bollywood

  • Jan 20 2020 11:00AM
Advertisement

करण जौहर ने कहा- 'कभी खुशी कभी गम' सबसे बड़ी भूल

करण जौहर ने कहा- 'कभी खुशी कभी गम' सबसे बड़ी भूल

करण जौहर अब तक कई बेहतरीन फिल्‍में बना चुके हैं. 'कभी खुशी कभी गम' उनके डायरेक्‍शन में बनी दूसरी फिल्‍म थी. साल 2001 मे रिलीज हुई इस फिल्‍म के लिए उन्‍हें बेस्‍ट डायरेक्‍टर और बेस्‍ट स्‍क्रीनप्‍ले का अवॉर्ड मिला था. अब फिल्‍म के 18 साल बाद करण जौहर ने कहा कि यह फिल्‍म उनकी सबसे बड़ी भूल थी.

करण ने इस फिल्म को अपने मुंह पर एक बड़ा तमाचा बताया. उन्‍होंने कहा,' मैंने सोचा था कि मुगल-ए-आजम के बाद से आमिर खान की फिल्‍म लगान और फरहान अख्‍तर की फिल्‍म दिल चाहता है' तब हिंदी सिनेमा की सबसे बड़ी फिल्‍म बना रहा हूं.'

करण ने कहा कि, उनका लक्ष्‍य इस फिल्‍म में बॉलीवुड के बड़े स्‍टार्स को शामिल करना था. उन्‍होंने कहा कि, जब वह यह फिल्‍म बना रहे थे तो उन्‍हें ऐसा लग रहा था कि वह हिंदी सिनेमा की सबसे बड़ी और यादगार फिल्‍म बना रहे हैं. जिसे लोग सदियों तक याद रखेंगे.

करण जौहर ने बताया, उन्‍होंने इस फिल्‍म की स्‍टोरीलाइन 'कभी कभी से ली थी जबकि फैमिली वैल्‍यूज़ को 'हम आपके है कौन' से लिया था.' बता दें कि इस फिल्‍म अमिताभ बच्‍चन, जया बच्‍चन, शाहरुख खान, काजोल, रितिक रोशन और करीना कपूर ने मुख्‍य भूमिका निभाई थी.

करण ने बताया कि, पुरस्‍कारों और समीक्षा के मामले में फिल्‍म को मिली खराब प्रतिक्रिया से वह हैरान रह गये थे. हाल ही में करण ने हॉरर फिल्‍म घोस्‍ट स्‍टोरिज को मिले नेगेटिव रिस्‍पांस को लेकर कहा था,' यह मेरे करियर की पहली और आखिरी डरावनी फिल्‍म है. मैं अग इस जॉनर की कोई फिल्‍म नहीं बनाऊंगा.' 

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement