21.1 C
Ranchi
Sunday, February 25, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Homeझारखण्डगढ़वागढ़वा : आदिम जनजाति टोले में नहीं है सड़क, साल में तीन महीने स्कूल नहीं जाते बच्चे

गढ़वा : आदिम जनजाति टोले में नहीं है सड़क, साल में तीन महीने स्कूल नहीं जाते बच्चे

करीब दो साल पहले यहां की समस्याओं का निरीक्षण पूर्व एसडीओ आलोक कुमार ने टोले में आकर किया था. तब बीडीओ व मुखिया को इस टोले पर सड़क निर्माण करने का निर्देश दिया था. इसके बावजूद आज तक इस टोले में सड़क के निर्माण की कोई सुगबुगाहट नहीं है.

धुरकी (गढ़वा), अनूप जायसवाल : गढ़वा जिले के धुरकी प्रखंड के खाला गांव के भंवरही टोले में आदिम जनजाति के करीब 25 परिवार रहते हैं. यहां बिजली और पानी की व्यवस्था तो हो गयी है, लेकिन आजादी के बाद से आज तक यहां सड़क नहीं बनायी जा सकी है. इस कारण इस टोले के करीब 25 से 30 नामांकित बच्चे बरसात के तीन महीने स्कूल नहीं जा पाते. ग्रामीणों ने बताया कि इस टोले में सड़क का अभाव है. इस वजह से बरसात के दिनों में पगडंडी के सहारे आना-जाना पड़ता है. पगडंडी के किनारे बच्चों को झाड़ी के बीच से होकर गुजरना पड़ता है. इस कारण अभिभावक रास्ते में विषैले सांप के डर से बरसात के दिनों में बच्चों को विद्यालय जाने से रोक देते हैं. करीब तीन महीने तक बच्चों की पढ़ाई बाधित हो जाती है. करीब दो साल पहले यहां की समस्याओं का निरीक्षण पूर्व एसडीओ आलोक कुमार ने टोले में आकर किया था. तब बीडीओ व मुखिया को इस टोले पर सड़क निर्माण करने का निर्देश दिया था. इसके बावजूद आज तक इस टोले में सड़क के निर्माण की कोई सुगबुगाहट नहीं है. इस टोले से मध्य विद्यालय की दूरी करीब दो किलोमीटर है. इधर, बच्चे पगडंडी के सहारे विद्यालय जाते हैं. इस संबंध में टोले के फलिंगर कोरवा, मनदीप कोरवा, टुभु कोरवा व कईल कोरवा ने बताया कि वे लोग बच्चों को बरसात के दिनों में करीब तीन महीने विद्यालय नहीं भेजते हैं, क्योंकि तब झाड़ी काफी बढ़ जाती है. उन लोगों को बच्चों के आने-जाने केा लेकर चिंता बनी रहती है. बरसात बाद जब झाड़ी कम हो जाती है, तब बच्चे स्कूल जाना शुरू करते हैं.

Also Read: Jharkhand News: गढ़वा के करीब 40 हजार स्टूडेंट्स को साइकिल योजना का नहीं मिल रहा लाभ, पैदल ही जा रहे स्कूल

बरसात में कोई वाहन नहीं आ सकता

उन्होंने बताया कि इस टोले पर जब कोई बीमार पड़ता है, तो उन लोगों को मुख्य सड़क जो करीब दो किलोमीटर दूर है, वहां जाकर वाहन पकड़ कर अस्पताल आना पड़ता है. गर्मी के दिनों में तो वाहन जैसे-तैसे यहां पहुंच भी जाते हैं, लेकिन बरसात के दिनों में यहां कोई गाड़ी नहीं पहुंच पाती है. उनलोगों ने ग्राम सभा में कई बार सड़क निर्माण करने को लेकर आवेदन दिया, इसके बावजूद अब तक सड़क नहीं बनी है.

सड़क निर्माण करा दिया जायेगा : बीडीओ

इस संबंध में पूछे जाने पर बीडीओ जुल्फिकार अंसारी ने कहा कि ग्रामीणों की जो भी समस्या है, उसका वे लिखित आवेदन दें. बीडीओ ने कहा कि भंवरही टोले में किसी न किसी मद से सड़क निर्माण करा दिया जायेगा.

Also Read: अंधेरे में है गढ़वा जिले के करीब 1300 सरकारी स्कूल, बिजली कनेक्शन भी नसीब नहीं, कैसे होगी पढ़ाई

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें