21.1 C
Ranchi
Sunday, February 25, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Homeबिहारपटनापटना का तापमान धड़ाम, मुजफ्फरपुर व वैशाली में भी कोल्ड डे, जानें और कितना गिरेगा पारा

पटना का तापमान धड़ाम, मुजफ्फरपुर व वैशाली में भी कोल्ड डे, जानें और कितना गिरेगा पारा

मौसम विभाग के अनुसार कोहरा भी छाया रहेगा. हालांकि बुधवार से ठंड में कुछ कमी आयेगी. यह देखते कि राज्य के अधिकतर क्षेत्रों में बादल छा सकते हैं. कुछ जगहों पर हल्की बरसात होने का भी पूर्वानुमान है. इसके बाद एक बार फिर ठंड जोर पकड़ सकती है.

पटना. 15-20 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से चली पछुआ राज्य कोल्ड डे की स्थिति बन गयी है. रविवार को पटना पूरे राज्य में सर्वाधिक ठंडी जगह रहा. यहां उच्चतम तापमान सामान्य से नौ डिग्री कम 13.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है.यहां का न्यूनतम तापमान 11.9 डिग्री दर्ज किया गया. यहां एक तरह से सीवियर कोल्ड डे रहा. इसी तरह रविवार को मुजफ्फरपुर और वैशाली में भी कोल्ड डे की स्थिति बनी.

बिहार में अधिकतम तापमान 14 डिग्री के आसपास रहा

बिहार के कई जिलों में न्यूनतम और अधिकतम तापमान में केवल एक से तीन डिग्री के बीच अंतर दर्ज किया गया. इन दोनों जगहों पर अधिकतम तापमान 14 डिग्री के आसपास रहा. हालांकि आइएमडी की तरफ से कोल्ड और शीत लहर की आधिकारिक घोषणा नहीं की गयी है. इसके अलावा राज्य के कुछ अन्य भागों में मसलन गया, पूर्णिया, वाल्मीकि नगर कमोबेश कोल्ड डे की स्थिति रही. कुछ स्थानों पर शीत लहर की भी स्थिति देखी गयी. अधिकांश जगहों पर उच्चतम तापमान सामान्य से चार से नौ डिग्री सेल्सियस कम दर्ज किया गया है.

अधिकतर क्षेत्रों में मध्यम से घना कोहरा छाया रहा

राज्य के अधिकतर क्षेत्रों में मध्यम से घना कोहरा छाया रहा. वातावरण में नमी की मात्रा अधिक होने की वजह से पानी की बूंदे फुहार के रूप में महसूस गयीं. इसे मौसम विज्ञानी ”कोल्ड इंजुरी ” कहते हैं. दरअसल यह स्थिति तब बनती है, जब सर्दियों की हवा में नमी की मात्रा सामान्य से काफी अधिक होती है. आइएमडी के मुताबिक सोमवार और मंगलवार तक राज्य में कड़ाके की ठंड बने रहने का पूर्वानुमान है.

बुधवार से ठंड में कुछ कमी आयेगी

मौसम विभाग के अनुसार कोहरा भी छाया रहेगा. हालांकि बुधवार से ठंड में कुछ कमी आयेगी. यह देखते कि राज्य के अधिकतर क्षेत्रों में बादल छा सकते हैं. कुछ जगहों पर हल्की बरसात होने का भी पूर्वानुमान है. इसके बाद एक बार फिर ठंड जोर पकड़ सकती है. मौसम विज्ञानियों का कहना है कि इस बार जनवरी में पिछले साल की तुलना में अच्छी ठंड पड़ सकती है. हालांकि आइएमडी ने इस संदर्भ में अभी तक आधिकारिक बुलेटिन जारी नहीं किया है.

अधिकतर जगहों पर सामान्य से छह डिग्री कम चल रहा उच्चतम तापमान

आइएमडी की तरफ से जारी आधिकारिक जानकारी के मुताबिक पटना में उच्चतम तापमान सामान्य से नौ डिग्री कमी 13.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. इसी तरह गया में अधिकतम तापमान सामान्य से पांच डिग्री कम 18.5 ,पूर्णिया में सामान्य से पांच डिग्री कम और भागलपुर में सामान्य से तीन डिग्री कम 19 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है. तापमान के संदर्भ में खास बात यह है कि राज्य के अधिकतर जगहों पर न्यूनतम तापमान सामान्य से काफी अधिक चल रहा है.

शीत लहर की स्थिति इसलिए नहीं हो रही घोषित

राज्य में जबरदस्त ठंड महसूस होते भी आइएमडी ने अभी तक शीत लहर घोषित नहीं की गयी है. यह देखते हुए कि अधिकतर जगहों पर न्यूनतम तापमान सामान्य से काफी अधिक है. उदाहरण के लिए पटना में न्यूनतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री अधिक, गया और पूर्णिया में सामान्य से चार डिग्री अधिक बना हुआ है. आइएमडी के वरिष्ठ मौसम विज्ञानी आशीष कुमार ने कहा कि न्यूनतम तापमान सामान्य से ऊपर है. राज्य में न्यूनतम तापमान दस डिग्र्री से ऊपर ही चल रहा है. वरिष्ठ मौसम विज्ञानी आषीश कुमार के मुताबिक पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने जा रहा है. इसकी वजह से तीन से पांच तारीख के बीच दक्षिणी बिहार के कुछ इलाकों में हल्की बारिश का पूर्वानुमान है.

पटना में सीजन का पहला कोड-डे

सर्दी अब अपना रंग दिखाने लगी है. वर्ष के अंतिम दिन पटना में पहला कोड- डे दर्ज किया गया. शहर के अधिकतम व न्यूनतम तापमान में मात्र 1.6 डिग्री सेल्सियस का अंतर रहा. अधिकतम तापमान सामान्य से नौ डिग्री कम 13.5 और न्यूनतम तापमान 11.9 डिग्री सेल्सियस रहा. वहीं पूरे दिन कोहरा छाये रहने के कारण भी लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा. मौसम पूर्वानुमान के अनुसार अगले तीन दिनों तक मौसम में कोई विशेष परिवर्तन की संभावना नहीं है. शीत लहर चलने के आसार है. फिलहाल राज्य में पछुआ और उत्तर पछुआ का प्रभाव है. वहीं, उत्तरी हरियाणा में सतह से 1.5 और 3.1 किमी के बीच एक साइक्लोनिक सिस्टम बना हुआ है. इसके कारण मौसम में परिवर्तन हो रहे हैं.

Also Read: VIDEO: बिहार का मौसम अब बदलेगा, ठंड का दिखेगा कड़ा तेवर, बारिश को लेकर आयी बड़ी जानकारी..

अभी सतायेगी सर्दी

मौसम वैज्ञानिकों ने बताया कि इस बार शीत दिवस या लहर की शुरुआत देरी से हुई है. आमतौर पर 15 दिसंबर के बाद अधिकतम और न्यूनतम तापमान में अंतर कम होने लगता है. इससे कारण सर्दी बढ़ जाती है. मगर, इस बार इसकी शुरुआत देर से हुई है. इस कारण कम से कम 25 जनवरी तक मौसम द्वारा राहत देने की संभावना कम है. फिलहाल दो दिनों से सर्दी बढ़ी हुई है. दो जनवरी से हल्की बारिश की संभावना व्यक्त की गयी है.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें