16.1 C
Ranchi
Sunday, February 25, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Homeबिहारपटनाजमीन के बदले नौकरी मामले में बढ़ सकता है ED की जांच का दायरा, नौकरी लेने वालों पर भी...

जमीन के बदले नौकरी मामले में बढ़ सकता है ED की जांच का दायरा, नौकरी लेने वालों पर भी हो सकती है कार्रवाई

जमीन के बदले नौकरी मामले में करीब 10 ऐसे लोग हैं, जिन्हें इडी ने अपनी रडार पर लिया है. इनके नाम सीबीआइ की प्राथमिकी में भी हैं. दूसरी ओर, सीबीआइ एक बार फिर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री और लालू प्रसाद के बड़े पुत्र तेजस्वी यादव को जमीन के बदले नौकरी मामले में नया समन भेजने की तैयारी में है.

पटना. जमीन के बदले नौकरी प्रकरण में सीबीआइ-प्रवर्तन निदेशालय (इडी) की जांच का दायरा और बढ़ने वाला है. इडी इस मामले में जमीन देकर रेलवे में नौकरी लेने वालों से भी पूछताछ की तैयारी में है. करीब 10 ऐसे लोग हैं, जिन्हें इडी ने अपनी रडार पर लिया है. इनके नाम सीबीआइ की प्राथमिकी में भी हैं. दूसरी ओर, सीबीआइ एक बार फिर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री और लालू प्रसाद के बड़े पुत्र तेजस्वी यादव को जमीन के बदले नौकरी मामले में नया समन भेजने की तैयारी में है.

इन लोगों को पूछताछ के लिए बुला सकती है ईडी

सूत्रों के अनुसार नौकरी हासिल करने वाले राजकुमार, मिथिलेश कुमार और अजय कुमार के साथ-साथ संजय राय, धर्मेंद्र राय, रविंद्र राय, अभिषेक कुमार, दिलचंद कुमार, प्रेमचंद कुमार, लालचंद, हृदयानंद चौधरी व पिंटू कुमार लाभार्थी को ईडी पूछताछ के लिए बुला सकती है. पूछताछ से मिली जानकारी पर इडी प्रमुख आरोपियों पर अपना शिकंजा और सख्त करेगी.

सीबीआइ तेजस्वी यादव को एक और समन भेजने की तैयारी में

दूसरी ओर सीबीआइ सूत्रों ने बताया तेजस्वी यादव को जल्द ही पूछताछ के लिए एक और समन जारी किया जायेगा. चार और 10 मार्च को उन्हें जमीन के बदले नौकरी मामले में पूछताछ के लिए बुलाया गया था, परंतु पत्नी के स्वास्थ्य कारणों से तेजस्वी सीबीआइ के सामने उपस्थित नहीं हो पाए थे. सूत्रों की मानें तो सोमवार से मंगलवार के बीच तेजस्वी को समन जारी होगा और बुधवार से गुरुवार के बीच उन्हें सीबीआइ के सामने उपस्थित होने के लिए बुलाये जाने की संभावना है.

क्या है मामला

लालू प्रसाद 2004 से 2009 के बीच देश के रेल मंत्री रहे, उनपर यह आरोप है कि अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने दर्जन भर लोगों को जमीन के बदले रेलवे में समूह घ (Group D) में नौकरी दिलायी. इस मामले की जांच पहले सीबीआइ कर रही थी, लेकिन अब इसमें प्रवर्तन निदेशालय भी शामिल हो गया है. शुक्रवार को ईडी ने करीब दो दर्जन स्थानों पर एक साथ छापा मारते हुए अपनी जांच प्रारंभ भी कर दी है. इसी कड़ी में अब सीबीआइ की प्राथमिकी में नौकरी के लिए जमीन देने वालों से भी पूछताछ की तैयारी हो रही है.

Also Read: यूपी में सपा से गठबंधन करेगी जदयू, लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर ललन सिंह का बड़ा ऐलान

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें