Advertisement

bbc news

  • Apr 18 2019 11:00PM
Advertisement

कौन हैं बीजेपी प्रवक्ता पर जूता फेंकने वाले डॉक्टर शक्ति भार्गव

कौन हैं बीजेपी प्रवक्ता पर जूता फेंकने वाले डॉक्टर शक्ति भार्गव
बीजेपी प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा पर जूता फेंकने वाले डॉक्टर शक्ति भार्गव कानपुर के बड़े डॉक्टरों में गिने जाते हैं. कानपुर के बड़ा चौराहा पर उनका एक अस्पताल है जिसमें डॉक्टर शक्ति भार्गव और उनकी पत्नी डॉक्टर शिखा भार्गव दोनों ही मरीज़ों को देखते हैं.

कानपुर के स्थानीय पत्रकार प्रवीण मोहता के मुताबिक़ डॉक्टर शक्ति भार्गव कानपुर के अभिजात्य लोगों में गिने जाते हैं, दिल्ली जाकर बीजेपी प्रवक्ता पर जूता फेंकने जैसा काम उन्होंने क्यों किया, ये समझ से परे है.

जानकारी के मुताबिक, डॉक्टर शक्ति भार्गव अस्पताल के अलावा रियल एस्टेट व्यवसाय से भी जुड़े हैं और कई संपत्तियों को लेकर उनका कानपुर के अन्य व्यवसायियों के अलावा परिवार से भी विवाद चल रहा है.

बताया जा रहा है कि पिछले साल दिसंबर में आयकर विभाग की टीम ने डॉक्टर भार्गव के घर और कई ठिकानों पर छापा भी मारा था. अपने फ़ेसबुक अकाउंट में डॉक्टर शक्ति भार्गव ख़ुद व्हिसल ब्लोअर बताते हैं.

कानपुर में बंद पड़ी तमाम मिलों के लिए भी शक्ति भार्गव ने आवाज़ उठाई थी. अपने फ़ेसबुक अकाउंट में उन्होंने लिखा था कि पीएसयू कर्मचारियों की ख़ुदकुशी के लिए केंद्र सरकार ज़िम्मेदार है.

https://www.facebook.com/BBCnewsHindi/videos/325353748167608/?epa=SEARCH_BOX

स्थानीय पत्रकारों ने उनकी मां से बात की तो उन्होंने साफ़ कह दिया कि उनका अपने बेटे और बहू से कोई संपर्क नहीं है. उनकी मां का कहना था कि शक्ति भार्गव कई साल से उनसे अलग रह रहे हैं.

जूता फेंकने की घटना की बाद शक्ति भार्गव को वहाँ मौजूद कुछ आदमियों ने तुरंत पकंड़ लिया. कानपुर में उन्हें जानने वाले दावा करते हैं कि शक्ति भार्गव के पास ऐसी तमाम जानकारियां हैं जो यदि उन्होंने सार्वजनिक कर दीं तो कानपुर के कई सफ़ेदपोश लोग बेनकाब हो जाएंगे.

कानपुर में वरिष्ठ पद पर रहे एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि कुछ साल पहले डॉक्टर शक्ति भार्गव अपने घर से अचानक लापता हो गए थे. पहले ये आशंका जताई गई कि उनका अपहरण हो गया है लेकिन बाद में वो ख़ुद घर आ गए. लापता क्यों और कैसे हुए थे, यह अभी भी रहस्य बना हुआ है.

बताया ये भी जा रहा है कि बीजेपी से संबंध रखने वाले कुछ कथित भूमाफ़िया के साथ शक्ति भार्गव का व्यावसायिक विवाद था जिसमें सरकार के सहयोग से वे लोग उन्हें क़ानूनी पचड़े में फँसाने की साज़िश कर रहे थे.

इन लोगों में कानपुर में बीजेपी के एक बड़े नेता का नाम भी सामने आ रहा है. बताया जा रहा है कि जूता फ़ेंकने जैसी घटना के पीछे ये वजह भी हो सकती है.

ये भी पढ़ें:

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

]]>
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement