Advertisement

ranchi

  • Sep 19 2019 8:55AM
Advertisement

रांची : एचइसी में बनी हाइड्रोलिक शॉवेल लांच, कम होगी ईंधन की खपत

रांची : एचइसी में बनी हाइड्रोलिक शॉवेल लांच, कम होगी ईंधन की खपत
एचइसी ने ही तैयार किया है इस मशीन का डिजाइन
रांची : एचइसी में बुधवार को अर्थ फाइव क्यूबिक मीटर क्षमता वाली हाइड्रोलिक शॉवेल की लांचिंग की गयी. भारी उद्योग सचिव डॉ एआर सिहाग, एचइसी के सीएमडी एमके सक्सेना,   निदेशक वित्त  अरुंधति पांडा सहित अन्य अधिकारियों ने इसे लांच किया. गौरतलब है कि इस शॉवेल का डिजाइन और निर्माण एचइसी ने ही किया है. 
 
उदघाटन के बाद इस मशीन की खासियत के बारे में बताया गया और इसका प्रेजेंटेशन भी दिखाया गया. बताया गया कि उच्च तकनीक से बनी इस मशीन में ईंधन की कम खपत होती है. जबकि इसका रखरखाव बहुत आसान है. मशीन में वैकल्पिक इलेक्ट्रिक ड्राइव मौजूद है. 
 
साथ ही इसके संचालन के लिए 405 किलोवाट डीजल इंजन लगा हुआ है. मशीन को ऑपरेटर के आराम और सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए तैयार किया गया है. इसमें वातानुकूलित केबिन बनाया गया है. नियमित सर्विसिंग और साफ सफाई में सहूलियत के लिए कई  सुविधाएं भी दी गयी हैं. कार्यक्रम के दौरान भारी उद्योग सचिव डॉ सिहाग ने एचइसी के विकास के लिए हरसंभव सहयोग देने का आश्वासन दिया.
 
कार्यक्रम में एचइसी के निदेशक विपणन राणा एस चक्रवर्ती,  डीएचआइ  की संयुक्त सचिव सुकृति लिक्खी, निदेशक तकनीकी सीसीएल   वीके श्रीवास्तव, निदेशक कार्मिक सीसीएल आरएस महापात्रा, निदेशक खनन एसके  भट्टाचार्य, मेकन, बीइएमएल, आइअाइटी खड़गपुर, आइअाइटी-आइएसएम धनबाद, निफ्ट  सहित अन्य प्रतिष्ठानों के प्रतिनिधि उपस्थित थे.
 
एचइसी में पहली बार बनी है ऐसी मशीन
 
भारी उद्योग सचिव डॉ एआर सिहाग ने कहा कि एचइसी ने पहली बार इस तरह की मशीन बनायी है. यह गर्व की बात है. मशीन की लांचिंग के समय कामगारों ने ‘भारत माता की जय...’ नारे लगाये. इस पर भारी उद्योग सचिव ने कहा : हमें अपनी निष्ठा और लगन के साथ कंपनी को आगे ले जाने की दिशा में प्रयास करना होगा. इसके बाद स्वत: भारत माता की जय होगी. उन्होंने एचइसी कर्मियों को इस उपलब्धि के लिए बधाई दी है.
 
Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement