24.1 C
Ranchi
Saturday, March 2, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Apple Watch पर अमेरिका में क्यों लगा बैन ? जानें अब आगे क्या होगा

Apple Watch Banned in America: टेक जायंट ऐपल को अमेरिका में काफी बड़ा झटका लगा है. यह झटका उस समय लगा जब अमेरिका ने ऐपल के वॉच पर प्रतिबंध लगा दिया. सामने आयी जानकारी के अनुसार यह बैन साल 2020 के बाद बेची गई ज्यादातर ऐपल वॉच पर लगाया गया है.

Apple Watch Banned in America: टेक जायंट कंपनियों की केटेगरी में आने वाली कंपनी ऐपल को हाल ही में एक काफी बड़ा झटका लगा है. यह झटका कंपनी को अमेरिका में लगा है. आपकी जानकारी के लिए बता दें अमेरिका ने ऐपल वॉच पर बैन कर दिया है. बैन किये गए इन स्मार्टवॉचेस की लिस्ट में वे सभी स्मार्टवॉच है जिन्हें कंपनी ने साल 2020 के बाद बेचा है. मीडिया रिपोर्र्ट्स की अगर माने तो बैन किये गए इन वॉचेस की लिस्ट में ऐपल वॉच सीरीज 6, 7, 8 और 9 हैं. केवल यहीं नहीं बैन किये गए इन स्मार्टवॉचेस की लिस्ट में वॉच अल्ट्रा और वॉच अल्ट्रा 2 को भी रखा गया है. मीडिया रिपोर्ट्स की अगर माने तो इन स्मार्टवॉचेस को बैन करने के पीछे मुख्य कारण वॉचेस में मौजूद एक फीचर को बताया जा रहा है. रिपोर्ट्स के अनुसार ब्लड ऑक्सीजन फीचर के विवादित पेटेंट के कारण यह बैन लगाया गया है. फिलहाल अमेरिका में इन सभी डिवाइसेज के इम्पोर्ट पर बैन लगाया गया है और यह बैन बीते मंगलवार से ही लागू किये जा चुके हैं.

ऐपल वॉच पर बैन लगने के पीछे क्या है कारण?

अगर आपको इस मामले के बारे में थोड़ी से भी जानकारी नहीं है तो बता दें यह जो फैसला है वह अक्टूबर के महीने में ही आ गया था कि ऐपल की उन सभी वॉचेस की सेल्स पर बैन लगा दिया जाएगा जिनमें ब्लड ऑक्सीजन लेवल को मॉनिटर करने के लिए विवादित पेटेंट का इस्तेमाल किया गया है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार अमेरिका के इंटरनेशनल ट्रेड कमीशन ने इस टेक्नोलॉजी के कारण ऐपल वॉचेस पर बैन लगाया है. ऐपल ने इस फैसले को गलत बताते हुए उसका विरोध भी किया है. यह सब होने के बावजूद भी पिछले हफ्ते अमेरिका में ऐपल Watch Series 9 और Apple Watch Ultra 2 की सेल्स रोक दी गयी थी. सामने आयी जानकारी के मुताबिक़ अब ऐपल इसके खिलाफ यूएस फेडरल कोर्ट में अपील भी करने वाली है. बता दें इंटरनेशनल ट्रेड कमीशन ने इस बैन को लेकर 25 दिसंबर तक का समय दिया था. ऐपल ने ऑनलाइन स्टोर्स पर 21 दिसंबर से और रिटेल स्टोर्स पर 24 दिसंबर से इन वॉचेस की सेल्स पर रोक लगा दिया था.

Also Read: 200MP प्राइमरी कैमरे के साथ भारत में लॉन्च होगा Redmi Note 13 Pro, जानें और क्या होगा खास

ऐपल वॉचेस पर इसलिए लगा बैन

यह फैसला उस समय लिया गया जब इंटरनेशनल ट्रेड कमीशन के पास इस बात की शिकायत आयी कि, ऐपल ने मेडिकल मॉनिटरिंग टेक्नोलॉजी कंपनी मैसिमो के पल्स ऑक्सीमेट्री पेटेंट का उल्लंघन किया है. इसी शिकायत के आधार पर ऐपल को अपनी वॉच के इम्पोर्ट और सेल्स को बंद करने का आदेश दिया दिया गया था. बता दें इन फैसलों के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति जो बिडेन के पास पब्लिक पॉलिसी कंसर्न के आधार पर इस ऑर्डर को वीटो करने के लिए 25 दिसंबर तक का समय दिया गया था. लेकिन समय रहने के बाद भी उन्होंने ऐसा कुछ नहीं किया जिस वजह से ऐपल के स्मार्टवॉचेस को यहां बैन कर दिया गया.

ऐपल पर लगे ये आरोप

आपकी जानकारी के लिए बता दें मैसिमो ने ऐपल पर अपने कर्मचारियों को काम पर रखने और उनकी टेक्नोलॉजी को चुराने का भी आरोप लगाया था. मैसिमो द्वारा लगाए गए आरोपों को कोर्ट पर एक जूरी ने मई के महीने में गलत सुनवाई के साथ इस मुक़दमे को समाप्त कर्त दिया था. अगर आप नहीं जानते हैं तो बता दें मैसिमो ने पिछले साल एक वॉच की लॉन्च किया था जो ब्लड ऑक्सीजन लेवल को मॉनिटर करने के साथ ही अन्य हेल्थ एक्टिविटीज को भी मॉनिटर कर सकता था.

Also Read: Traffic Challan से बचाएगा यह ऐप, इसके फीचर्स बड़े काम के हैं

अब क्या करेगी ऐपल ?

सामने आयी जानकारी के मुताबिक़ मैसिमो के CEO इस विवाद को सुलझाना चाहते हैं. केवल यहीं नहीं, ऐपल वाशिंगटन में फेडरल सर्किट के अमेरिकी अपील कोर्ट में बैन के खिलाफ अपील भी किया जाएगा. आपकी जानकारी के लिए बता दें इंटरनेशनल ट्रेड कमिशन ने 20 दिसंबर को एक अपील के दौरान बैन पर रोक लगाने के लिए ऐपल की बोली को खारिज कर दिया था. मौजूदा समय में ऐपल इस परेशानी को दूर करने के लिए सॉफ्टवेयर में बदलाव करने पर भी काम कर रहा है.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें