1. home Hindi News
  2. health
  3. nag panchmi 2020 know about snake bites management treatment first aid information drug medicine in monsoon during coronavirus pandemic sanp kate to kya karna chahiye lakshan upchar dawa

Nag panchmi 2020 : सांप काटे तो करें ये प्राथमिक उपचार, झाड़-फूंक के चक्कर में कहीं चल न जाए जान

By SumitKumar Verma
Updated Date
Nag panchmi 2020, Monsoon Health Tips, Snake Bites & Management, Snakebite Treatment
Nag panchmi 2020, Monsoon Health Tips, Snake Bites & Management, Snakebite Treatment
Prabhat Khabar Graphics

Nag panchmi 2020, Monsoon Health Tips, Snake Bites & Management, Snakebite Treatment : मानसून (Monsoon) का समय चल रहा है और इत्तेफाक से आज नागपंचमी (nag panchami) भी है. ऐसे में आपको जानना चाहिए की इस कोरोना (Corona) महामारी के दौरान जहां स्वास्थ्य सेवाओं (Health Facilities) के लाले पड़े हुए. वैसे में अगर आपका पाला किसी सांप (Snake) से पड़ जाए तो आपको प्राथमिक उपचार (First Aid) के तौर पर क्या करना चाहिए. तो आइये जानते हैं इस बारे में क्या कहते हैं झारखंड (Jharkhand) स्नेक रेस्क्यू (snake rescue) एसोसिएशन के अध्यक्ष रमेश कुमार...

रमेश कुमार सबसे पहले ह्यूमन बर्ताव (human behaviour facts) के बारे में बताते हुए कहते है कि सांप काटे (snake bite) तो लोग सुनी-सुनाई बातों को उपचार (snake bite treatment) के तौर पर इस्तेमाल करते है. ज्यादातर मौत इन्हीं कारणों से हो जाती है. कई लोगों का मानना है कि सांप के काटने के बाद विष पूरे शरीर में फैलने लगता है. अत: बहुत जोड़ से उस भाग के ऊपरी हिस्सों को रस्सी से बांध देते है. जिससे ब्लड सर्कुलेशन के रूकने का खतरा हो सकता है. इससे हर्ट अटैक आ सकता है जिससे पीड़ित की मौत हो सकती है. इस मामलें के जानकार रमेश कुमार की मानें तो...

सांप काटने के दौरान हमें भूल कर भी नहीं करना चाहिए ये काम

ज्यादा जोर से न बांधे रस्सी : सांप काटने वाले भाग के ऊपर या निचे भूल कर भी जोर से रस्सी, रब्बर बैंड, कपड़ा आदि न बांधे. इससे ब्लड सर्कुलेशन रूकने से भी मरीज की मौत हो सकती है.

स्नेक बाइट वाली जगह ब्लेड या चाकू से न लगाए चिरा : कई बार देखा गया है कि लोग स्नेक बाइट वाली जगह पर ब्लेड से चिरा लगा देते है. इस दौरान अगर गलती से जंग लगे या अन्य लोगों द्वारा इस्तेमाल गलती से हो गया तो इंफेक्शन से मौत का हो सकता है खतरा.

दांतों के इस्तेमाल से न निकालें जहर : फिल्मों में दखकर लोग इसे अभ्यास में लाने से कतराते नहीं है. लेकिन, उनकी सही जानकारी का अभाव मरीज के साथ स्नेक बाइट को दांतों से निकालने वाले व्यक्ति के मौत का कारण भी बन सकती है.

पीड़ित को न डरने दें : मरीज अगर इस दौरान बहुत डरेगा तो हर्ट स्ट्रोक का खतरा बढ़ सकता है. जिससे उसकी मौत भी संभव है. कई केस मे ऐसा ही होता है.

झाड़-फूंक में फंसना हो सकता है खतरनाक : कई बार लोग झाड़-फूंक के जरिये स्नेक बाइट को रोकने की कोशिश करते हैं. लेकिन, उनका ये अंधविश्वास अपनों को छिन सकता है.

पीड़ित को ज्यादा मूवमेंट न करवाएं : रमेश बताते हैं कि कई केस में उन्होंने देखा है कि बिना डिग्री वाले डॉक्टर पीड़ित को उस समय सलाह देने के लिए एक से बढ़ कर एक बिना डिग्री वाले डॉक्टर खड़े हो जाते है. जिनमें कुछ मरीज को थोड़ा टहलने की सहाल भी दे देते हैं. ये बिल्कुल गलत है. रक्त में मौजूद जहर ब्लड तक पहुंच गया होता है. आपके मूवमेंट से यह ब्लड सर्कुलेट होकर शरीर के अन्य हिस्सों तक आसानी से बेहद कम समय में पहुंच सकता है.

सांप काटें तो करें ये शुरूआती उपचार

- सबसे पहले सर्पदंश के भाग को पोटेशियम परमेगनेट या साबुन से अच्छी तरह धो लें.

- सांप काटे व्यक्ति को सबसे पहले जीतना जल्दी हो सके अस्पताल ले जाने की कोशिश करें.

- और नहीं तो कहीं साफ-सूथरी जगह पर उसे सीधा लेटा दें और बॉडी को स्थिर रहने दें.

- जब तक अस्पताल न पहुंच जाएं मरीज को शांत रखें और उसका हौंसला बढ़ाएं.

- पीड़ित को बेहोश न होने दें. क्योंकि इस दौरान उनकी सांसे रूक सकती है और आपको पता भी नहीं चलेगा.

- सांप ने अगर हाथ में काटा है तो उसे नीचे लटका दें ताकि जहर को हर्ट तक पहंचने में ज्यादा समय लग सके.

- किसी भी गहने या घड़ियों आदि को हटा दें, क्योंकि सूजन होने पर स्किन में कट सकता है

- और याद रहे सर्पदंश वाले स्थान पर दो-तीन इंच चौड़े कपड़े की पट्टी को लपेटे लेकिन, ज्यादा जोड़ से नहीं, क्योंकि इससे खून का प्रवाह रूक सकता है.

Posted By : Sumit Kumar Verma

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें