17.1 C
Ranchi
Wednesday, February 28, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

बिहार: सहरसा-फारबिसगंज के बीच होली से पहले दौड़ेगी ट्रेन! रेलवे ने दी बड़ी जानकारी, जानिए क्या है पेंच..

बिहार: सहरसा-फारबिसगंज रेलखंड पर इस साल ट्रेन दौड़ने लगेगी. रेलवे की ओर से जानकारी दी गयी है कि इस रूट पर ट्रेन चलाने में कहां परेशानी आ रही है और इसे कबतक सुलझा लिया जाएगा. जानिए क्या है इस रूट पर रेल सेवा शुरू नहीं होने की वजह..

Indian Railways: बिहार में सहरसा से फारबिसगंज के बीच ट्रेन (Saharsa Forbesganj Train) चलाने को लेकर हर बार रेलवे नयी तारीख की घोषणा कर रही है. लेकिन हर बार आधिकारिक निरीक्षण के दौरान कंस्ट्रक्शन का काम अधूरा ही रहता है. इसकी खास वजह है छह नये मेजर ब्रिज का निर्माण कार्य पूरा नहीं होना. हालांकि सरायगढ़ से राघोपुर और राघोपुर से प्रतापगढ़ के बीच सभी छह नये मेजर ब्रिज का काम लगभग पूरा हो चुका है. लेकिन कंस्ट्रक्शन के कुछ काम अभी शेष बचे हैं, जिसे पूरा करने के लिए बीते 15 नवंबर तक पूरा करने का निर्देश जारी किया गया था. लेकिन अब तक पूरा नहीं हो सका. अब रेलवे की ओर से एक नयी तारीख सामने आयी है.

सहरसा से फारबिसगंज तक ट्रेन चलने की उम्मीद

रेल अधिकारियों की माने तो फरवरी के अंत तक कंस्ट्रक्शन के अधूरे काम पूरे हो जायेंगे. मार्च 2024 तक सहरसा से फारबिसगंज 112 किलोमीटर रेलखंड पर ट्रेन चलने की उम्मीद है. हालांकि वर्तमान में सहरसा से ललित ग्राम के बीच एक पैसेंजर ट्रेन का परिचालन किया जा रहा है. सरायगढ़ से राघोपुर और राघोपुर से प्रतापगढ़ के बीच छह नये मेजर ब्रिज का निर्माण कार्य चल रहा है. इनमें से 41 नंबर नये ब्रिज का काम पहले ही पूरा हो चुका है. दो महीना पहले ही पूर्व मध्य रेलवे के के मुख्य ट्रैक इंजीनियर 41 नंबर ब्रिज पर ट्रेन चलाने की फिट दे चुके हैं.

अब चार नये मेजर ब्रिज को और देना है फिट

छह नये मेजर ब्रिज में से दो को अब तक फिट मिल चुका है. अब चार ब्रिज को और फिट देना बाकी है. इसके बाद ही सहरसा फारबिसगंज के बीच ट्रेन का परिचालन शुरू हो सकेगा. रेल अधिकारियों का दावा है कि मार्च तक सहरसा से फारबिसगंज के बीच ट्रेन का परिचालन शुरू कर दिया जायेगा.

Also Read: बिहार: यात्रियों के लिए रेलवे का फैसला, पटना- डीडीयू मेमू सहित इस ट्रेन को मिला अतिरिक्त ठहराव, पढ़े डिटेल
अधूरे कंस्ट्रक्शन को 15 नवंबर तक पूरा करने का था निर्देश

ललित ग्राम से फारबिसगंज के बीच कंस्ट्रक्शन के कई वर्क अधूरे थे. सरायगढ़ से प्रतापगढ़ और ललित ग्राम से नरपतगंज के बीच कई जगहों पर कंस्ट्रक्शन का काम बाकी था. जिसे 15 नवंबर तक एजेंसी को पूरा करने का निर्देश दिया गया था. जो समय अब पूरा हो चुका है. लेकिन कंस्ट्रक्शन का काम अभी अधूरा है.

ब्रिज के कारण फंसा है मामला

सरायगढ़ से प्रतापगंज के बीच 22 किलोमीटर रेलखंड पर जिस ब्रिज संख्या 9, 24, 36, 13, 33 और 41 पर सहरसा से ललित ग्राम के बीच एकमात्र डीएमयू ट्रेन का परिचालन किया जा रहा है. उसी ब्रिज के समांतर नये मेजर ब्रिज का निर्माण किया जा रहा है. सरायगढ़ से राघोपुर-ललित ग्राम के बीच जब सीआरएस किया गया था तो उसके बाद सीआरएस ने इस सेक्शन पर सरायगढ़ से प्रतापगंज के बीच पुल की स्थिति देखते हुए यानी छह ब्रिज पर अस्थाई रूप से निर्धारित गति से ट्रेन चलाने की अनुमति दी थी. जिसके बाद ही सहरसा से ललित ग्राम के बीच बड़ी रेल लाइन पर सिर्फ डीएमयू जैसी ट्रेन चलाने के लिए फिट दिया था. इस दौरान सीआरएस ने उसके समांतर छह नयी ब्रिज के निर्माण के लिए अनुशंसा भी कर दी. छह नये मेजर ब्रिज का निर्माण कार्य पूरा नहीं होता है. सहरसा से फारबिसगंज के बीच इस सेक्शन पर एक्सप्रेस और माल ट्रेनों का परिचालन शुरू नहीं किया जा सकेगा. वहीं पुराने ब्रिज पर ही अस्थायी रूप से ट्रेन चलाने के लिए फिट दिया गया था.

पुराने ब्रिज पर ही जैकेटिंग कर रेलवे ने चला दी थी ब्रॉडगेज पर ट्रेन

सरायगढ़ से प्रतापगंज के बीच रेलखंड पर 6 मेजर ब्रिज है. सहरसा फारबिसगंज रेलखंड पर अमान परिवर्तन के दौरान सरायगढ़ से प्रतापगंज के बीच पुराने मीटर गेज लाइन वाली ब्रिज पर फाउंडेशन में जैकेटिंग कर रेलवे ने ब्रॉड गेज लाइन को पूरा किया था. जब 2021 में सीआरएस किया गया था. निरीक्षण के दौरान सीआरएस ने वर्तमान पुल की स्थिति देखते हुए 10/20 किलो मीटर प्रति घंटा से कम स्पीड से इस ब्रिज पर फिलहाल ट्रेन चलाने की अनुमति दी थी. इसके समांतर ही 6 मेजर ब्रिज का निर्माण का सीआरएस ने अनुशंसा की थी. इस दौरान सीआरएस ने छह नये मेजर ब्रिज के निर्माण के बाद ही इस सेक्शन पर एक्सप्रेस और माल ट्रेन चलाने का अनुमति दी है. वहीं ब्रिज संख्या 36 पर निर्माण कार्य अभी चल रहा है.

2022 से सहरसा-फारबिसगंज के बीच प्रस्तावित है एक्सप्रेस ट्रेन

जोगबानी से पटना के बीच फारबिसगंज-ललितग्राम, सरायगढ़, निर्मली, झंझारपुर के रास्ते इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन चलाना प्रस्तावित है. इसके अलावा सहरसा से फारबिसगंज के बीच एक नयी ट्रेन भी प्रस्तावित .है पिछले वर्ष 2022 में ही रेलवे बोर्ड ने सहरसा-फारबिसगंज के बीच सहरसा-फारबिसगंज, पटना-इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन चलने को लेकर घोषणा जारी की थी. हालांकि ट्रेन की समय सारणी और तारीख की घोषणा नहीं की गयी थी.

डीआरएम बोले..

पूर्व मध्य रेलवे के चीफ इंजीनियर नये मेजर ब्रिज को फिट देंगे, जो भी कंस्ट्रक्शन का काम बचा है. जल्द पूरा होगा. उम्मीद है कि मार्च तक सहरसा-फारबिसगंज ट्रेन चला दी जायेगी.

विनय कुमार श्रीवास्तव, डीआरएम, समस्तीपुर डिवीजन

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें