20.1 C
Ranchi
Saturday, February 24, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

HomeदेशMutual Fund: निवेशकों की पसंद बनी म्यूचुअल फंड, 7 वर्षों में 3660 से बढ़कर 19932 करोड़ के पार पहुंचा...

Mutual Fund: निवेशकों की पसंद बनी म्यूचुअल फंड, 7 वर्षों में 3660 से बढ़कर 19932 करोड़ के पार पहुंचा SIP निवेश

Mutual Fund SIP Collection: AMFI द्वारा गुरुवार, 9 नवंबर को जारी आंकड़ों के अनुसार, शेयर बाजारों में जोखिम-मुक्त भावना के बावजूद, इक्विटी म्यूचुअल फंड का प्रवाह अक्टूबर 2023 में बढ़कर 19,932 करोड़ रुपये हो गया, जो सितंबर में 13,857 करोड़ रुपये था.

Mutual Fund SIP Collection: हाल के दिनों में निवेशकों की रुचि बाजार को लेकर काफी बदली है. लोग निवेश को लेकर काफी सजग हुए हैं. आज हर किसी की चाहत कमाने के साथ बचत करने और बचत से ज्यादा से ज्यादा रिटर्न पाने की है. ऐसे में म्यूचुअल फंड निवेश लोगों काफी रास आ रहा है. एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (AMFI) द्वारा गुरुवार, 9 नवंबर को जारी आंकड़ों के अनुसार, शेयर बाजारों में जोखिम-मुक्त भावना के बावजूद, इक्विटी म्यूचुअल फंड का प्रवाह अक्टूबर 2023 में बढ़कर 19,932 करोड़ रुपये हो गया, जो सितंबर में 13,857 करोड़ रुपये था. यह शुद्ध आधार पर प्रवाह का लगातार 32वां महीना है. इस साल जुलाई में सिस्टमैटिक इंवेस्टमेंट प्लान के जरिए म्यूचुअल फंड्स में 15,000 करोड़ रुपये से ज्यादा निवेश हुआ. इसके बाद, अगस्त के महीने में सिस्टमैटिक इंवेस्टमेंट प्लान के जरिए म्यूचुअल फंड्स में निवेश ने बड़ी छलांग मारी. अगस्त में भारत में म्यूचुअल फंड्स में 16,000 करोड़ रुपये से ज्यादा निवेश हुआ. वहीं, केवल जुलाई से अक्टूबर में म्यूचुअल फंड्स में निवेश 4,932 करोड़ रुपये बढ़ा है. बाजार के विषेशज्ञों की माने तो आने वाले वक्त में म्यूचुअल फंड्स में निवेश में और बढ़ोतरी होने की उम्मीद है.

सात वर्षों में चार गुना बढ़ा निवेश

भारतीय बाजार में पिछले सात वर्षों में सिस्टमैटिक इंवेस्टमेंट प्लान के जरिए म्यूचुअल फंड्स में सात गुना तक बढ़ी. 2020-21 में 96,080 करोड़ रुपये और 2022-23 में 1.56 लाख करोड़ रुपये का निवेश आया था. जबकि 2023-24 के आधे साल में 90300 करोड़ रुपये का सीधा निवेश हुआ है. इस हिसाब से देखा जाए तो 2022-23 में हर महीने औसतन 13,000 करोड़ रुपये रुपये का निवेश हुआ. जबकि, 2021-22 में हर महीने 10,333 करोड़ रुपये का निवेश हुआ. 2020-21 में हर महीने 8006 करोड़ रुपये का निवेश सिस्टमैटिक इंवेस्टमेंट प्लान के जरिए म्यूचुअल फंड्स के जरिए हुआ. वित्त वर्ष 2023-24, 90,300 करोड़ रुपये का निवेश अभी हर महीने औसत रुप से हो रहा है. बता दें, SIP में निवेश के लिए करीब 3.50 करोड़ एक्टिव यूजर हैं.

Also Read: Zerodha के फाउंडर नितिन कामथ ने IPO में निवेशकों की बढ़ती दिलचस्पी को सराहा, बाजार पर कही महत्वपूर्ण बात

म्यूचुअल फंड क्या है

म्यूच्यूअल फंड एक प्रकार का निवेश का तंत्र होता है जिसमें विभिन्न निवेशकों के धन को एक साथ एकत्रित करके उन्हें विभिन्न प्रकार के निवेशों में निवेश किया जाता है. म्यूच्यूअल फंड कंपनियां निवेशकों के लिए निवेश पोर्टफोलियो का प्रबंधन करती हैं और उनके लिए विभिन्न प्रकार के विनिवेश विकल्प प्रदान करती हैं.

म्यूच्यूअल फंड के कुछ मुख्य विशेषताएं निम्नलिखित होती हैं:

  • पेशेवर प्रबंधन: म्यूच्यूअल फंड कंपनियां निवेशकों के लिए पेशेवर निवेश पोर्टफोलियो प्रबंधन करती हैं. उन्हें विशेष ज्ञान और अनुभव होता है जो उनके निवेशों को बेहतर बनाने में मदद करता है.

  • निवेशों का विवेकपूर्ण चयन: म्यूच्यूअल फंड कंपनियां विभिन्न निवेशों के चयन में सतर्कता बरतती है ताकि निवेशकों के पैसे को सुरक्षित रखा जा सके और सामान्य लाभ प्राप्त किया जा सके.

  • निवेशकों की विनिवेश की सुविधा: म्यूच्यूअल फंड में निवेशक अपने निवेश को विभिन्न प्रकार के विनिवेश विकल्प में विभाजित कर सकते हैं, जैसे कि शेयरों, बॉन्ड्स, मोटिल फंड्स, सोने की योजनाएं, आदि. इससे उन्हें निवेश के विभिन्न माध्यमों का लाभ उठाने की सुविधा मिलती है.

  • लिक्विडिटी और उपयोगिता: म्यूच्यूअल फंड कंपनियां निवेशकों को उनके निवेश से आसानी से पैसे निकालने की सुविधा प्रदान करती है, जिससे उनकी लिक्विडिटी बनी रहती है.

  • निवेशक सुरक्षा: म्यूच्यूअल फंड कंपनियां निवेशकों के पैसों का प्रबंधन करती हैं, इसका मतलब विनिवेश के साथ-साथ उनकी सुरक्षा भी प्राथमिक होती है.

सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान क्या है

सिस्टमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) एक निवेश विधि है जिसमें निवेशक नियमित अंतराल पर निशित राशि का निवेश करते हैं, आमतौर पर हर महीने. यह एक वित्तीय योजना है जो व्यक्तियों को निवेश करने के लिए एक स्थिर और योग्य विधि प्रदान करती है.

SIP की मुख्य विशेषताएं इस तरह हैं:

  • नियमित निवेश: SIP में, निवेशक नियमित अंतराल पर निशित राशि निवेश करते हैं, जो कि आमतौर पर महीने के आंत में होती है.

  • आम व्यक्तियों के लिए सुलभ: SIP वित्तीय विवाद को दूर करता है और व्यक्तियों को आसानी से निवेश करने का अवसर देता है.

  • आंकड़ों में समय का महत्व: इसके जरिए, व्यक्तियों को लाभ होता है क्योंकि वे समय के साथ उचित रेट पर रिटर्न प्राप्त करते हैं.

  • वित्तीय लाभ: SIP के माध्यम से व्यक्तियों को विभिन्न वित्तीय उपकरणों में निवेश करने का अवसर मिलता है, जैसे कि म्यूचुअल फंड, इंडेक्स फंड्स, इत्यादि.

  • कम आरंभिक निवेश: SIP में आरंभिक निवेश आमतौर पर कम होता है, जिससे यह निवेश उन व्यक्तियों के लिए भी संभावित है जिनके पास बड़े राशि का उपयोग नहीं कर सकते.

  • लोंग टर्म निवेश: SIP के माध्यम से व्यक्तियों को लंबी अवधि के लिए निवेश करने का अवसर मिलता है, जो वित्तीय योजनाओं के लाभ को बढ़ा सकता है.

  • ऑटोमेटेड निवेश: व्यक्तियों के बैंक खाते से निवेश राशि को ऑटोमेटेड रूप से कटौती करके निवेश की प्रक्रिया सरल और स्वचालित बनाता है.

सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान में निवेश कैसे करें

सिस्टमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान में निवेश करने के लिए सबसे पहले पूरी जानकारी लें. एसआईपी में निवेश करना बाजार जोखिम के अंतर्गत है. हालांकि, निवेश करने के लिए इन स्टेप का पालन कर सकते हैं.

  • निवेश के लिए उद्देश्य तय करें:

    सबसे पहला कदम यह है कि आपको यह तय कर लेना चाहिए कि निवेश का उद्देश्य क्या है. आप लोंग टर्म या शॉर्ट टर्म निवेश करना चाहते हैं, और इसके अनुसार निवेश कार्यक्षेत्र का चयन करें.

  • सही निवेश उपकरण चुनें:

    SIP के जरिए निवेश करने के लिए विभिन्न वित्तीय उपकरण उपलब्ध होते हैं, जैसे कि म्यूचुअल फंड, इंडेक्स फंड्स, या विभिन्न वित्तीय योजनाएं.

  • निवेश राशि का चयन करें:

    निवेश करने के लिए राशि का निर्धारण करना होगा. यह राशि हर निवेशक के वित्तीय लक्ष्यों और योजनाओं के आधार पर निर्भर करेगी.

  • निवेशक निवेश करने के लिए वित्तीय संस्था चुनें:

    वित्तीय संस्था का चयन करना होगा जिसमें आप अपना SIP खाता खोलना चाहते हैं. इसके बाद, वहां पर निवेशक खाता खोलने की प्रक्रिया पूरी करें.

  • SIP की मात्रा तय करें:

    यह निर्धारित करना होगा कि आप किस अंतराल पर निवेश करना चाहते हैं, जैसे महीने के आख़िर में या आरंभ में.

  • बैंक खाते से निवेश राशि को कटौती करें:

    आपका निवेश राशि आपके बैंक खाते से निकाली जाएगी जिसे आपने SIP के लिए चुनी है.

  • निवेश पर निगरानी रखें और अवलोकन करें:

    निवेशकों को निवेश का समय-समय पर अवलोकन करना चाहिए और यदि आवश्यक हो अपने निवेश की रणनीति को अनुकूलित करने के लिए उन्हें बदलने की आवश्यकता होगी.

(डिस्क्लेमर: यहां मुहैया जानकारी सिर्फ सूचना हेतु दी जा रही है. यहां बताना जरूरी है कि मार्केट में निवेश बाजार जोखिमों के अधीन है. निवेशक के तौर पर पैसा लगाने से पहले हमेशा एक्सपर्ट से सलाह लें.)

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें