Advertisement

asansol

  • Apr 25 2019 1:45AM

तृणमूल सरकार का सूरज अब हो रहा है अस्त : मोदी

 पीएम ने कहा- भाजपा सरकार के नेतृत्व में राज्य का होगा नये सिरे से औद्योगिकीकरण

पानागढ़/रानाघाट : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को बीरभूम जिले के बोलपुर और नदिया के रानाघाट में भाजपा प्रत्याशियों के समर्थन में जनसभाओं को संबोधित किया. इस दौरान प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और राज्य की तृणमूल सरकार पर कड़ा प्रहार किया. मोदी ने कहा कि बंगाल को हिंसाग्रस्त और अशांत करने वाली तृणमूल सरकार का सूरज जल्द अस्त होगा. इसके साथ ही गुंडागर्दी तथा रंगदारी का भी अंत होगा. 

मोदी ने बोलपुर संसदीय क्षेत्र के इलमबाजार के कमारडांगा मैदान में आयोजित चुनावी सभा में कहा कि ‘दीदी’ का सिंहासन हिल रहा है. तीसरे चरण के मतदान में हुई हिंसा में एक व्यक्ति की मौत की चर्चा करते हुए इसके लिए उन्होंने तृणमूल को दोषी बताया. उन्होंने आम मतदाता से कहा कि वे मतदान के दिन तृणमूल के गुंडों का प्रतिवाद करें. लोकतंत्र की वापसी के लिए गुंडातंत्र की समाप्ति जरूरी है. उन्होंने कहा कि उनके विदेशी दौरे से विश्व में भारत का सम्मान बढ़ा है. पूरी दुनिया इसकी ताकत समझ रही है. सर्जिकल स्ट्राइक इसी ताकत का एक नमूना था. उन्होंने कहा कि देश तथा बंगाल से आतंकवाद, उग्रवाद को खत्म करने के लिए मजबूत प्रधानमंत्री की आवश्यकता है.

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री हिंदुओं के पर्व में बाधा डालती हैं. वह मुख्यमंत्री तथा परिवार की नेत्री किस तरह हो सकती है?  सरस्वती पूजा, दुर्गापूजा, राम नवमी भी जनता डर व भय के बीच करती है. इस तरह की सरकार शायद ही किसी राज्य में है. हर काम के लिए सिंडीकेट को भुगतान करना पड़ता है. शांति एकमात्र भाजपा सरकार ही ला सकती है. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की योजनाओं को बंगाल में दीदी लागू नहीं कर रही हैं. यदि कुछ परियोजनाएं लागू भी हैं तो उस पर तृणमूल का गुंडा टैक्स वसूल किया जाता है. गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर के सपनों की भूमि को घुसपैठियों की शरणस्थली बना दी गयी है तथा बम बनाने के कारखाने खुल गये हैं.  शांतिनिकेतन को भी अशांत कर दिया गया है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि 21वीं सदी के युवक व युवतियां बंगाल तथा भारत की संस्कृति की कल्पना इस तरह की नहीं की थी. पहली बार मतदान करनेवाले वोटर दीदी की इस अपसंस्कृति का जवाब गणतंत्र अधिकारों का उपयोग कर देंगे. 

उन्होंने दावा किया कि जो देश पहले महंगे तेल व गैस ऊंची दर पर बेचते थे, 20 वर्षों के करार को उन्होंने तोड़ा है. केंद्र में आने के बाद दोस्ताना तरीके से तेल और गैस का दाम कम कराया. विदेशों के बैंकों में कालाधन यदि कोई रखता है तो विदेश नीति के तहत बैंकों से हुए समझौते के आधार पर तत्काल भारत सरकार को इसकी सूचना मिल जायेगी.

उन्होंने कहा कि अत्याचारी शासन का काउंट डाउन शुरू हो गया है. आतंकवादियों को खत्म करना है तो मतदाताओं का एक-एक वोट चौकीदार के पक्ष में जाना होगा. चौकीदार की जीत होगी तथा तृणमूल के गुंडों की हार होगी.  आयुष्मान भारत  योजना लागू नहीं करने पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने कहा कि यह गरीबों के साथ अन्याय है. जब तक तृणमूल की गुंडागर्दी रहेगी, तब तक राज्य में नये उद्योग की स्थापना नहीं होगी. कारखाने बंद हो रहे हैं. बेरोजगारी बढ़ गयी है. बांग्लादेश के घुसपैठियों को लेकर दीदी राजनीति कर रही हैं. चुनाव आयोग को गाली दी जा रही है. इन सब का जवाब यदि चाहिए तो अपने गणतांत्रिक अधिकार से देना होगा.

मंच पर बीरभूम संसदीय क्षेत्र से पार्टी प्रत्याशी दूध कुमार मंडल, बोलपुर संसदीय क्षेत्र से पार्टी प्रार्थी रामप्रसाद दास तथा पूर्व बर्दवान संसदीय क्षेत्र के पार्टी प्रार्थी परेशचंद्र दास, पर्यवेक्षक कैलाश विजयवर्गीय, जिला अध्यक्ष रामकृष्ण राय, सांसद रूपा गांगुली, कालो सोना मंडल,  पूर्व बर्दवान जिलाअध्यक्ष कृष्णा घोष आदि उपस्थित थे.

 

Advertisement

Comments

Advertisement