24.1 C
Ranchi
Thursday, February 22, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

HomeबिहारपटनाBihar Weather: बिहार में ठंड से मौत का सिलसिला जारी, तापमान 6 डिग्री से नीचे गिरा

Bihar Weather: बिहार में ठंड से मौत का सिलसिला जारी, तापमान 6 डिग्री से नीचे गिरा

Bihar Weather राज्य भर में अधिकतम तापमान में पिछले 24 घंटे में दो से चार डिग्री और न्यूनतम तापमान में दो से आठ डिग्री सेल्सियस तक की कमी दर्ज की गयी है.

बिहार में पश्चिमी हिमालय क्षेत्र से आने वाली सर्द हवाओं ने पूरे राज्य को कंपकंपाना शुरू कर दिया है. राज्य में शीत लहर जैसी स्थिति महसूस हो रही है. शनिवार प्रदेश के अधिकांश जिलों में पारा 10 डिग्री सेल्सियस से भी नीचे चला गया. ग्रामीण क्षेत्रों में पूरे राज्य में शीत लहर जैसी स्थिति हो गई है. नरकटियागंज में ठंड से अभी तक एक छात्र की मौत की सूचना है.

Also Read: Bihar Weather: बिहार में इस तारीख तक रहेगा कोल्ड डे, जानें कब मिलेगी ठंड से राहत

शुक्रवार को राज्य में सर्वाधिक कम न्यूनतम तापमान गया में 4.9 दर्ज किया गया है, जो इस सीजन का भी सबसे कम है. गया के इस न्यूनतम तापमान में गुरुवार की तुलना में 8.6 डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गयी है. राज्य भर में अधिकतम तापमान में पिछले 24 घंटे में दो से चार डिग्री और न्यूनतम तापमान में दो से आठ डिग्री सेल्सियस तक की कमी दर्ज की गयी है. राज्य के अधिकतर जगहों पर सुबह घना और अधिक घना कोहरा छाया रहा. इसकी वजह से तापमान में अच्छी-खासी गिरावट दर्ज की गयी है. ठिठुरन महसूस की गयी.

पूर्णिया में घना कोहरा के साथ शुरू हुई सुबह 

बिहार के पूर्णिया में शनिवार की सुबह घना कोहरा के साथ हुई. पिछले तीन दिनों से लगातार बढ़ती ठंड ने अब भीषण शीतलहर का रूप ले लिया है. आलम यह है कि कोहरे और शीतलहर से राहत के आसार भी नहीं हैं. मौसम विशेषज्ञों की मानें तो सर्दी का सितम अभी दो दिन और सतायेगा. इस बीच कोल्ड डे जैसी स्थिति भी बन सकती है जबकि सर्दी का सितम बढ़ता जा रहा है. दोपहर बाद हल्की धूप जरूर निकली, लेकिन सर्दी से राहत नहीं दिला पायी. पिछले तीन दिनों से सर्दी जोरों पर है.

Also Read: Bihar Weather: बिहार में पछिया हवा से बढ़ी ठंड, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट…

सुबह के समय घना कोहरा होने की वजह से लोग घरों में दुबके रहते हैं. घना कोहरा के कारण सुबह और शाम सड़कों पर वाहन रेंगते नजर आते हैं. यहीं नहीं सर्दी बढ़ने से सांस और दिल के मरीजों की भी परेशानी बढ़ रही है. शहर के बाजार सुबह 10 बजे खुलते हैं, लेकिन सुबह के समय कोहरा होने के कारण दुकानें भी देर से खुल रही हैं. दोपहर तक बाजार में ग्राहक कम ही नजर आते हैं. शनिवार को दोपहर करीब 11 बजे तक धूप नहीं निकली. उसके बाद धुंध छटे तो हल्की धूप निकली. लेकिन शीतलहर चलने से सर्दी का सितम कम नहीं हुआ. ठंड ने अब जिस तरह रफ्तार पकड़ ली है उससे जिससे आम लोगों का जीना मुहाल हो गया है. ठंड के कारण आम जन जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. लोगों का दैनिक कामकज तक प्रभावित हो रहा है.

भागलपुर में शीतलहर से बढ़ी ठिठुरन, तापमान चार डिग्री गिरा

भागलपुर जिले में शनिवार से शीतलहर का प्रकोप बढ़ गया. सर्द पछिया हवा चलने से ठिठुरन काफी बढ़ गयी. अधिकतम तापमान में गिरावट से दिन में भी लोग ठिठुरते रहे. हालांकि, दोपहर बाद निकली हल्की धूप निकली, लेकिन इससे ठंड से रत्ती भर भी राहत नहीं मिली. दिन में भी लोग घरों में दुबके रहे. शाम ढलते ही एक बार फिर से सर्द हवाओं ने पूरे जिले को अपने आगोश में ले लिया. शनिवार को तड़के सुबह न्यूनतम तापमान 7.4 डिग्री रहा. जबकि दोपहर के समय अधिकतम तापमान चार डिग्री कम होकर 16 डिग्री तक पहुंच गया. ठंड के साथ जिले में वायु प्रदूषण की स्थिति काफी गंभीर रही. शहर के मायागंज इलाके का एयर क्वालिटी इंडेक्स 410 रिकॉर्ड किया गया.

17 जनवरी से तापमान में बढ़ोतरी होगी

बीएयू के ग्रामीण कृषि मौसम सेवा के नोडल पदाधिकारी डॉ सुनील कुमार के अनुसार 14 से 16 जनवरी के बीच भागलपुर में तापमान में कमी बनी रहेगी. सुबह में कोहरा रहेगा, दिन में हल्की धूप ही निकलेगी. इस दौरान पश्चिमी हवा चलने की संभावना है. 17 जनवरी से तापमान में हल्की वृद्धि की संभावना है. किसान भाइयों को सलाह दिया जाता है कि तेज हवा में गेहूं की फसल पर किसी भी प्रकार का छिड़काव न करें. सब्जियों में आवश्यकता अनुसार सिंचाई करें. सरसों की फसल का निरीक्षण करते रहें, अभी माहू कीट के प्रकोप की संभावना ज्यादा है. आलू की फसल में पिछैती झुलसा रोग लगने की संभावना अभी रहती है, निरंतर निरीक्षण करते रहें.

दरभंगा  सामान्य से सात डिग्री नीचे पहुंचा पारा

बिहार के दरभंगा का तापमान के पारा में गिरावट का क्रम लगातार तीसरे दिन जारी रहा, लिहाजा ठिठुरन बढ़ती ही चली जा रही है. शनिवार को तापमान का पारा सामान्य से सात डिग्री नीचे चला गया. पूरे दिन कनकनी का एहसास होता रहा. शाम ढलते ही इसमें और इजाफा हो गया. लोगों को अपने घरों में दुबकने के लिए विवश कर दिया. हालांकि दोपहर में सूर्यदेव के दर्शन हुए, लेकिन दर्शन मात्र ही हुए. धूप पूरी तरह नहीं खिली. इसमें गरमाहट का अनुभव बिल्कुल नहीं हो रहा था. हालांकि इसकी वजह सर्द पछुआ हवा रही. लगातार तीन दिनों तक धूप नहीं निकली. जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया.

सामान्य से अधिक उच्चतम तापमान रहने लगा. लोग भीषण ठंड से राहत महसूस कर ही रहे थे कि पिछले गुरुवार से एक बार फिर मौसम ने करटव बदली और तापमान का पारा नीचे खिसकने लगा. यह सिलसिला लगातार तीसरे दिन जारी रहा. गत बुधवार को जहां सामान्य से 1.7 डिग्री अधिक उच्चतम तापमान रिकॉर्ड किया गया, वहीं इसके अगले ही दिन यानी गुरुवार 11 जनवरी को जोरदार गिरावट आ गयी. उच्चतम तापमान सामान्य से 5.1 डिग्री नीचे चला गया. हालांकि शुक्रवार इसमें थोड़ी सी वृद्धि हुई, बावजूद यह सामान्य से 4.3 डिग्री कम रही रहा. इधर, शनिवार को यह सामान्य से सात डिग्री नीचे चला गया. केंद्रीय कृषि विवि पूसा के मौसम विज्ञान विभाग की ओर से जारी सूचना के अनुसार आज का औसत उच्चतम तापमान 15.2 डिग्री रहा, जबकि मौसम के अनुसार इसे 22.2 डिग्री होना चाहिए था.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें