1. home Hindi News
  2. health
  3. corona vaccine will be given to people above 45 years of age from april 1 ksl

45 साल से अधिक उम्र के लोगों को एक अप्रैल से दी जायेगी कोरोना वैक्सीन, ऐसे कराएं रजिस्ट्रेशन...

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर
फाइल फोटो

नयी दिल्ली : केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने कहा है कि गुरुवार एक अप्रैल, 2021 से कोरोना की वैक्सीन 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोग ले सकते हैं. 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को कोरोना की वैक्सीन लेने के लिए को-विन ऐप या वेबसाइट https://cowin.gov.in पर एडवांस अप्वाइंटमेंट लेकर समय बुक किया जा सकता है.

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव के मुताबिक, कोरोना वैक्सीन लेने के लिए ऑनलाइन अप्वाइंटमेंट नहीं लेनेवाले अपने नजदीकी वैक्सीनेशन सेंटर पर दोपहर दो बजे के बाद रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं. रजिस्ट्रेशन के लिए 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को अपने साथ आधार कार्ड और वोटर आईडी कार्ड जैसे पहचानपत्र को लेकर जाना होगा. इसके अलावा पासबुक, पासपोर्ट या राशनकार्ड भी पहचान के तौर पर दिखा सकते हैं.

मालूम हो कि केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ हर्षवर्धन और उनकी पत्नी नूतन गोयल ने नयी दिल्ली स्थित दिल्ली हार्ट एंड लंग इंस्टीट्यूट में कोरोना वैक्सीन 'कोवैक्सीन' की दूसरी खुराक इंजेक्शन के रूप में ली. इससे पहले दोनों को 28 दिन पहले दो मार्च, 2021 को कोवैक्सीन की पहली खुराक दी गयी थी.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि वैक्सीन लगवानेवाले लाभार्थियों एईएफआई के दुष्प्रभावों का अनुपात लगभग नगण्य है. साथ ही दृढ़तापूर्वक कहा कि ''सभी वैक्सीन सुरक्षित, संक्रमण से मुक्त और प्रभावकारी हैं.'' वैक्सीन लेने के बाद कोरोना संक्रमित होने की आशंकाओं का निराकरण करते हुए कहा कि ''ऐसे मामले लगभग नगण्य और दुर्लभ हैं.''

उन्होंने कहा कि शरीर में रोग प्रतिरक्षण के लिए एंटीबॉडीज का निर्माण होने में वैक्सीन की दूसरी खुराक लेने के बाद दो सप्ताह का समय लगता है. ऐसे में इस अवधि में सक्रमण होने की संभावना बनी रहती है. हमने इसी को देखते हुए सभी से उचित कोविड व्यवहार का कड़ाई से पालन करने का परामर्श दिया था. इसका वैक्सीनेशन की प्रक्रिया से कोई संबंध नहीं है.''

उन्होंने कहा कि कोरोना वैक्सीन ले चुके लोगों में संक्रमण का स्तर बहुत ही हल्का होता है. यह आगे विकसित नहीं हो पायेगा. सोशल मीडिया पर वैक्सीन को लेकर चल रही अफवाहों और दुष्प्रचार को उन्होंने समाज के लिए कष्टकारी बताते हुए लोगों से व्हाट्सएप की बजाय विज्ञान पर भरोसा करने के लिए कहा.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें