'स्वच्छ भारत' के लिए कंपनियों ने खोले खजाने

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
नयी दिल्ली. स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कॉरपोरेट कंपनियों को स्कूलों में टॉयलेट बनाने के आह्वान को निजी कंपनियों ने हाथोंहाथ लिया है. महज पांच दिन में मोदी सरकार के 'स्वच्छ भारत' अभियान के लिए 202 करोड़ रुपये घोषित किये जा चुके हैं.इसके तहत टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज(टीसीएस) और भारती एंटरप्राइजेज ने 200 करोड़ रुपये देने की घाषणा की है. इससे पहले 15 अगस्त को ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स(ओबीसी) ने सरकारी प्राथमिक स्कूलों में लड़कों और लड़कियों के लिए 200 टॉयलेट बनाने के लिए दो करोड़ दिये थे. टीसीएस ने कहाकि वह देशभर में 10 हजार स्कूलों में लड़कियों को हाइजिनिक सैनीटेशन मुहैया कराने के लिए 100 करोड़ रुपये खर्च करेंगे. वहीं भारती फाउंडेशन 'सत्य भारती अभियान' के जरिये पंजाब में ग्रामीण घरों में सेनीटेशन सुविधाओं में सुधारेगा. साथ ही पंजाब के लुधियाना जिले को गोद लेगी. इस कार्यक्र म के तहत भारती तीन साल में टॉयलेट बनाने के लिए 100 करोड़ रुपये का निवेश करेगी. साथ ही लुधियाना के ग्रामीण इलाकों की स्कूलों में लड़कियों के लिए टॉयलेट बनाये जायेंगे.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें