21.1 C
Ranchi
Thursday, February 29, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

पटना पहुंचीं स्मृति ईरानी ने विरोधियों पर साधा निशाना, कहा- कांग्रेस का श्रीराम विरोधी चेहरा हुआ उजागर

सोनिया गांधी, मल्लिकार्जुन खड़गे, अधीर रंजन चौधरी समेत विपक्षी नेताओं द्वारा राम मंदिर उद्घाटन का आमंत्रण ठुकराने को लेकर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि यह अब साबित हो गया है कि उनकी राम में आस्था नहीं है. निमंत्रण ठुकराने को लेकर कांग्रेस का राम विरोधी चेहरा उजागर हो गया है.

भाजपा की वरिष्ठ नेता और केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी बुधवार को पटना पहुंची. जहां उन्होंने नरेंद्र मोदी सरकार की उपलब्धियां गिनाई और यूपीए सरकार के साथ-साथ इंडी गठबंधन पर जमकर निशाना साधा. कांग्रेस द्वारा राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा का आमंत्रण ठुकराने को लेकर उन्होंने कहा कि यह अब साबित हो गया है कि उनकी राम में आस्था नहीं है. निमंत्रण ठुकराने से कांग्रेस का राम विरोधी चेहरा उजागर हो गया है. वहीं पीएम मोदी की तारीफ करते हुए स्मृति ईरानी ने कहा कि देश के प्रधान सेवक नरेंद्र मोदी विकास के लिए बेकरार हैं. वो गरीबों के उत्थान के लिए बिना रुके थके काम कर रहे हैं, जिसका नतीजा है कि वर्ष 2015-2021 के बीच देश के 13.50 करोड़ गरीबी से बाहर आये है. वहीं,10 करोड़ गरीबों के घर में गैस पहुंची है.

50 करोड़ की आबादी को मिला आयुष्मान योजना का लाभ

केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री बुधवार को पटना में प्रदेश भाजपा द्वारा आयोजित मीडिया कार्याशाला को संबोधित कर रही थी. जहां उन्होंने कहा कि देश के कुछ लोग हैं जिन्हें छींक भी आ जाए तो वे इलाज के लिये हवाइ जहाज से विदेश जाते हैं, लेकिन मोदी जी ने देश की 50 करोड़ की आबादी को आयुष्मान योजना के बेहतर इलाज करवाने की व्यवस्था की है.

विपक्षी पार्टियां जाति के नाम पर करती है राजनीति

स्मृति ईरानी ने कहा कि विपक्षी पार्टियां जाति के नाम पर केवल राजनीति करती है, कांग्रेस नीत यूपीए सरकार में पिछड़ वर्ग के कल्याण पर केवल 34000 करोड़ खर्च की गयी थी, जबकि भाजपा शासन काल में यह राशि बढ़कर 1.60 लाख करोड़ हो गयी है. उन्होंने पार्टी के मीडिया प्रभारियों से कहा कि प्रधान सेवक मोदी का संकल्प जन-जन तक पहुंचाना है और लोकसभा चुनाव में भाजपा को विजयी दिलवाना है.

कांग्रेस का प्रभु राम विरोधी चेहरा राष्ट्र के सामने आ गया

सोनिया गांधी, मल्लिकार्जुन खड़गे, अधीर रंजन चौधरी समेत विपक्षी नेताओं द्वारा राम मंदिर उद्घाटन का आमंत्रण ठुकराने को लेकर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि यह अब साबित हो गया है कि उनकी राम में आस्था नहीं है. निमंत्रण ठुकराने को लेकर कांग्रेस का राम विरोधी चेहरा उजागर हो गया है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस का प्रभु राम विरोधी चेहरा राष्ट्र के सामने आ गया है. जिस सोनिया जी के नेतृत्व में जिस पार्टी ने कोर्ट में हलफनामा दिया था कि राम का कोई अस्तित्व नहीं है. उस कांग्रेस पार्टी के नेतृत्व ने पुण्य अयोध्या धाम में राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के आमंत्रण को ठुकराया है

इंडी एलाएंस को स्मृति ईरानी ने बताया सनातन विरोधी

उन्होंने कहा कि इंडी एलाएंस में सोनिया जी के नेतृत्व में बार बार सनातन विरोधी बयान दिए, अब उनका राम मंदिर के उद्घाटन का आमंत्रण ठुकराने के बाद राम विरोधी चेहरा सामने आ गया है. मौके पर पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता और एमएलसी संजय मयूख, उपाध्यक्ष डॉ.भीम सिंह और मनोज शर्मा आदि उपस्थित थे.

Also Read: स्मृति ईरानी 10 जनवरी को आ रही हैं पटना, जानें कब बन रहा है नरेंद्र मोदी का कार्यक्रम

कुछ लोग सत्ता की रेस में हैं, भाजपा सेवा की रेस में

स्मृति ईरानी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का नाम लिए बिना ही इशारों-इशारों में कहा कि इन दिनों बिहार में भी हलचल तेज हो गयी है. कुछ लोग यह तय नहीं कर पा रहे हैं कि पीएम की रेस में रहे या सीएम की रेस में, दरअसल वे सत्ता की रेस में हैं जबकि भाजपा सेवा की रेस में है.

उप मुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव का नाम लिए बिना ही उन्होंने कहा कि बिहार में एक नेता राममंदिर को लेकर तरह-तरह के बयान दे रहे हैं. उन्हें यह बात स्पष्ट होनी चाहिये कि प्रधान सेवक मोदी के लिये लोकतंत्र की मंदिर और श्रीराम मंदिर में एक समान आस्था है. वे विकास को गति देने और विरासत बचाई की दिशा में एक साथ काम कर रहे हैं.

Also Read: अयोध्या नहीं जाएंगे खरगे और सोनिया, राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के न्योते को कांग्रेस ने ठुकराया

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें