पुलिस ने कब्र से निकाले बच्चों के शव

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

मालदा : जिले के गाजोल थाना क्षेत्र में कथित रूप से भूत-प्रेत के चक्कर में दो बच्चों की मौत के मामले ने तूल पकड़ लिया है. एक तरफ जहां पुलिस ने अब्दुल रफीक नामक ओझा को शनिवार की रात को ही गिरफ्तार कर लिया था, वहीं, कदमतली गांव में हुई घटना के बाद अभिभावकों ने आननफानन शवों को कब्रिस्तान में दफन कर दिया था.

उसी रोज देर रात को गाजोल थाना पुलिस ने एक मजिस्ट्रेट स्तरीय अधिकारी की मौजूदगी में कब्रिस्तान से दोनों शवों को निकालकर उन्हें अंत्यपरीक्षण के लिए भेजा. पुलिस के अनुसार अंत्यपरीक्षण की रिपोर्ट मिलने पर ही बच्चों की मौत की असली वजह का पता चलेगा. वैसे अभिभावकों के अनुसार भूतों के तांडव में उनके बच्चों की मौत हुई है.
इस खुलासे के बाद जिला पुलिस और विज्ञान मंच के पक्ष से कार्यकर्ताओं ने इलाके में जाकर लोगों को अंधविश्वासों और कुसंस्कारों के प्रति सचेत किया. रविवार को पुलिस ने ओझा अब्दुल रफीक को सात रोज की रिमांड पर लेने के लिए अदालत के समक्ष अर्जी दी गयी है. वहीं, शवों को हड़बड़ी में दफन करने को लेकर गाजोल थाना के ओसी हाराधन ने कोई बयान देने से इंकार किया है.
क्या है मामला : उल्लेखनीय है कि कदमतली गांव के चार बच्चे शाम को बगल के एक जंगल में खेल रहे थे जिस दौरान उनकी तबीयत बिगड़ गयी थी. इस दौरान घर पहुंचने पर दो बच्चे बेहोश भी हो गये, जिसके बाद भूतों का उपद्रव समझकर अभिभावकों ने अब्दुल रफीक को झाड़फूंक के लिये बुलाया.
शुक्रवार की सारी रात चले झाड़फूंक के बाद भी बच्चों की तबीयत बिगड़ती गयी और एक बच्चे की तो घर पर ही मौत हो गयी, जबकि दूसरे की मौत मालदा मेडिकल कॉलेज में इलाज के दौरान हुई. मृत बच्चों के नाम शफिकुल आलम (5) और फिरोजूर रहमान (7) थे.
बाकी दो बच्चे शबनूर खातून (3) और कोहिनूर खातून का इलाज मेडिकल कॉलेज में चल रहा है. पश्चिमबंग विज्ञान मंच के मालदा जिला सचिव सुनील सरकार ने बताया कि झाड़फूंक के चक्कर में दोनों बच्चों की मौत चिंताजनक और गंभीर है. हालांकि इस तरह का अंधविश्वास पहले से कम हुआ है, लेकिन फिर भी इस आधुनिक युग में यह कुसंस्कार रह जाना कम चिंता का विषय नहीं है.
ग्रामीणों को इस बारे में सचेत किया जा रहा है. वहीं, जिले के एसपी आलोक राजोरिया ने बताया कि दो बच्चों की मौत के मामले में आरोपी ओझा अब्दुल रफीक को गिरफ्तार किया गया है. पूरे घटनाक्रम की जांच के अलावा ग्रामीणों को जागरूक किया जा रहा है.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें