Advertisement

calcutta

  • Nov 17 2019 1:40AM
Advertisement

बुलबुल से पीड़ित किसानों के लिए सरकार उठा रही कदम

 कृषि विभाग की रिपोर्ट के आधार पर इसे अमलीजामा पहनाया जायेगा

 
कोलकाता : चक्रवात बुलबुल से प्रभावित किसानों के लिए राज्य सरकार की ओर से वैकल्पिक खेती की योजना बनायी जा रही है. कृषि विभाग की रिपोर्ट के आधार पर इसे अमलीजामा पहनाया जायेगा. अधिकारियों ने जमीनी स्तर पर नुकसान का परिमाण देखकर रिपोर्ट को तैयार किया है. गत 11 व 13 नवंबर को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने खुद भी प्रभावित इलाकों का दौरा किया था.
 
इसके बाद राज्य सचिवालय नवान्न में आयोजित समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार वैकल्पिक खेती और कृषकों को मुआवजे की योजना तैयार की गयी है. जानकारी के मुताबिक दक्षिण 24 परगना, उत्तर 24 परगना, हावड़ा, हुगली, पूर्व व पश्चिम मेदिनीपुर में कुल करीब 9.15 लाख एकड़ कृषि भूमि को बुलबुल की वजह से नुकसान पहुंचा है. लगातार दो दिनों की बारिश ने और भी नुकसान पहुंचाया है.
 
लगभग 8.35 लाख हेक्टेयर धान की खेती को नुकसान पहुंचा है. फूल व पान की खेती को भी नुकसान पहुंचा है. फूल की 1900 एकड़ में फैली खेती और पान की साढ़े पांच हजार हेक्टेयर में फैली कृषि भूमि को नुकसान पहुंचा है. गौरतलब है कि देश में सर्वाधिक धान की पैदावार बंगाल में होती है, जबकि आलू की खेती के लिहाज से भी राज्य दूसरे नंबर पर है.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement