21.1 C
Ranchi
Friday, February 23, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Homeराज्यपश्चिम-बंगालतृणमूल नेता कल्याण बनर्जी ने एक बार फिर उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ की उतारी नकल कहा,मिमिक्री मेरा मौलिक अधिकार..

तृणमूल नेता कल्याण बनर्जी ने एक बार फिर उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ की उतारी नकल कहा,मिमिक्री मेरा मौलिक अधिकार..

कल्याण बनर्जी को निलंबित सांसदों के साथ विरोध प्रदर्शन के दौरान उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ की नकल करते देखा गया था, जबकि कांग्रेस नेता राहुल गांधी को अपने फोन पर टीएमसी नेता का वीडियो बनाते हुआ देखा गया था.

पश्चिम बंगाल के तृणमूल कांग्रेस के सांसद कल्याण बनर्जी (MP Kalyan Banerjee) को लेकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है क्योंकि निलंबित तृणमूल कांग्रेस सांसद ने एक बार फिर राज्यसभा के सभापति जगदीप धनखड़ की नकल उतारी है. पश्चिम बंगाल में रविवार को एक सभा में अपने संबोधन के दौरान कल्याण बनर्जी ने उपराष्ट्रपति का दोबारा मजाक उड़ाते हुए कहा कि वह मिमिक्री करते रहेंगे, यह एक आर्ट है. अगर जरूरत पड़ी तो वह ऐसा हजार बार भी करेंगे. कल्याण बनर्जी ने कहा, ‘मेरे पास अपने विचार व्यक्त करने के सभी मौलिक अधिकार हैं. आप मुझे जेल में डाल सकते हैं, मैं पीछे नहीं हटूंगा, मैं लड़ना जारी रखूंगा. गौरतलब है कि पिछले हफ्ते उस समय बड़ा राजनीतिक भूचाल आ गया जब संसद के मकर द्वार पर अन्य निलंबित सांसदों के साथ विरोध प्रदर्शन के दौरान कल्याण बनर्जी को उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ की नकल करते देखा गया था, जबकि कांग्रेस नेता राहुल गांधी को अपने फोन पर टीएमसी नेता का वीडियो बनाते हुआ देखा गया.

भारत के उपराष्ट्रपति के पद का किया गया अपमान  : जगदीप धनखड़

इस घटना से दुखी जगदीप धनखड़ ने अपना दर्द बयां किया और कहा कि भारत के उपराष्ट्रपति के रूप में विपक्षी सदस्यों ने उनके पद का अपमान किया है. धनखड़ ने यह भी दावा किया कि यह एक जाट, उनकी जाति और किसान परिवार से आने वाले व्यक्ति के रूप में उनकी पृष्ठभूमि का अपमान है. बनर्जी ने कथित तौर पर दावा किया कि उन्होंने पहली बार संसद में प्रधानमंत्री से मिमिक्री सीखी. फिर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से.अब अगर जगदीप धनखड़ मजाक समझे बिना रोना शुरू कर देते हैं, तो मैं कुछ नहीं कर सकता.

Also Read: पश्चिम बंगाल :अग्निमित्रा पॉल ने कहा,ममता बनर्जी में अगर हिम्मत हो तो वाराणसी से पीएम मोदी के खिलाफ लड़े चुनाव
जो लोग संसद काे सुरक्षा नहीं दे सकते वे देश को क्या सुरक्षा देंगे

कल्याण बनर्जी ने कहा कि 13 दिसंबर 2023 महत्वपूर्ण दिन था, क्योंकि 22 साल पहले उसी दिन संसद पर हमला हुआ था. उन्होने कहा कि नयी संसद का उद्घाटन जबरदस्त तरीके से हुआ था. प्रधानमंत्री तस्वीरें खिंचवाने और उन्हें पोस्ट करने में व्यस्त रहे. उनका नाम इतिहास में लिखा जाना और चाहिए कि इसमें वह व्यस्त रहे. सुरक्षा पर ध्यान नहीं दिया गया. हमारा बयान साफ था कि जो लोग संसद काे सुरक्षा नहीं दे सकते वे देश को क्या सुरक्षा देंगे.

Also Read: पश्चिम बंगाल :उपराष्ट्रपति की ‘मिमिक्री’ पर विवादों में घिरे कल्याण बनर्जी,पहले भी दे चुके हैं कई विवादित बयान

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें