16.1 C
Ranchi
Sunday, February 25, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Homeबड़ी खबरCRPF: बडगाम में शहीद विशाल को दी गयी श्रद्धांजलि, CM नीतीश और कश्मीर के LG मनोज कुमार ने जताया...

CRPF: बडगाम में शहीद विशाल को दी गयी श्रद्धांजलि, CM नीतीश और कश्मीर के LG मनोज कुमार ने जताया शोक

CRPF: मुंगेर के हवेली खड़गपुर प्रखंड क्षेत्र की नाकी पंचायत के नाकी गांव निवासी सीआरपीएफ के हेड कांस्टेबल विशाल कुमार को सीआरपीएफ ने बडगाम में श्रद्धांजलि दी.

CRPF: मुंगेर के हवेली खड़गपुर प्रखंड क्षेत्र की नाकी पंचायत के नाकी गांव निवासी सीआरपीएफ के हेड कांस्टेबल विशाल कुमार को सीआरपीएफ ने बडगाम में श्रद्धांजलि दी. वहीं, सीआरपीएफ ने ट्वीट कर कहा है कि ”हम 132 बटालियन के सीआरपीएफ के हेड कांस्टेबल विशाल कुमार की वीरता और कर्तव्यपरायणता को सलाम करते हैं, जिन्होंने 4 अप्रैल, 22 को मैसूमा, श्रीनगर, जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी हमले का बहादुरी से जवाबी कार्रवाई करते हुए सर्वोच्च बलिदान दिया. हम अपने बहादुर परिवार के साथ खड़े हैं.”

वहीं, जम्मू और कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज कुमार ने भी ट्वीट कर संवेदना व्यक्त की है. उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि ”नागरिकों और सीआरपीएफ कर्मियों पर कायरतापूर्ण आतंकी हमले की कड़ी निंदा करते हैं. शहीद हेड कांस्टेबल विशाल कुमार के परिवार के प्रति मेरी गहरी संवेदना और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना. हमारे सुरक्षा बल घिनौने हमलों के साजिशकर्ताओं को मुंहतोड़ जवाब देंगे.”

इधर, घटना की सूचना मिलने के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दुख जताते हुए मीडिया कर्मियों से कहा कि ”जानकारी मिलने पर संबंधित अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिये गये हैं. शहीद का पार्थिव शरीर आज आनेवाला है. बिहार सरकार पीड़ित परिवार को हरसंभव सहायता उपलब्ध करायेगी. साथ ही उचित सम्मान के साथ शहीद का अंतिम संस्कार किया जायेगा.”

मालूम हो कि कश्मीर के श्रीनगर के मैसूमा इलाके में आतंकियों के अचानक हमले में मुंगेर के हवेली खड़गपुर प्रखंड क्षेत्र की नाकी पंचायत के नाकी गांव निवासी सरयुग मंडल का 30 वर्षीय पुत्र विशाल कुमार उर्फ धर्मेंद्र जम्मू और कश्मीर के मैसुमा लाल चौक के समीप आतंकियों के एक कायराना हमले में शहीद हो गये.

Also Read: Munger: कश्मीर में हुए आतंकी हमले में बिहार का लाल शहीद, आज पैतृक गांव आयेगा विशाल का पार्थिव शरीर

विशाल सीआरपीएफ में हेड कांस्टेबल थे और कश्मीर में ड्यूटी पर तैनात थे. शहीद होने की सूचना मिलने के बाद गांव में मातम पसर गया है. वहीं, परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है. आज देर रात शहीद का पार्थिव आने की सूचना है. वे हाल ही में 10 दिनों की छुट्टी अपने पैतृक गांव में बीता कर 25 मार्च को ड्यूटी पर लौटे थे.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें