26.1 C
Ranchi
Thursday, February 29, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

गोड्डा : पोड़ैयाहाट स्कूल गोलीकांड की घटना से शिक्षक की करतूत से शर्मसार हुआ शिक्षा का मंदिर

घायल शिक्षक रवि रंजन की शादी वर्ष 2016 में हुई थी. शादी महागामा की रहने वाली प्रियंका कुमारी से हुई थी. लेकिन शादी के कुछ ही वर्ष बाद से दोनों के बीच विवाद रहने लगा. प्रियंका ससुराल छोड़कर मायके में रहने लगी.

गोड्डा : पोड़ैयाहाट स्कूल गोलीकांड की घटना ने शिक्षा के मंदिर में हुई करतूत से शर्मसार कर दिया है. बच्चों की बेहतरी और तरक्की का ज्ञान देने वाले शिक्षक की कुकृत्य को जिसने भी सूना, ठीक नहीं कहा. इस गोलीकांड में शिक्षक आदर्श सिंह व शिक्षिका सुजाता की मौत हो गयी, जबकि आरोपी शिक्षक रविरंजन जिंदगी और मौत से जूझ रहा है. मृतक सुजाता दांड़े गांव की रहने वाली थी, जबकि घायल रवि रंजन बांझी का रहने वाला है. दोनों ने एक ही वर्ष 2019 में हाइ स्कूल में शिक्षक की नौकरी शुरू की थी. जबकि मृतक आदर्श कुमार सिंह हाल ही में आया था. वह बीते वर्ष मई माह में उत्तर प्रदेश के चंदौली जिले से नौकरी के लिए आया था. मिली जानकारी के अनुसार दोनों एक साथ ही एक ही वाहन पर आज कल आना जाना करते थे. दोनों के बीच हाल के दिनों में नजदीकियां बढ़ गयी थी. जबकि घायल रवि रंजन सुजाता के साथ पहले से प्रगाढ़ संबंध में था. दोनों की नजदीकियां देखकर रविरंजन से रहा नहीं गया तथा गुस्से में आकर दोनों की जिंदगी समाप्त करने के बाद खुद को भी गोली मारकर खत्म करने का प्रयास किया. जिस समय घटना घटी, दोनों स्कूल के लाइब्रेरी में एक साथ बैठे थे. इसके बाद ही हत्यारोपी शिक्षक रविरंजन कमरे में घुसा तथा गोली मारकर पहले आदर्श की हत्या की, बाद में सुजाता को भी नजदीक से गोली मारा. इसके बाद स्वयं को भी सिर में गोली मारकर खुदकुशी करने का प्रयास किया.

2016 में महागामा की प्रियंका से हुई थी शादीशुदा की शादी

घायल शिक्षक रवि रंजन की शादी वर्ष 2016 में हुई थी. शादी महागामा की रहने वाली प्रियंका कुमारी से हुई थी. लेकिन शादी के कुछ ही वर्ष बाद से दोनों के बीच विवाद रहने लगा. प्रियंका ससुराल छोड़कर मायके में रहने लगी. प्रियंका ने ससुराल पक्ष पर दहेज के लिए प्रताड़ित करने का आरोप लगाते हुए केस भी दर्ज किया था, जो मामला फिलहाल कोर्ट में चल रहा है. हालांकि अब प्रियंका भी बिहार में शिक्षक के पद पर नौकरी कर रही है. घायल की मां ने बताया कि उनका भी नाम में केस में दर्ज किया गया था. हालांकि इस पूरे घटनाक्रम से प्रियंका का कोई लेना-देना नहीं हैं. घायल की मां से यह पूछे जाने पर कि क्या किसी लड़की से प्रेम प्रसंग चल रहा था, तो मां ने इससे इंकार किया. कहा कि कोई जानकारी इस संबंध में नहीं है.

घायल रविरंजन के सिर में लगी थी गोली, बेहतर उपचार के लिए मायागंज रेफर

पोड़ैयाहाट स्कूल गोलीकांड में घायल शिक्षक रवि रंजन को भी सिर में गोली लगी थी. मृतक दोनों शिक्षक आदर्श व सुजाता को गोली मारने के बाद रवि रंजन ने स्वयं के सिर में भी गोली मार ली थी. इसके बाद वह वहीं पर गिर गया था. पुलिस के पहुंचने के बाद रविरंजन को इलाज के लिए गोड्डा भेज दिया गया, जहां अस्पताल में मौजूद चिकित्सक डॉ प्रशांत व अस्पताल के स्वास्थ्यकर्मियों ने बड़ी मुश्किल से घायल शिक्षक का उपचार किया. हालांकि चिकित्सक डॉ प्रशांत मिश्रा ने बताया कि गोली निकल गयी थी. लेकिन गोली लगने की वजह से खोपड़ी के हिस्से का कुछ भाग बाहर आ गया था. घायल शिक्षक बेहोश था तथा सांसे गिन रहा था. प्राथमिक उपचार के बाद शिक्षक को बेहतर उपचार के लिए रेफर कर दिया गया. शिक्षक को 108 एबुलेंस से मायागंज ले जाया गया. वहां उपचार किया जा रहा है, लेकिन घायल शिक्षक की हालत अत्यंत गंभीर थी. इस दौरान घायल की मां, भतीजा तथा भतीजी पहुंची थी. सबों की देखरेख में घायल शिक्षक का उपचार किया जा रहा था.

चतरा की घटना से पोड़ैयाहाट में दिन भर रहा चर्चा का माहौल

पोड़ैयाहाट उत्क्रमित उच्च विद्यालय चतरा में प्रेम प्रसंग के बाद दो शिक्षकों की मौत के बाद लोगों में चर्चा का माहौल गर्म हो गया. गांव के लोग इस बात की चर्चा कर रहे थे कि जहां शिक्षा का मंदिर हो और इस तरह की बात हो रही है. लोगों ने बताया कि इससे बच्चों के बीच बुरा मैसेज जाएगा. ग्रामीण बताते हैं कि जब 11:00 बजे दिन में अचानक आवाज आयी, तो पूरे गांव के ग्रामीण स्कूल पहुंच गये. देखा कि सभी बच्चे स्कूल प्रांगण में आ चुके थे और बच्चे भी काफी भयभीत थे. घटना के बाद सभी बच्चे स्कूल से निकल गये तथा घर की ओर चल गये. घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस प्रशासन पहुंची और लाश को अपने कब्जे में लिया. पुलिस प्रशासन एवं प्रशासनिक स्तर से प्रखंड विकास पदाधिकारी फुलेश्वर मुर्मू, अंचल अधिकारी पुष्पक रजक, उप प्रमुख सुमन भगत, भाजपा नेता देवेंद्र सिंह, कांग्रेस के नेता अरुण साह सहित अन्य लोग पहुंचे.

चतरा स्कूल एक नजर में

जहां घटना हुई है, वहां विद्यालय में बच्चों की संख्या लगभग 1100 है. यहां कुल मिलाकर 18 शिक्षक शिक्षिकाएं. जिसमें नौ शिक्षक एवं 9 शिक्षिकाएं मौजूद थी. सबों की मौजूदगी में यह घटना हुई, जो हृदय विदारक के साथ दुखदायी भी थी. घटना के बाद जो गतिविधि रहीं, उसके बाद स्कूल बंद कर दिया गया. लेकिन पूरे दिन इस बात को लेकर चर्चा होती रही.

क्या कहते हैं ग्रामीण

पहली बार गांव में इस तरह की घटना हुई है. इस घटना की मैं निंदा करता हूं. इस तरह का माहौल स्कूल में नहीं होना चाहिए.

-राजेश भगत, सामाजिक कार्यकर्ता, चतरा

अगर शिक्षक-शिक्षिका के बीच इस तरह का संबंध रहता है, तो फिर शिक्षा व्यवस्था पर भी सवाल उठ जाता है.

-लतीफ अंसारी

गांव में इस तरह की घटना सुनकर काफी दुख हुआ. शिक्षक समाज का एक अभिन्न अंग होता है. लेकिन जो हुआ, दुखदायक है.

-घनश्याम मंडल

गांव में पता चला की गोली कांड हुआ है. मुझे काफी दुख हुआ. क्योंकि सरकारी विद्यालय में गरीबों के बच्चे पढ़ते हैं.

-झगरू ठाकुर

मामले की गहन जांच हो : गजाधर सिंह

पोड़ैयाहाट

विधानसभा क्षेत्र के पूर्व प्रत्याशी गजाधर सिंह ने उत्क्रमित उच्च विद्यालय में शिक्षक-शिक्षिका की मौत के बाद सवाल उठाते हुए कहा कि आखिर इस तरह की घटना स्कूल में होना दुर्भाग्यपूर्ण है. उन्होंने कहा कि चतरा पंचायत मेरा पैतृक गांव है और वहां पर घटना होना समझ से परे हैं. मैं घटना की निंदा करता हूं.

Also Read: झारखंड: गोड्डा के सरकारी स्कूल में शिक्षक ने दो शिक्षकों की गोली मारकर की हत्या, हमलावर शिक्षक की हालत गंभीर

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें