18.1 C
Ranchi
Tuesday, February 27, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

WB : अंतरराष्ट्रीय तस्कर गिरोह का पर्दाफाश,3.2 करोड़ की सुपारी से भरे दो ट्रॉलर जब्त, 27 बांग्लादेशी भी अरेस्ट

बांग्लादेश ट्रॉलर की तलाशी ली और 27 बांग्लादेशी नागरिकों को पकड़ा. साथ ही सुपारी से भरी 1152 बोरियां जब्त कीं. आरोपियों और जब्त सामान को कानूनी कार्रवाई के लिए सीमा चौकी शमशेरनगर ले आया गया.

कोलकाता,अमित शर्मा : पश्चिम बंगाल में सीमा सुरक्षा बल ( Border Security Force) दक्षिण बंगाल सीमांत ने बड़ी कार्रवाई करते हुए सुपारी तस्करी से जुड़े अंतरराष्ट्रीय गिरोह के 27 सदस्यों को गिरफ्तार किया है. सभी आरोपी बांग्लादेशी नागरिक हैं. इतना ही नहीं, दक्षिण 24 परगना के सुंदरवन क्षेत्र में चलाये गये अभियान में बीएसएफ ने बर्मी सुपारी से भरे दो ट्रॉलर भी जब्त किये हैं, जिन्हें बांग्लादेश से तस्करी कर भारतीय सीमा में लाया गया था. जब्त बर्मी सुपारी का वजन करीब 70,320 किलोग्राम है, जिनकी कीमत करीब 3.2 करोड़ रुपये आंकी गयी है.

क्या है मामला

बीएसएफ के एक अधिकारी ने बताया कि सीमा सुरक्षा बल की 118वीं बटालियन को खुफिया विभाग से सीमा चौकी शमशेरनगर इलाके में जल मार्ग में बांग्लादेशी ट्रॉलरों की अवैध आवाजाही के बारे में सूचना मिली. सूचना मिलते ही बीएसएफ ने सुंदरवन में ऑपरेशन शुरू करने के लिए एक स्पेशल ऑपरेशन पार्टी गठित की. इस ऑपरेशन पार्टी ने गत 28 जनवरी को अपराह्न करीब तीन बजे से तीन स्पीड बोट के साथ अभियान शुरू किया. इस दौरान बीएसएफ की ऑपरेशन पार्टी सुंदरवन के टी जंक्शन से एस्चुएरी प्वाइंट की ओर रवाना हुई और वहां दो ट्रॉलरों की आवाजाही देखी, पार्टी ने उनका पीछा किया और दो बांग्लादेशी ट्रॉलरों को रोका, जिनके नाम ‘एफबी अल्लाहर डाॅन 271’ और ‘एफबी अल्लाहर डाॅन 272’ हैं. दोनों ट्रॉलर अवैध रूप से न्यूमूर द्वीप के पास भारतीय क्षेत्र में प्रवेश कर रहे थे. इसके बाद बीएसएफ के जवानों ने बांग्लादेश ट्रॉलर की तलाशी ली और 27 बांग्लादेशी नागरिकों को पकड़ा. साथ ही सुपारी से भरी 1152 बोरियां जब्त कीं. आरोपियों और जब्त सामान को कानूनी कार्रवाई के लिए सीमा चौकी शमशेरनगर ले आया गया.

Also Read: झारखंड के कुछ इलाकों में बाकी है आखिरी लड़ाई, बीएसएफ स्थापना दिवस पर बोले अमित शाह
27 बांग्लादेशी भी अरेस्ट

बीएसएफ के अनुसार, पकड़े गये आरोपियों में से एक मोहम्मद अब्दुल्ला शेख ने पूछताछ में बताया कि गत 27 जनवरी को बांग्लादेशी तस्करों के एक गिरोह ने उनसे संपर्क साधा था और उसे बांग्लादेश से 600 बोरी सुपारी की तस्करी करने के लिए कहा. उसे ‘एफबी अल्लाहर डाॅन 271’ नाम के ट्रॉलर पर 13 बांग्लादेशी लोग भी मुहैया कराये गये और बताया गया कि रास्ते में बीच में ‘ट्रॉलर अल्लहर डाॅन 272’ नामक एक अन्य ट्रॉलर का चालक मोहम्मद अब्दुल मालेक गाजी भी उससे मिलेगा और बाकी काम वही बतायेगा. अब्दुल्ला शेख 20 हजार बांग्लादेशी टका के बदले यह काम करने के लिए तैयार हो गया. दूसरे बांग्लादेशी ट्रॉलर पर सुपारी से 552 बोरियां लदी थीं. आरोपियों ने यह भी बताया कि भारी परिमाण में यह सुपारी दक्षिण 24 परगना के झरखाली फेरीघाट में उतारने की बात थी, जिसे भारतीय तस्कर दूसरे जगह ले जाते. हालांकि, इसके पहले ही वह पकड़ लिये गये.

Also Read: तस्करों के खिलाफ बीएसएफ, डीआरआइ और पुलिस के संयुक्त अभियान में 2.18 करोड़ का सोना जब्त, आठ गिरफ्तार
क्या कहा बीएसएफ अधिकारी ने

बीएसएफ, दक्षिण बंगाल सीमांत के डीआइडी एके आर्य ने कहा कि सुंदरवन सामरिक दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण है. यह इलाका काफी जोखिम भरा है और मैंग्रोव वनों व दलदलों से भरा है. जमीनी सीमा पर बीएसएफ जवानों की सतर्कता और चौकसी बढ़ने के कारण तस्कर समुद्री मार्ग अपनाने को मजबूर हो गये हैं, लेकिन सुंदरवन में तैनात बीएसएफ के जवान लगातार गश्त और उपस्थिति के जरिए इस क्षेत्र में पूरी तरह हावी हैं और किसी भी तरह की रोकथाम के लिए प्रतिबद्ध हैं. उन्होंने कहा कि किसी भी प्रकार की तस्करी गतिविधियों को रोकने के लिए बीएसएफ सख्त उपाय कर रही है.

Also Read: Mamata Banerjee : ममता बनर्जी ने कहा, अगर बीएसएफ आपको आई कार्ड देता है,तो इसे न लें,आप एनआरसी के तहत आ जाएंगे

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें