Advertisement

bbc news

  • Jan 11 2019 7:50AM

आलोक वर्मा ने कहा, झूठे आरोपों के आधार पर सीबीआई से हटाया: आज की पाँच बड़ी ख़बरें

आलोक वर्मा ने कहा, झूठे आरोपों के आधार पर सीबीआई से हटाया: आज की पाँच बड़ी ख़बरें

आलोक वर्मा

Getty Images

केंद्रीय जाँच ब्यूरो यानी सीबीआई के निदेशक पद से हटाए गए आलोक वर्मा ने समाचार एजेंसी पीटीआई से कहा है कि 'झूठे, अप्रमाणित और बेहद हल्के' आरोपों को आधार बनाकर उनका ट्रांसफ़र किया गया है.

उन्होंने कहा कि ये आरोप भी सिर्फ़ एक शख़्स ने लगाए हैं और जो उनसे द्वेष रखते हैं.

आलोक वर्मा को गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली उच्च अधिकार प्राप्त समिति ने सीबीआई के निदेशक पद से हटा दिया था. इस समिति में जस्टिस एके सीकरी और लोकसभा में प्रतिपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे शामिल हैं.

वर्मा अब अग्निशमन सेवा, नागरिक सुरक्षा और होम गार्ड के महानिदेशक होंगे.

दो दिन पहले सुप्रीम कोर्ट ने आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजने के मोदी सरकार के फ़ैसले को निरस्त कर दिया था. इसके बाद आलोक वर्मा ने बुधवार को अपना कार्यभार दोबारा संभाला था.

वर्मा ने कहा कि भ्रष्टाचार के मामलों की जाँच करने वाली प्रमुख एजेंसी सीबीआई की स्वतंत्रता क़ायम रखी जानी चाहिए और इसकी रक्षा की जानी चाहिए.

पीएम स्कीम के नाम पर ठगा

दिल्ली पुलिस (फ़ाइल फोटो)
EPA

दिल्ली पुलिस ने एक ऐसे शख़्स को गिरफ़्तार किया है जो प्रधानमंत्री आवास योजना के नाम पर 2000 ग़रीब लोगों से तीन करोड़ रुपये से ज़्यादा की ठगी कर चुका है. पुलिस के मुताबिक़ गिरफ़्तार शख़्स राजेन्द्र कुमार त्रिपाठी फ़रीदाबाद का रहने वाला है.

क्राइम ब्रांच के डीसीपी भीष्म सिंह ने बताया कि राजेन्द्र ने दिल्ली के नेहरू प्लेस में एक ट्रस्ट का दफ़्तर खोल रखा है जिसका नाम नेशनल हाउसिंग डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन है. उसने एक वेबसाइट भी बना रखी है जिसमें प्रधानमंत्री की तस्वीर लगाई थी.

मूलरूप से गोरखपुर के रहने वाले राजेन्द्र ने कॉमर्स से स्नातक करने के बाद एलआईसी के नाम पर एक एनजीओ खोला और ग्रामीण क्षेत्र में महिलाओं से अलग-अलग योजनाओं में पैसा जमा करने के नाम पर ठगी करने लगा. राजेन्द्र ने प्रधानमंत्री आवास योजना में लोगों के मकान बनाने के नाम पर क़रीब 2000 ग़रीबों से क़रीब तीन करोड़ रुपये ठग लिए.

1984 सिख विरोधी दंगे: एक को फांसी, एक को उम्रकैद

दिल्ली पुलिस की 'चार्लीज़ एंजल्स'

तस्वीर से छेड़छाड़ पर जेल

शेख हसीना
Reuters

बांग्लादेश में एक व्यक्ति को प्रधानमंत्री शेख़ हसीना और भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह सहित कई नेताओं की तस्वीरों के साथ छेड़छाड़ करने के आरोप में सात साल की जेल की सज़ा सुनाई गई है.

दक्षिणपंथी समूहों ने सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि शेख़ हसीना सरकार सख़्त इंटरनेट क़ानूनों का उपयोग असंतुष्टों की आवाज़ दबाने के लिए कर रही है. बांग्लादेश साइबर ट्राइब्यूनल के एक न्यायाधीश ने मुनीर हुसैन नामक 35 वर्षीय व्यक्ति को बुधवार को यह सज़ा सुनाई.

बांग्लादेश चुनावः शेख हसीना की एकतरफ़ा जीत, विपक्ष को केवल सात सीटें

छिपी हुई हैं सबरीमला में प्रवेश करने वाली महिलाएं

केरल के सबरीमला मंदिर में घुसकर इतिहास बनाने वाली महिलाएं कुछ हिंदू संगठनों की धमकियों के कारण छिपी हुई हैं और अब तक अपने घर नहीं लौट पाई हैं.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने बताया कि बिंदु अम्मिनि और कनकदुर्गा ने कहा कि उन्हें प्रदर्शनकारियों की तरफ़ से लगातार धमकियां मिल रही हैं, लेकिन प्रशासन ने उन्हें सुरक्षा का भरोसा दिया है और वो संभवत अगले हफ़्ते घर लौटेंगी

बिंदु ने रॉयटर्स से कहा, "मैं हमेशा कहती हूँ कि मुझे पुलिसकर्मियों, केरल सरकार और केरल के लोकतांत्रिक समाज पर पूरा भरोसा है."

दीवार बनाने का संकल्प

डोनल्ड ट्रंप
EPA

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप मेक्सिको की सीमा पर दीवार बनाने के अपने संकल्प को पूरा करने के मक़सद से दक्षिणी टैक्सस के दौरे पर गए हैं.

यहां उन्होंने सीमा की सुरक्षा में लगे अधिकारियों और कामगारों से मुलाक़ात की. इन लोगों से मिलने और उनके साथ बात करने के बाद ट्रंप ने अपना संदेश दोहराया कि मेक्सिको की सीमा पर दीवार खड़ी करने के बाद ही सीमा पार से आने वाले अवैध प्रवासियों और अपराधियों पर रोक लगाई जा सकेगी.

डोनल्ड ट्रंप ने कहा, 'यह एक आम समझ की बात है. उन्हें रोकने के लिए कुछ रुकावटें लगानी होंगी, उसके लिए दीवार बनाने की ज़रूरत है, अगर हमारे पास यह नहीं होगी तो हम चाहे जितनी मेहनत कर लें इन समस्याओं से निपट नहीं सकेंगे. जिसका नतीजा सिर्फ़ मौत ही मौत होगा.'

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

]]>

Advertisement

Comments

Advertisement