1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. calcutta
  5. final semester examinations at the end of september in visva bharati university in west bengal mth

West Bengal News: विश्वभरती विश्वविद्यालय में अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाएं सितंबर के अंत में

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
विभिन्न भवनों के प्रधानाचार्यों से कहा गया है कि वे परीक्षा के तरीकों का चयन करें.
विभिन्न भवनों के प्रधानाचार्यों से कहा गया है कि वे परीक्षा के तरीकों का चयन करें.
Social Media

कोलकाता : विश्वभारती विश्वविद्यालय (Visva Bharati University) इस महीने अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाओं (Final Semester Examinations 2020) का आयोजन करेगा और विभिन्न भवनों (विभागों) के प्रधानाचार्यों से कहा गया है कि वे परीक्षा के तरीकों का चयन करें. विश्वविद्यालय ने एक बयान में कहा कि केंद्रीय विश्वविद्यालय यूजीसी (UGC) के 30 सितंबर (30 September) से पहले अनिवार्य रूप से अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाएं कराने के परामर्श का पालन करेगा.

कार्यकारिणी परिषद की बैठक में विभिन्न विभागों के प्रधानाचार्यों को ‘यूजीसी के नियमों के तहत परीक्षा कराने के तौर-तरीकों का चयन करने’ की जिम्मेदारी देने का फैसला किया गया. विश्वविद्यालय की ओर से मंगलवार को जारी एक बयान में कहा गया कि अधिकारियों ने प्रधानाचार्यों से विभागों के प्रमुखों, संकाय के सदस्यों तथा छात्रों की राय लेने और यह पता लगाने को कहा है कि ऐसी स्थिति में अन्य केंद्रीय विश्वविद्यालय क्या कर रहे हैं.

बयान में कहा, ‘प्रधानाचार्य, इस तरह की असाधारण परिस्थितियों में उपयुक्त मूल्यांकन की किसी भी प्रणाली को तैयार करने के लिए एचओडी और संकाय सदस्यों से परामर्श करेंगे. इस बात पर भी जोर दिया गया कि प्रणाली को तैयार करते समय प्रशासन छात्रों की राय को भी ध्यान में रखे, इसके अलावा उन प्रणालियों का भी मूल्यांकन किया जायेगा, जो पहले से ही देश के अन्य केंद्रीय विश्वविद्यालयों द्वारा अपनायी गयी हैं.’

बयान में कहा गया है कि विश्वभारती विश्वविद्यालय उच्चतम न्यायालय के 28 अगस्त के फैसले का सख्ती से पालन करेगा. शीर्ष अदालत ने अपने फैसले में कहा था कि राज्य और विश्वविद्यालय 30 सितंबर तक अंतिम वर्ष/अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाएं आयोजित किये बगैर छात्रों को प्रोन्नत नहीं कर सकते.

उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस के संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए 25 मार्च से पूरे देश में लॉकडाउन है. इसकी वजह से देश भर के शिक्षण संस्थान भी बंद हैं. शिक्षण संस्थानों में ऑनलाइन क्लासेज की शुरुआत हुई है. वर्ष 2020 में पहली बार ऐसा हुआ कि प्राइमरी से सेकेंडरी लेवल तक के विद्यार्थियों को बिना परीक्षा के प्रोमोट कर दिया गया. लेकिन उच्च शिक्षण संस्थानों को सुप्रीम कोर्ट ने परीक्षा आयोजित करने के तरीके तलाशने को कहा है.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें