Advertisement

patna

  • May 28 2019 7:06PM
Advertisement

तेजप्रताप का विरोधियों को जवाब, कहा- जिसको तेजस्वी के नेतृत्व पे कोई शक है वो राजद छोड़ दे

तेजप्रताप का विरोधियों को जवाब, कहा- जिसको तेजस्वी के नेतृत्व पे कोई शक है वो राजद छोड़ दे
FILE PIC

पटना : लोकसभा चुनाव में महागठबंधन को बिहार में मिली करारी हार के बाद राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के भीतर उठ रहे विरोध के सुर एवं लालू प्रसाद यादव की गैरमौजूदगी में तेजस्वी यादव के नेतृत्व क्षमता पर दबे जबान से उठाये जा रहे सवालों के बीच तेजप्रताप यादव ने बड़ा बयान दिया है. अपने अर्जुन का समर्थन करते हुए तेजप्रताप यादव ने ट्वीट किया है और विरोधियों पर निशाना साधते हुए उन्होंने लिखा है, जिसको तेजस्वी के नेतृत्व पे कोई शक है वो राजद पार्टी छोर दे.


इससे पहले लोकसभा चुनाव का परिणाम को लेकर पटना के 10 सर्कुलर रोड पर स्थित पूर्व सीएम राबड़ी देवी के आवास पर राजद की समीक्षा बैठक में पार्टी के प्रमुख लालू यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव खुद तो मौजूद नहीं रहे. लेकिन, उन्होंने अपनी उपस्थिति जरूर दर्ज करवाते हुए बैठक में पार्टी के तमाम वरिष्ठ नेताओं और राजद के हारे हुए सभी प्रत्याशियों की मौजूदगी में तेजस्वी यादव के नाम उन्होंने एक मैसेंजर के साथ खत भेजा. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, तेजप्रताप यादव ने इसमें अपने मन की बात बतायी और अपने अर्जुन को कुछ सलाह भी दी.

ये भी पढ़ें... बिहार में महागठबंधन को मिली करारी हार पर RJD के वरिष्ठ नेता ने दिया ये बड़ा बयान

तेजप्रताप ने अपने पत्र में तेजस्वी को अर्जुन कहकर संबोधित करते हुए इशारों में निशाना साधा है. उम्मीदवारों के चयन पर सवाल उठाते हुए तेजप्रताप ने लिखा है कि साफ और समर्पित लोगों को ही उम्मीदवार बनाना चाहिए था. अपनी पीड़ा व्यक्त करते हुए तेजप्रताप ने कहा कि मैंने सिर्फ दो सीटें ही मांगी थीं. जिसने टिकट बांटा और जो चुनाव लड़े उन्हें जिम्मेदारी लेनी चाहिए. हालांकि, उन्होंने  2020 में साथ मिलकर काम करने की इच्छा जतायी है. उन्होंने तेजस्वी से आग्रह करते हुए लिखा है कि पार्टी की एकता बनाए रखते हुए बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में स्वच्छ एवं योग्य उम्मीदवारों को ही टिकट दें.

ये भी पढ़ें... लालू पर सुशील मोदी का वार, कहा- जली हुई रस्सी की राख में बची रहती है ऐंठन

Advertisement

Comments

Advertisement
Advertisement