Advertisement

calcutta

  • Sep 12 2019 2:09AM
Advertisement

बिजली शुल्क को लेकर बढ़ी भाजपा-तृणमूल में तल्खी

 राज्य में लोकतांत्रिक अधिकारों का हो रहा है हनन : दिलीप

राज्य में अशांति पैदा करना चाहती है भारतीय जनता पार्टी : पार्थ
 
कोलकाता : बिजली शुल्क को लेकर भाजपा और तृणमूल कांग्रेस आमने-सामने आ गयी है. बुधवार को भारतीय जनता युवा मोर्चा ने कोलकाता में बिजली शुल्क ज्यादा  लेने के खिलाफ प्रदर्शन और पुलिसिया कार्रवाई की प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने निंदा की है. 
 
श्री घोष ने कहा कि कोलकाता में देश के अन्य राज्यों से ज्यादा बिजली शुल्क की जाती है. उसका विरोध किया गया, तो भाजपा कार्यकर्ताओं पर लाठियां बरसायी गयीं. बंगाल में जनतांत्रिक अधिकारियों का हनन हो रहा है. आंदोलन शांतिपूर्ण था, लेकिन पुलिस ने जानबूझ कर न केवल आंसू गैस के गोले दागे, बल्कि पानी की बौछार और लाठियां भी भांजीं. उन्होंने सवाल किया कि क्यों कोलकाता में अधिक शुल्क लिये जा रहे हैं?  उन्होंने  कहा कि इसके खिलाफ लगातार आंदोलन होंगे. 
 
बिजली दर का निर्धारण राज्य सरकार नहीं करती : पार्थ 
 
दूसरी ओर, तृणमूल कांग्रेस के महासचिव पार्थ चटर्जी ने कहा कि भाजपा राज्य में अशांति पैदा करना चाहती है तथा किसी न किसी रूप में राज्य को डिस्टर्ब करने की कोशिश कर रही है. उन्होंने कहा कि बिजली दर का निर्धारण राज्य सरकार नहीं करती है, बल्कि विद्युत नियामक आयोग बिजली दर का निर्धारण करता है. यदि भाजपा को कोई शिकायत है, तो वह विद्युत नियामक आयोग से इसकी शिकायत करे. इससे राज्य सरकार का कुछ भी लेना-देना नहीं है.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement