bbc news

  • Jan 17 2020 10:42PM
Advertisement

लाइव टीवी शो पर मानी गर्लफ़्रेंड के मर्डर की बात

लाइव टीवी शो पर मानी गर्लफ़्रेंड के मर्डर की बात
मनिंदर
BBC

"हमारी शादी की बात चल रही थी, पर उसके परिवार वाले रोज़ नई परेशानी पैदा करते थे. वो कहते थे कि मेरी उनकी लड़की की तरह सरकारी नौकरी नहीं है. इसलिए मैंने उसे ख़त्म कर दिया."

27 वर्षीय मनिंदर सिंह ने इन्हीं शब्दों में चंडीगढ़ से चलने वाले एक निजी टीवी चैनल के लाइव शो में पहुँचकर अपना जुर्म क़ुबूल किया.

लाइव टीवी शो पर मनिंदर ने बताया कि 30 दिसंबर 2019 को उन्होंने अपनी गर्लफ़्रेंड सरबजीत कौर की हत्या क्यों की. इसके कुछ देर बाद ही पुलिस ने उन्हें गिरफ़्तार कर लिया.

मनिंदर ने चंडीगढ़ के इंडस्ट्रियल एरिया में स्थित एक होटल में किसी धारदार हथियार से अपनी गर्लफ़्रेंड की हत्या कर दी थी और तभी से वे फ़रार थे.

ज़्यादा हैरानी की बात ये है कि मनिंदर हत्या के एक अन्य केस में ज़मानत पर थे. पुलिस के अनुसार साल 2010 में भी उन्होंने हरियाणा में अपनी पिछली गर्लफ़्रेंड की हत्या कर दी थी.

चंडीगढ़
Chandigarh Police

टीवी चैनल में काम करने वाले एक वरिष्ठ कर्मचारी ने बीबीसी को बताया कि किस तरह मनिंदर पुलिस स्टेशन से महज़ तीन किलोमीटर की दूरी पर स्थित उनके दफ़्तर में घुस आये थे.

उन्होंने बताया, "उसने दफ़्तर के बाहर खड़े हमारे एक कैमरामैन से कहा कि उसने एक महिला की हत्या की है. यह सुनकर हमारा कैमरामैन दंग रह गया. फिर उसने कहा कि पुलिस पंजाब में रह रहे उसके परिवार को तंग कर रही है और वो आत्मसमर्पण करना चाहता है."

"हमारे कैमरामैन ने उससे बात करने के लिए टीवी चैनल के क्राइम रिपोर्टर को बुलाया. फिर कुछ अन्य वरिष्ठ कर्मचारियों से चर्चा की गई जिसके बाद मनिंदर को टीवी स्टूडियो ले जाया गया. इसी दौरान हमने पुलिस को भी फ़ोन किया."

'मनिंदर एक पक्का अपराधी'

लाइव टीवी शो में जैसे ही मनिंदर ने अपना जुर्म क़ुबूला, स्थानीय पुलिस ने उसे गिरफ़्तार कर लिया.

पुलिस के अनुसार मनिंदर कुछ महीने पहले तक एक लोकल फ़र्म में ड्राइवर के तौर पर नौकरी कर रहे थे. वे उस फ़र्म में क्लर्क का भी काम करते थे.

वहीं उनकी गर्लफ़्रेंड सरबजीत कौर एक नर्स थीं और चंडीगढ़ में ही नौकरी कर रही थीं.

चंडीगढ़ पुलिस की अधिकारी नेहा यादव ने बीबीसी से कहा कि मनिंदर एक पक्का अपराधी है.

उन्होंने बताया, "सरबजीत के गले पर जिस तरह का घाव है, उसे देखकर पता चलता है कि मनिंदर एक खूंखार अपराधी है."

वे कहती हैं, "हमें लगता है कि टीवी शो में पहुँचने से पहले मनिंदर के दिमाग़ में दो बातें रही होंगी. एक तो उसे पब्लिसिटी चाहिए थी. साथ ही लोगों की सहानुभूति भी. तभी उसने परिवार का ज़िक्र किया. शायद उसे लगा होगा कि टीवी पर आने के बाद उसे कोई बड़ा वक़ील मिल जाएगा, क्योंकि उसके पास वक़ील करने के पैसे नहीं हैं."

पुलिस का कहना है कि टीवी की फ़ुटेज को वो कोर्ट में पुख़्ता सबूत के तौर पर पेश करने वाली है.

नेहा यादव ने बताया, "उसे सरबजीत पर शक़ था. जिस दिन घटना हुई, उस दिन उसने सरबजीत से अपना मोबाइल फ़ोन दिखाने की ज़िद की थी. लेकिन सरबजीत के मना करने पर दोनों में बहस हो गई. पिछले केस में भी मनिंदर को अपनी गर्लफ़्रेंड के चरित्र पर शक़ हुआ था जिसके बाद उसने उस महिला की हत्या कर दी थी."

पुलिस के अनुसार मनिंदर ने सरबजीत की गला घोंटकर हत्या की और बाद में तेज़ हथियार से सरबजीत की गर्दन काट दी.

होटल के सीसीटीवी फ़ुटेज के अनुसार दोनों ने 30 दिसंबर को होटल में कमरा लिया था. उसी दिन शाम को मनिंदर होटल से निकल गए थे.

अगले दिन जब होटल स्टाफ़ के लोग क़मरे में गए, तब उन्हें सरबजीत की हत्या का पता चला था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

]]>
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement