Advertisement

calcutta

  • Aug 19 2019 5:46AM
Advertisement

लोगों को नेताजी के लापता होने के बारे में जानने का अधिकार: मुख्यमंत्री

लोगों को नेताजी के लापता होने के बारे में जानने का अधिकार: मुख्यमंत्री

कोलकाता : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने रविवार को कहा कि लोगों को यह जानने का अधिकार है कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस को क्या हुआ था.  सुश्री बनर्जी ने कहा कि 18 अगस्त 1945 को लापता होने के बाद नेताजी कहां गये? यह अभी तक पता नहीं चला है. उन्होंने इस संबंध में ट्वीट किया कि इसी दिन 1945 में नेताजी ताइवान के ताइहोकू हवाई अड्डे से एक विमान में सवार हुए थे और हमेशा के लिए लापता हो गये. हमें अभी भी नहीं पता कि उन्हें क्या हुआ. लोगों को माटी के लाल के बारे में जानने का अधिकार है.

उल्लेखनीय है कि कई रिपोर्टों में दावा किया गया है कि नेताजी ताइवान के ताइहोकू हवाई अड्डे से एक विमान में सवार हुए थे, जो कि दुर्घटनाग्रस्त हो गया था और उसमें नेताजी की मृत्यु हो गयी थी. हालांकि उनकी मृत्यु के बारे में कोई पुष्टि नहीं है, क्योंकि विशेषज्ञ उनके लापता होने के बारे में विभिन्न दावे लेकर आये. केंद्र ने समय- समय पर नेताजी की मृत्यु या लापता होने से संबंधित रहस्यों पर प्रकाश डालने के लिए कई समितियों का गठन किया, लेकिन कोई जवाब नहीं मिल पाया.

इन समितियों में 1956 में शाह नवाज समिति, 1970 में खोसला आयोग और 2005 में मुखर्जी आयोग शामिल हैं. एक सितंबर 2016 को नरेंद्र मोदी सरकार ने जापानी सरकार की जांच रिपोर्ट सार्वजनिक की, जिसमें यह निष्कर्ष निकला था कि सुभाष चंद्र बोस की ताइवान में विमान दुर्घटना में मृत्यु हो गयी थी. हालांकि अभी भी कई लोगों का मानना है कि नेताजी विमान दुर्घटना में बच गये थे और छिपकर रहे.

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement