Advertisement

saharsa

  • Dec 3 2019 7:01PM
Advertisement

अवैध संबंध एवं गलत काम का विरोध करना पड़ा महंगा, रिश्ते के भतीजे व उसके दोस्तों ने मिल कर दी हत्या

अवैध संबंध एवं गलत काम का विरोध करना पड़ा महंगा, रिश्ते के भतीजे व उसके दोस्तों ने मिल कर दी हत्या

सहरसा : अपने भतीजे व उसके दोस्तों को गांव में गलत कार्य व अवैध संबंध को लेकर बार-बार बनगांव थाना क्षेत्र के सफाबाद निवासी हीरा हाड़ी को टोकना महंगा पड़ गया. सभी ने मिलकर धारदार हथियार से उसके गुप्तांग सहित अन्य जगहों पर वार कर मार डाला. पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते सदर एसडीपीओ प्रभाकर तिवारी के नेतृत्व में बनगांव थानाध्यक्ष, स्वान दस्ता व तकनीकी अनुसंधान की मदद से रंजीत कुमार हाड़ी, आकाश कुमार व विजय हाड़ी को गिरफ्तार किया.

वहीं, पुलिस ने घटना में प्रयुक्त किये गये तीन छूरी, एक दबिया, एक खून से सना हुआ गंजी, दो जोड़ी चप्पल, तीन मोबाइल, एक मिर्च पाउडर का खाली पैकेट बरामद किया. पुलिस कार्यालय में मंगलवार को आयोजित प्रेसवार्ता को संबोधित करते एसपी राकेश कुमार ने कहा कि घटना के बाद मृतक की पत्नी पूनम देवी के बयान पर एक नामजद पर मामला दर्ज किया गया. परिजनों ने जमीन विवाद में हत्या की बात कही.

पुलिस अनुसंधान में मामला दूसरा निकला और 24 घंटे के अंदर तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया. फरार चल रहे तीन आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है. प्रेसवार्ता में सदर एसडीपीओ प्रभाकर तिवारी, बनगांव थानाध्यक्ष राम इकबाल पासवान, सअनि एनके सिंह, सअनि शर्मा सहित अन्य मौजूद थे.

लड़की छेड़खानी के बहाने बुलाया
एसपी ने बताया कि घटना के बाद पुलिस अनुसंधान कर रही थी. जिसमें सामने आया कि देर शाम सात बजे मृतक के मोबाइल पर फोन आया और वह घर से साइकिल से निकल कर गया. अहले सुबह शव बरामद किया गया. पुलिस ने जब मृतक के मोबाइल पर अनुसंधान की तो मामला से पर्दा उठ गया. पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते आरोपी विजय हाड़ी को गिरफ्तार किया. पूछताछ में उसने घटना में संलिप्तता स्वीकार कर अपने अन्य सहयोगियों का नाम बताया.

जिसके आधार पर रंजीत कुमार हाड़ी व आकाश कुमार को गिरफ्तार कर पूछताछ की गयी तो सभी ने अपनी संलिप्तता स्वीकार कर बताया कि मृतक हमेशा उनलोगों को टोकता था. जिसके बाद सभी ने मिलकर उसे मारने की योजना बनायी. घटनास्थल पर उसे बुलाने के लिए उसके मोबाइल पर फोन कर बगीचा के समीप एक लड़की के साथ कुछ युवकों द्वारा छेड़खानी किये जाने की बात कही. जिस पर वह साइकिल से वहां पहुंचा. जिस लड़की से आरोपियों का अवैध संबंध था, वह वहीं थी. इसी दौरान आरोपियों ने उसके गुप्तांग व अन्य जगहों पर धारदार हथियार से वार कर मार डाला.

नामजद को मिला न्याय

एसपी ने बताया कि घटना के बाद जब परिजनों को यह पता चला कि घटना को अंजाम उनके ही रिश्तेदारों ने दी है तो उनलोगों ने मामले को जमीन विवाद से जोड़ दिया. पुलिस ने मृतक की पत्नी के आवेदन पर नामजद अभियुक्त बने संतोष गुप्ता को गिरफ्तार भी कर लिया. लेकिन, वह बार-बार अपने आप को बेगुनाह बता रहा था. मामले का वैज्ञानिक अनुसंधान किया गया तो वह सही में बेगुनाह निकला. जिसके बाद उसे थाना से छोड़ दिया गया.

वहीं, पुलिस ने जांच में छह की संलिप्तता पायी. एसपी ने बताया कि घटना को अंजाम देने में तीन उसके रिश्ते में भतीजा ही है और तीन रिश्तेदार है. उन्होंने कहा कि हत्या जैसी घटना में भी पुलिस ने अनुसंधान से नामजद बनाये गये व्यक्ति को न्याय दिया है. इससे पूर्व भी इसी साल मार्च माह में दंत चिकित्सक हत्या मामले में एक चिकित्सक को नामजद किया गया था. लेकिन, अनुसंधान में उनकी संलिप्तता सामने नहीं आयी तो उन्हें पुलिस ने न्याय देने का काम किया.

रोंची सहित टीम को मिलेगा पुरस्कार
एसपी ने बताया कि घटना के 24 घंटे के अंदर सफल उद्भेन के लिए उनके द्वारा कोसी प्रक्षेत्र के डीआइजी को सदर एसडीपीओ के नेतृत्व में गठित टीम व स्वान दस्ता के रोंची व तकनीकी टीम को पुरस्कृत करने के लिए अनुशंसा की जायेगी.

युवती की भूमिका की होगी जांच
एसपी श्री कुमार ने बताया कि जिस युवती से आरोपियों के अवैध संबंध व घटनास्थल पर उसकी मौजूदगी की बात सामने आयी है. उसकी भूमिका की जांच की जा रही है. संलिप्तता सामने आने पर कार्रवाई की जायेगी.
 

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement