17.1 C
Ranchi
Monday, March 4, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

गिरिडीह : कैश ऑन डिलीवरी का झांसा देकर ठगी कर रहे हैं साइबर अपराधी

गिरिडीह के एसपी ने उपभोक्ताओं को बताया कि ठगी करने के लिए अपराधी कर रहे हैं नये-नये तरीके का इस्तेमाल.

जैसे-जैसे पुलिस साइबर अपराधियों पर अपना दबिश बनाते जा रही है, वैसे-वैसे साइबर अपराधी भी ठगी के नये-नये तरीके का इस्तेमाल कर रहे हैं. अब साइबर अपराधी बड़ी-बड़ी ऑनलाइन कंपनियों के नाम का सहारा लेकर उपभोक्ताओं को ठगी का शिकार बना रहे हैं. यह जानकारी गिरिडीह के एसपी दीपक कुमार शर्मा ने दी. उपभोक्ताओं को सतर्कता बरतने का हिदायत देते हुए कहा कि वे साइबर अपराधियों के झांसे में न आयें. बताया कि अब कैश ऑन डिलीवरी का झांसा देकर लोगों को ठगने का प्रयास किया जा रहा है. अब साइबर अपराधी उपभोक्ताओं को फोन करते हैं कि मैं फ्लिप कार्ट या एमाजोन से बोल रहा हूं. आपका एड्रेस कन्फर्म करने के लिए यह कॉल है और आपके नाम का एक पार्सल आया है. यह पार्सल कैश ऑन डिलीवरी है जिसका मूल्य चुकाकर आप अपने पार्सल को हासिल करें. ऐसी स्थिति में यदि आप कहते हैं कि आपने कोई पार्सल ऑर्डर किया ही नहीं है तो आपको फोन करने वाले के द्वारा यह सुझाव दिया जायेगा कि आप ऑर्डर केैंसिल करने के लिए अपने फोन पर *401# दबावें और फिर वह एक नंबर आपको डायल करने को कहेगा. यदि आप ऐसा करते हैं तो थोड़ी ही देर में आपकी राशि बैंक खाते से निकाल ली जायेगी. बताये गये नंबर पर डायल करने से आपका पूरा कॉल और एसएमएस डायवर्ट हो जाता है. ऐसी स्थिति में आपके मोबाइल पर आने वाला ओटीपी उसकी नजर में होगा जिसके जरिये वह आपके बैंक खाते से राशि की निकासी कर सकेगा. ऐसे साइबर अपराधियों से आम लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है.

एटीएम से पैसा निकालने गये उपभोक्ता का पैसा मशीन में फंसाकर ठगने के मामले में एक गिरफ्तार

एटीएम से पैसा निकालने गये एक उपभोक्ता का पैसा मशीन में फंसाकर उस पैसे को बाद में निकासी करने की कोशिश में एक युवक को पुलिस ने रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया है, जबकि दूसरा उसका सहयोगी भागने में सफल रहा. घटना मुफस्सिल थाना क्षेत्र के डांड़ीडीह के पास स्थित बैंक ऑफ इंडिया के एटीएम में हुई है. मिली जानकारी के अनुसार संजय कुमार सिंह नामक व्यक्ति एटीएम से दस हजार रुपये का निकासी करने के लिए अपना एटीएम कार्ड मशीन में डाला. मशीन में डालते ही दस हजार निकासी का एसएमएस उसके मोबाइल पर तो आ गया, लेकिन मशीन से राशि नहीं निकली. राशि नहीं निकलने के बाद संजय एक परिचित को एटीएम मशीन के पास रखकर दूसरा एटीएम कार्ड लाने चला गया. जब वह वापस लौटा तो उसे बताया गया कि दो व्यक्ति एटीएम के कैश स्लॉट में कुछ छेड़छाड़ कर रहे हैं. जब दोनों युवकों से पूछताछ शुरू हुई तो घबराकर दोनों भागने लगा. इसी क्रम में एक युवक को स्थानीय लोगों के सहयोग से पकड़ लिया गया, जबकि दूसरा युवक भागने में सफल हो गया. जब इसकी सूचना महतोडीह पुलिस पिकेट के पेट्रोलिंग पार्टी को हुई तो पुलिस ने पहुंचकर पकड़े गये युवक को हिरासत में लिया और पूछताछ शुरू की. हिरासत में लिये गये संजीव कुमार ने बताया कि वह बिहार के गया जिले के फतेहपुर का रहने वाला है. जबकि दूसरा फरार युवक दीपू कुमार बिहार के नवादा का है. आरोपी संजीव कुमार ने कैश ड्रावल स्लॉट से पैसा फंसाकर बाद में निकालने की पूरी घटनाक्रम को विस्तार से बताया. उसने अपने साथ लाये गये दस इंच लंबा दो इंच चौड़ा सन्माइका और लोहा का बना हुआ फ्रेम दिखाया. डेमो दिखाकर बताया कि वह किस तरह से कैश ड्रावल स्लॉट के उपरी हिस्से में छेड़छाड़ करता है और राशि फंसाकर रखता है. जब एटीएम से राशि निकालने गये व्यक्ति का रुपया कैश ड्रावल स्लॉट में फंस जाता है और उसे राशि नहीं मिलती है तो उसके जाने के बाद साइबर अपराधी कैश ड्रावल स्लॉट से राशि की निकासी कर लेते हैं. पुलिस ने गिरफ्तार संजीव कुमार के पास से सन्माईका की दो पीस पट्टी, टीना की चार पीस पट्टी, करंसी फंसाने का एक पीस स्टील इंस्ट्रूमेंट, एक एप्पल का मोबाइल फोन और एक अपाची मोटरसाइकिल बरामद करने में सफलता हासिल की है. दूसरे अभियुक्त की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने छापामारी अभियान तेज कर दिया है. संजीव ने पूछताछ में यह भी बताया कि उसने यू ट्यूब में देखकर सीखा कि एटीएम मशीन से पैसे की ठगी कैसे की जाती है. उसने कबूल किया है कि और भी कई स्थानों पर उसने मशीन से छेड़छाड़ कर राशि ठगने में सफलता पायी है.

फिर छह साइबर अपराधी लिये गये हिरासत में

पुलिस द्वारा चलाये गये छापामारी अभियान में फिर छह साइबर अपराधियों को हिरासत में लिया गया है. बताया जाता है कि साइबर डीएसपी संदीप सुमन समदर्शी के नेतृत्व में टीम ने जिले के अहिल्यापुर, बेंगाबाद, गांडेय समेत कई थाना क्षेत्रों में छापामारी की है और कई लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ किया है. बताया जा रहा है कि इनमें से छह अपराधी ऐसे हैं जो साइबर अपराध से जुड़े हुए हैं और पुलिस इन संदिग्ध साइबर अपराधियों से अभी भी गहन पूछताछ कर रही है. बताया जा रहा है कि इनके निशानदेही पर और भी कुछ लोगों की गिरफ्तारी हो सकती है. फिलहाल पुलिस ने छापामारी अभियान को क्लोज नहीं किया है. साइबर डीएसपी संदीप सुमन समदर्शी ने बताया कि छापामारी जारी है. कई लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि हिरासत में लिये गये लोगों से कई महत्वपूर्ण जानकारियां भी हासिल हुई है.

Also Read: गिरिडीह : तीन मवेशियों के साथ एक व्यक्ति को पकड़कर पुलिस को सौंपा

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें