19.1 C
Ranchi
Friday, March 1, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

‘अटल बिहारी वाजपेयी सेवरी-न्हावा शेवा अटल सेतु’ की क्या है खासियत, कुछ देर में पीएम मोदी करेंगे उद्घाटन

‘अटल बिहारी वाजपेयी सेवरी-न्हावा शेवा अटल सेतु’ का 17,840 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से इसका निर्माण किया गया है. पीएम मोदी ने दिसंबर, 2016 में इस पुल की आधारशिला रखी थी. जानें खासियत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कुछ देर में महाराष्ट्र के नासिक में 27वें राष्ट्रीय युवा महोत्सव का उद्घाटन करेंगे और फिर प्रदेश में 30,500 करोड़ रुपये से अधिक की विकास परियोजनाओं की शुरुआत करेंगे. इससे पहले प्रधानमंत्री ने नासिक में रोड शो किया जिसमें उनके साथ प्रदेश के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे भी नजर आए. प्रधानमंत्री मोदी ने गोदावरी नदी किनारे स्थित रामकुंड में पूजा अर्चना की, साथ उन्होंने नासिक में श्री कालाराम मंदिर में पूजा अर्चना की.

‘अटल बिहारी वाजपेयी सेवरी-न्हावा शेवा अटल सेतु’ की क्या है खासियत

आपको बता दें कि शहरी परिवहन अवसंरचना और संपर्क को मजबूत करके लोगों के आवागमन की सुगमता को बढ़ावा देने के अपने दृष्टिकोण के अनुरूप मोदी मुंबई ट्रांस-हार्बर लिंक (एमटीएचएल) का उद्घाटन करेंगे, जिसे अब ‘अटल बिहारी वाजपेयी सेवरी-न्हावा शेवा अटल सेतु’ नाम दिया गया है. 17,840 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से इसका निर्माण किया गया है. पीएम मोदी ने दिसंबर, 2016 में इस पुल की आधारशिला रखी थी. यह भारत का सबसे लंबा पुल और भारत का सबसे लंबा समुद्री पुल भी है. यह पुल लगभग 21.8 किलोमीटर लंबा छह लेन वाला पुल है, जिसकी लंबाई समुद्र के ऊपर लगभग 16.5 किलोमीटर और जमीन पर लगभग 5.5 किलोमीटर है.

Also Read: पीएम मोदी 11 दिन के विशेष अनुष्ठान पर, राम मंदिर को लेकर कहा- मैं भावुक हो रहा हूं क्योंकि…

यह मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे और नवी मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को सीधा संपर्क प्रदान करेगा और मुंबई से पुणे, गोवा और दक्षिण भारत की यात्रा के समय को भी कम करेगा. इससे मुंबई बंदरगाह और जवाहरलाल नेहरू बंदरगाह के बीच संपर्क में भी सुधार होगा.

सड़क सुरंग की आधारशिला भी रखने वाले हैं पीएम मोदी

नवी मुंबई में एक कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी ‘ईस्टर्न फ्रीवेज ऑरेंज गेट’ को मरीन ड्राइव से जोड़ने वाली सड़क सुरंग की आधारशिला भी रखने वाले हैं. 9.2 किलोमीटर लंबी सुरंग 8,700 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से बनाई जाएगी और यह मुंबई में एक महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचा विकास होगा. प्रधानमंत्री सूर्या क्षेत्रीय पेयजल परियोजना के पहले चरण को भी राष्ट्र को समर्पित करेंगे. 1,975 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से विकसित यह परियोजना महाराष्ट्र के पालघर और ठाणे जिलों को पेयजल आपूर्ति प्रदान करेगी, जिससे लगभग 14 लाख लोगों को लाभ होगा. मोदी कई रेल परियोजनाओं का भी शुभारंभ करेंगे.

‘भारत रत्नम’ (मेगा कॉमन फैसिलिटेशन सेंटर) का करेंगे उद्घाटन

पीएम मोदी ‘सांताक्रूज इलेक्ट्रॉनिक एक्सपोर्ट प्रोसेसिंग जोन’- विशेष आर्थिक क्षेत्र (एसईईपीजेड एसईजेड) के लिए ‘भारत रत्नम’ (मेगा कॉमन फैसिलिटेशन सेंटर) का उद्घाटन करेंगे. इसमें विशेष रूप से दिव्यांग छात्रों सहित इस क्षेत्र के कार्यबल के कौशल विकास के लिए एक प्रशिक्षण स्कूल होगा. ‘मेगा कॉमन फैसिलिटेशन सेंटर’ रत्न और आभूषण व्यापार में निर्यात क्षेत्र को बदलेगा और घरेलू विनिर्माण को भी मदद करेगा.

भाषा इनपुट के साथ

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें