Advertisement

buxar

  • Sep 12 2019 4:58AM
Advertisement

उपमुख्य पार्षद की गयी कुर्सी, सरगर्मी तेज

 बीहट : अंतत: बीहट नगर परिषद के उपमुख्य पार्षद पंकज कुमार मिश्रा की कुर्सी छीन गयी. बुधवार को नगर परिषद बीहट में हुई बैठक में उप मुख्य पार्षद के विरुद्ध पार्षदों द्वारा पेश अविश्वास प्रस्ताव में जहां 22 पार्षदों ने प्रस्ताव के पक्ष में मतदान किया,वहीं आठ पार्षदों ने उसका विरोध किया. 

 
इस संबंध में नगर परिषद बीहट के कार्यपालक पदाधिकारी शिवांशु शिवेश ने बताया कि चूंकि अब नगर परिषद के उप मुख्य पार्षद का पद रिक्त हो गया है. इसलिए इस संबंध में निर्वाचन आयोग से पत्राचार कर आगे की कार्रवाई के संबंध में दिशा निर्देश मांगा जायेगा. 
 
अविश्वास प्रस्ताव की बैठक में सभी वार्डों के पार्षद थे मौजूद :बैठक में पूर्व मुख्य पार्षद अशोक सिंह,वार्ड पार्षद पप्पू सिंह, रंजीत कुमार, धर्मेंद्र कुमार, आशा पाठक, शिवजी साह, इंदु देवी, प्रजा देवी, पम्पा मेहता, दीपक कुमार, विशेश्वर पासवान, चंदा देवी, नीलम देवी,अरविंद महतो समेत सभी वार्ड पार्षद उपस्थित थे. वहीं विशेष बैठक के लिए पुलिस पदाधिकारी के नेतृत्व में पुलिस बल की तैनाती भी की गयी थी. 
 
आठ साल तक उपमुख्य पार्षद की कुर्सी पर रहे काबिज :नगर परिषद बीहट के गठन के समय से वार्ड संख्या-दस से चुने जाने वाले पार्षद पंकज मिश्रा विगत आठ वर्षों से लगातार उपमुख्य पार्षद की कुर्सी पर रहे. विदित हो कि नगर परिषद बीहट के गठन के बाद इन्होंने अपने कार्यकाल का सफर 6 जून 2011 से शुरू की थी.पांच साल का कार्यकाल निर्विघ्न पूरा किया. जनता का विश्वास हासिल कर 27 जून 2016 से दूसरे कार्यकाल में भी उपमुख्य पार्षद की कुर्सी पर काबिज रहे. 
 
इस दौरान मुख्य पार्षद अशोक सिंह के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव के कारण उनकी कुर्सी गयी और फिर नये मुख्य पार्षद रजनीश कुमार बने. लेकिन उनकी कुर्सी सलामत रही. मगर 27 जुलाई को उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव को लेकर पार्षदों की गोलबंदी शुरू हो गयी. 
 
कार्यपालक पदाधिकारी ने लिया था राज्य चुनाव आयोग से मार्गदर्शन :विदित हो कि नगर परिषद बीहट के उप मुख्य पार्षद पंकज कुमार मिश्रा के खिलाफ वार्ड पार्षदों ने अविश्वास प्रस्ताव लाने हेतु पत्र नप कार्यपालक पदाधिकारी शिवांशु शिवेश व नप बीहट के मुख्य पार्षद रजनीश कुमार को दिया था.
 
नप बीहट के कार्यपालक पदाधिकारी ने इस संबंध में राज्य निर्वाचन आयोग से चुनाव को लेकर मार्गदर्शन की मांग की थी. राज्य निर्वाचन आयोग के द्वारा मिले मार्गदर्शन व वार्ड पार्षद पप्पू सिंह,अशोक कुमार सिंह, रंजीत कुमार, नीलम देवी, धर्मेंद्र कुमार सिंह सहित अन्य के द्वारा अविश्वास प्रस्ताव की तिथि तय की गयी थी.
 
 प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान रही गहमागहमी
पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार बुधवार को नगर परिषद बीहट कार्यालय में अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा व वोटिंग के लिए वार्ड पार्षदों की विशेष बैठक हुई. मुख्य पार्षद रजनीश कुमार की अध्यक्षता और प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी सह बरौनी सीओ सुजीत सुमन की उपस्थिति में अविश्वास पर चर्चा शुरू हुई. नाराज पार्षदों ने उप मुख्य पार्षद की कार्यशैली के खिलाफ जमकर हल्ला बोला. 
 
चर्चा के अंत में अविश्वास प्रस्ताव पर मतदान कराया गया. जिसमें बाइस मत अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में पड़े और मात्र आठ मत प्रस्ताव के विरोध में पड़े. जिसके कारण पंकज मिश्रा को उप मुख्य पार्षद की कुर्सी गंवानी पड़ी. 
 
वहीं पंकज मिश्रा ने पार्षदों के प्रति धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि जब तक आपका भरोसा और साथ मिला तब तक उप मुख्य पार्षद के पद पर रहकर क्षेत्र के विकास में योगदान दिया.अब जो भी नये उप मुख्य पार्षद बनेंगे उन्हें हमारा सहयोग और समर्थन मिलेगा. इसी के साथ उप मुख्य पार्षद पद पर कई पार्षदों की नजरें टिक गयी है .  
 
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement