30.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

तीन लोगों ने मिल कर चुराया था बच्चा, फिर 58 हजार रुपये में बेच दिया

रेलवे स्टेशन के बाहर से चोरी हुआ बच्चा ओडिशा के मादी ब्रह्मपुर, कलपंचना से मिला

रांची (वरीय संवाददाता). रेलवे स्टेशन के बाहर डिवाइडर के पास से पिछले दिनों नौ माह के बच्चे शुभम कुमार की चोरी कर ली गयी थी. इस मामले में बच्चे की चोरी कर उसे खरीदने और बेचने के आरोप में गिरफ्तार पांच आरोपियों को शनिवार को चुटिया पुलिस ने न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया. जेल जाने वालों में बच्चा चोरी करने में शामिल राधा साहू, इनके पति अमित सनातन और पुत्र टिक्की उर्फ सुनील शामिल हैं. तीनों आरोपी मूल रूप से पुरूलिया पश्चिम बंगाल के रहने वाले हैं और वर्तमान में कटक के जोबरा में रह रहे थे. वहीं बच्चा खरीदने के आरोप में महिला नदुरत जहां और सुहाना बेगम काे भी गिरफ्तार किया गया है. दोनों ओडिशा के पुरी जिला के मादी ब्रह्मपुर के रहने वाले हैं. यह जानकारी शनिवार की शाम अपने कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में एसएसपी चंदन कुमार सिन्हा ने दी. बच्चे के पिता लेने गये थे खाना, लौट कर आये तो देखा कि बच्चा गायब है : एसएसपी ने बताया कि बच्चे की चोरी होने पर उसके पिता प्रदीप लोहरा की शिकायत पर चुटिया थाना में 12 मई को केस दर्ज किया गया था. प्रदीप लोहरा लातेहार जिला के गारू थाना क्षेत्र के रहने वाले हैं. वह अगरतला से मजदूरी का कार्य कर 11 मई की शाम 4.30 बजे रेलवे स्टेशन पर उतरे थे. अपने घर जाने के लिए कोई गाड़ी नहीं मिलने पर वह स्टेशन के बाहर फुटपाथ के डिवाइडर पर सो गये थे. उनके साथ बच्चे के अलावा पत्नी और मित्र भी थे. दूसरे दिन सुबह करीब 5.30 बजे वह जहां सो रहे थे, उनके बगल में एक महिला एवं दो पुरुष आकर बैठ गये. इनलोगों ने प्रदीप लोहरा से बातचीत कर मित्रता कर ली. इस बीच शिकायतकर्ता अपनी पत्नी के कहने पर सुबह सात बजे खाना लेने के लिए वहां से चले जाते हैं. खाना लेकर जब कुछ देर बाद वे लौटते हैं, तो देखते हैं कि उनका बच्चा गायब है. इसके बाद उन्होंने मामले की जानकारी रेलवे सुरक्षा कर्मी को दी. फिर वे बच्चे की खोजबीन में जुट जाते हैं, लेकिन उसका कुछ पता नहीं चलता. सीसीटीवी फुटेज की जांच करने पर तीन लोग बच्चे को लेकर जाते दिखे : बच्चे के नहीं मिलने पर प्रदीप लोहरा ने इसकी शिकायत चुटिया थाना की पुलिस से की. जब पुलिस ने रेलवे स्टेशन में लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच की, तब उनके बगल में आकर बैठी महिला एवं पुरुष बच्चे को लेकर जाते दिखाई पड़े. इसके बाद सीसीटीवी फुटेज एवं तकनीकी शाखा की मदद से आरोपियों की पहचान की गयी और उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया. आरोपियों ने बच्चे को बेचे जाने की जानकारी दी. इसके बाद आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस की टीम मादी ब्रह्मपुर, कलपंचना गयी और अपहृत बालक शुभम लोहरा को सकुशल बरामद कर लिया. साथ ही बच्चे की खरीदारी करनेवाले दो महिला नुदरत जहां और सुहाना बेगम को गिरफ्तार किया. पूछताछ में सभी ने अपना अपराध स्वीकार कर लिया. इनलोगों ने बताया कि नुदरत जहां के कहने पर महिला राधा साहू, अमित सनातन पाल एवं टिक्की उर्फ सुनील ने बच्चे का अपहरण किया था. इसके बाद पैसे के लालच में आकर बच्चे की चोरी कर 58500 रुपये में बेच दिया. नुदरत जहां को बच्चे को सौंपने के बाद उसने उक्त बच्चे को सुहाना बेगम को बेच दिया था. चूंकि सुहाना बेगम तथा उसकी भाभी को कोई औलाद नहीं थी, जिस कारण उक्त बच्चे को 13 मई को खरीदा गया था. पैसे का भुगतान नुदरत जहां द्वारा फोन पे एकाउंट से अमित पाल के फोन पे के खाते में किया गया था.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें