18.7 C
Ranchi
Tuesday, February 27, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

बिहार: भगोड़ा बीएसएफ कांस्टेबल निकला चोरों का सरगना, नाबालिग बच्चों का गैंग बनाकर करता था चोरी

गिरफ्तार चोरों का सरदार सह मास्टर माइंड बीएसएफ का भगोड़ा सिपाही नीरज कुमार है. जो की एक गिरोह बनाकर शहर के विभिन्न क्षेत्रों में बंद पड़े घरों में चोरी करवाने का काम करता था और चोरी किये गये सामानों को बेचकर कुछ हिस्से को नाबालिग बच्चों पर खर्च कर दिया करता था.

लखीसराय की टाउन थाना पुलिस ने शुक्रवार को चोरी के एक और मामले का खुलासा किया है. इसके साथ ही पुलिस ने गिरोह के मुख्य सरगना सहित चोरी करने में शामिल आधा दर्जन नाबालिग को भी गिरफ्तार किया है. चोरों के पास से तीन लाख रुपया नगद, चांदी के गहने व बर्तन, एक इनवर्टर, दो बैटरी, टीवी, ई-रिक्शा आदि बरामद किया गया है.

21 सितंबर को चोरी के बाद गठित की गई थी टीम

इस संबंध में टाउन थाना में एक प्रेस वार्ता आयोजित कर एएसपी रोशन कुमार ने बताया कि विगत 21 सितंबर को अज्ञात चोरों के द्वारा टाउन थाना क्षेत्र के मंसूरचक मुहल्ला स्थित एक घर में चोरी की घटना को अंजाम दिया गया था. जिसमें पीड़ित के घर से आभूषण के अलावा नगद रुपया, बर्तन आदि की चोरी की गयी थी. जिसे लेकर टाउन थाना में कांड संख्या 734/23 के तहत मामला दर्ज किया गया. इसके बाद चोरों का पता लगाने के लिए एक छापेमारी दल का गठन किया गया.

छापेमारी दल में ये लोग थे शामिल

छापेमारी दल में पुलिस निरीक्षक सह टाउन थानाध्यक्ष राजीव कुमार सहित पुलिस निरीक्षक सह अपर थानाध्यक्ष रंजन कुमार, पुलिस निरीक्षक राज कुमार, एसआई जंगबाहदुर राय, रामनरेश सिंह, विजय सिंह यादव, डीआइयू प्रभारी शशि भूषण कुमार, हवलदार श्रीकांत सहित गृहरक्षक दल को रखा गया.

एक चोर की निशानदेही पर पकड़े गए अन्य चोर

एएसपी ने बताया कि उक्त टीम ने गुप्त सूचना एवं तकनीकी साक्ष्य के आधार पर गुरुवार की रात एक अपराधी चोर को पकड़ा. जिसके निशानदेही पर चोरी की गयी सामान की बरामदगी एवं घटना को अंजाम देने वाले सभी अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया. एएसपी ने बताया कि गिरफ्तार चोरों का सरदार सह मास्टर माइंड बीएसएफ का भगोड़ा सिपाही नीरज कुमार है. जो की एक गिरोह बनाकर शहर के विभिन्न क्षेत्रों में बंद पड़े घरों में चोरी करवाने का काम करता था. उसने अपने गिरोह में नाबालिग बच्चों को शामिल कर रखा था. जिनकी मदद से वो चोरी का कार्य करता था और चोरी किये गये सामानों को बेचकर कुछ हिस्से को नाबालिग बच्चों पर खर्च कर दिया करता था.

अपनी दुकान से गिरोह का संचालन करता था सरगना

एएसपी ने बताया कि नीरज मूल रूप से बड़हिया थाना क्षेत्र के धीराडाढ़ गांव का निवासी है. जो वर्तमान में बड़ी दरगाह मंसूरचक में एक किराये का मकान व दुकान लेकर किराना का दुकान संचालित करता है. जहां से वह अपने गिरोह का भी संचालन करता है.

Also Read: बिहार पुलिस में होने जा रही बंपर बहाली, 24269 पदों पर होगी भर्ती, ADG ने बताया कब जारी होगा रोस्टर?

चोरों के पास से बरामद चोरी का सामान

एएसपी ने बताया कि उपरोक्त चोरों की गिरफ्तारी के बाद उनके पास से चोरी का सामान भी बरामद किया गया. जिसमें तीन लाख रुपया नगद, एक जोड़ा चांदी का पायल, एक पीस चांदी का छल्ला, दो पीस चांदी का दस्ताना, एक चांदी की बाल चोटी, एक पीस इनवर्टर, दो बैटरी, टीवी, ई-रिक्शा आदि बरामद किया गया है. एएसपी ने बताया कि गिरफ्तार नीरज को न्यायिक हिरासत में भेजा जा रहा है, जबकि गिरफ्तार नाबालिग बच्चों को किशोर न्याय परिषद को सौंपा जायेगा.

Also Read: बिहार: STET अभ्यर्थियों से ठगी करने वाले गिरोह से जुड़े हो सकते हैं सरकारी कर्मचारियों के तार, पूछताछ जारी

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें