14.1 C
Ranchi
Friday, March 1, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Bihar Politics: फिर छलका जीतनराम मांझी का दर्द, बोले-एक रोटी से नहीं भरता पेट, इसलिए मांग रहे दो रोटी

जहानाबाद के सर्किट हाउस में जीतनराम मांझी ने मीडिया कर्मियों से कहा कि हम दो मंत्री पद की मांग कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि हमारा पेट एक रोटी से नहीं भरता इसलिए दो रोटी मांग रहे हैं.

बिहार में एनडीए सरकार बनने के बाद हम पार्टी को भारी-भरकम विभाग नहीं दिये जाने पर खुले मंच से पार्टी के संरक्षक सह पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने अपना दर्द व्यक्त कर दिया है. पहले उन्होंने गया में एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि हम पार्टी को मंत्रिमंडल में जगह मिली, लेकिन वही पुराना विभाग दे दिया गया है. इसके बाद अपने गांव गया के महाकार से पटना लौटने के दौरान जहानाबाद के सर्किट हाउस में उन्होंने मीडिया कर्मियों से बात करते हुए कहा कि हम दो मंत्री पद की मांग कर रहे हैं.

हम गरीबों की राजनीति करते हैं

जहानाबाद में मांझी ने कहा कि मेरा पेट एक रोटी में नहीं भरता इसलिए दो-तीन रोटी की मांग कर रहे हैं. लेकिन ये हमारे घर की बात है और हम अपने नेता से मांग कर रहे हैं. मांझी ने कहा कि हम गरीबों की राजनीति करते हैं, इसलिए हमें ऐसा विभाग दिया जाना चाहिए जिससे हम ग्रामीण इलाकों और गरीबों के विकास के लिए कार्य कर सकें. हम प्रमुख ने आगे कहा कि हम पहले से कहते आएं है कि जो विभाग मुझे मिलता आया है. वहीं विभाग मेरे बेटे को भी मिला है यह सही नहीं है.

मुझे और बाद में मेरे बेटे को भी यही विभाग दिया गया

वहीं, इससे पहले मांझी ने गया के वजीरगंज की एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि हम पार्टी से दूसरी बार प्रदेश के मंत्रिमंडल में जगह दी गयी है. लेकिन, विभाग वही पुराना ही दे दिया गया है. 1983 से ही मुझे और बाद में मेरे बेटे को भी यही विभाग दिया गया. क्या हमारा हक नहीं है कि प्रदेश के विकास का काम करें. उन्हें अनुसूचित जाति जन जाति ही हर बार थमा दिया जाता है.

रोड, चापाकल लगाने वाले विभाग का हक क्या हमारा नहीं

मांझी ने कहा कि बाराचट्टी विधायक ज्योति मांझी ने इस पर काफी नाराजगी उनके पास व्यक्त की है. विधायक ने कहा कि क्या उनका हक नहीं है कि रोड, चापाकल आदि लगाने का विभाग मिले. मांझी ने इशारों में यह भी स्पष्ट कर दिया कि वो संतोष कुमार सुमन को मिले विभाग से संतुष्ट नहीं है.

हक की लड़ाई लड़ेंगे

मांझी ने एक जिक्र करते हुए कहा कि नीतीश कुमार ने उन्हें मुख्यमंत्री बनाया था. जब वे काम करने लगे, तो किसी को रास नहीं आया. अपने भाषण में पूर्व मुख्यमंत्री ने अपने मुख्यमंत्री कार्यकाल के दौरान किये गये कार्यों को भी गिनाया. उन्होंने कहा कि हम नीतीश कुमार और नरेंद्र मोदी के साथ हैं. लेकिन, हम विधानसभा में भी अपने हक की लड़ाई लड़ेंगे. किसी से डर नहीं सकते.

Also Read: Bihar Politics: जीतन राम मांझी का छलका दर्द, कह दी बड़ी बात, बिहार में बढ़ा राजनीतिक तापमान…

बरकरार रहेगी एनडीए की सरकार

जीतन राम मांझी ने यह भी कहा कि 12 जनवरी को विधानसभा में एनडीए सरकार का फ्लोर टेस्ट होना है, वह जरूर सफल होगी. इसमें कोई अगर-मगर का सवाल नहीं उठाता और बिहार में नई एनडीए सरकार बरकरार रहेगी.

Also Read: जीतन राम मांझी को लेकर मुकेश सहनी ने NDA से की ये मांग, 2024 के चुनाव पर भी साफ कर दी अपनी मंशा…

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें