17.1 C
Ranchi
Friday, February 23, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Homeझारखण्डदेवघरदेवघर में कुत्तों का आतंक, सड़क पर चलना हुआ मुश्किल, नगर निगम पर उठा सवाल

देवघर में कुत्तों का आतंक, सड़क पर चलना हुआ मुश्किल, नगर निगम पर उठा सवाल

देवघर नगर निगम क्षेत्र में कुत्तों की नसबंदी का कार्यक्रम नवंबर 2021 से चलाया जा रहा है. स्नेह एनिमल वेलफेयर सोसाइटी, रोहतक, हरियाणा द्वारा चलाये जा रहे अभियान के तहत दिसंबर 2023 तक 13,346 कुत्तों की नसबंदी की गयी है.

देवघर नगर निगम क्षेत्र में कुत्तों के आतंक से लोगों का सड़क पर गुजरना मुश्किल हो गया है. शाम ढलने के बाद कुत्तों का झुंड हमलावर होकर सड़क पर गुजरने वाले राहगीर व वाहन चालकों पर टूट पड़ता है. यह आमलोगों के लिए जानलेवा हो गया है. सार्वजनिक जगहों के अलावा विभिन्न मुहल्लों, गलियों में आवारा कुत्तों ने लोगों के लिए परेशानी खड़ी कर दी है. देवघर में श्रद्धालुओं, तीर्थयात्रियों के अलावा पर्यटकों की भीड़ हमेशा रहती है. अभी ठंड के मौसम में हर रोज औसतन 20 से 25 हजार की संख्या में बाहर से लोगों का आगमन हो रहा है. यहां के आवारा कुत्तों के आंतक से स्थानीय लोगों के साथ बाहरी लोगों की भी परेशानी काफी बढ़ गयी है. बाबा मंदिर के आसपास के मुहल्लों के अलावा देवघर के अन्य मुहल्लों व गलियों में आवारा कुत्तों झुंड बैठा मिल जायेगा.औसतन हर दिन कुत्ते के काटने से जख्मी होकर लोग अस्पताल पहुंच रहे हैं. नगर निगम की ओर से नवंबर 2021 से कुत्तों की नसबंदी करायी जा रही है. आंकड़ों पर गौर करें तो 15 दिसंबर 2023 तक 13,346 कुत्तों की नसबंदी करायी जा चुकी है. ठंड में कुत्तों के जन्म दर में काफी वृद्धि हुई है, जिससे नसबंदी कार्यक्रम भी सवालों के घेरे में आ गया है.

कुत्तों के डर से बच्चों को निकलने नहीं देते लोग

शहर में खेलकूद के लिए पर्याप्त जगह नहीं रहने के कारण अधिकतर मोहल्ले में बच्चे गलियों में खेलते थे. मगर, हर गलियों में कुत्तों का झुंड बैठा रहता है. कुत्तों के हमले के डर से अभिभावक ने अपने बच्चों को घर से बाहर निकलने नहीं देते.

एक कुत्ते की नसबंदी पर 1400 रुपये खर्च

देवघर नगर निगम क्षेत्र में कुत्तों की नसबंदी का कार्यक्रम नवंबर 2021 से चलाया जा रहा है. स्नेह एनिमल वेलफेयर सोसाइटी, रोहतक, हरियाणा द्वारा चलाये जा रहे अभियान के तहत दिसंबर 2023 तक 13,346 कुत्तों की नसबंदी की गयी है. एक कुत्ते की नसबंदी पर औसतन 1400 रुपये खर्च आ रहा है. नगर निगम के अनुमानित आंकड़ाें पर गौर करें तो क्षेत्र में 25 से 30 हजार कुत्ते हैं.

Also Read: देवघर : घर से ले गये थे साथी, सड़क हादसे में पति की मौत, पत्नी ने पुलिस को दिये बयान में की शिकायत
छह माह में 1830 एंटी रेबिज के डोज दिये गये

सरकारी आंकड़ों पर गौर करें तो सदर अस्पताल सहित प्रखंड के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में जून 2023 से नवंबर 2023 तक 1830 एंटी रेबिज के डोज दिये गये हैं. जून 2023 में 312, जुलाई में 385, अगस्त में 170, सितंबर में 386, अक्तूबर में 311 एवं नवंबर में 266 एंटी रेबिज के डोज दिये जा चुके हैं. वहीं, प्राइवेट क्लिनिक में भी हर रोज कुत्ताें के शिकार लोग इलाज के लिए पहुंच रहे हैं.

इन स्थलों पर कुत्तों का आतंक

देवघर में बाबा मंदिर के समीप, पेड़ा गली, बड़ा बाजार, आजाद चौक, शिक्षा सभा चौक, चांदनी चौक, लक्ष्मीपुर चौक, बिलासी, देवघर-बाइपास रोड़, बरमसिया, कुमुदिनी घोष रोड, साकेत विहार, बेलाबगान रोड, नंदन पहाड़ रोड, मंदिर मोड़, बरगाछ, झौंसागढ़ी, बैजनाथपुर, कास्टर टाउन, बंपास टाउन, विलियम्स टाउन, बिजली कोठी, देवघर-जसीडीह मार्ग, हनुमान नगर, कालीपुर, सिनेमा हॉल मोड़, टावाघाट, कजरिया कॉलोनी, रामचंद्रपुर मोड़, संथाली आदि जगहों पर कुत्तों का आतंक चरम पर है.

कहते हैं सहायक नगर आयुक्त

सहायक नगर आयुक्त सुरेंद्र किस्कू ने कहा कि स्ट्रीट डॉग का नसबंदी कार्यक्रम हरियाणा के एजेंसी के द्वारा चलाया जा रहा है. प्रत्येक नसबंदी पर 1400 रुपया खर्च आता है. छूटे हुए कुत्तों की नसबंदी पर जोर दिया जायेगा.

Also Read: देवघर : सदर अस्पताल परिसर में शौचालय बनवाकर भूल गया निगम, छह साल बाद भी नहीं हुआ चालू

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें