1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. banka
  5. patnas girl fell in love with a young man from banka appealed to women police station to get married ksl

Banka: पटना की युवती को बांका के युवक से हुआ प्यार, शादी करने के लिए महिला थाने में लगायी गुहार

पटना की युवती बांका के एक युवक से शादी करना चाहती है. वहीं, उसका प्रेमी मामले को निराधार बता रहा है.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Banka: सांकेतिक तस्वीर
Banka: सांकेतिक तस्वीर
ट्वीटर

Banka: कहते हैं प्यार अंधा होता है. प्यार में जाति, उम्र और धर्म नहीं देखा जाता है. ताजा मामला पटना की एक युवती का कुछ इसी प्रकार का है. पटना की युवती बांका के एक युवक से शादी करना चाहती है. वहीं, उसका प्रेमी मामले को निराधार बता रहा है. महिला थाने मामला पहुंचने पर दोनों पक्षों को 15 दिनों में साक्ष्य प्रस्तुत करने का निर्देश दिया गया है.

अपना प्यार पाने के लिए युवती ने महिला थाने में लगायी गुहार

जानकारी के अनुसार राजधानी पटना की युवती बांका के रजौन के एक युवक को अपना दिल दे बैठी है. अब वह इस युवक से शादी करना चाहती है. लेकिन, तथाकथित उसका प्रेमी इस पूरे मामले को निराधार बता रहा है. इसके बाद उक्त युवती अपना प्यार पाने की खातिर महिला थाने में न्याय की गुहार लगाते हुए उक्त युवक से शादी करने की मांग कर दी है.

महिला थानेदार के समक्ष दोनों पक्षों ने रखा पक्ष

महिला थाने में मामला पहुंचने के बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए दोनों पक्षों को थाने बुलाया और अपना-अपना पक्ष रखने का निर्देश दिया. दोनों पक्षों के लोग शनिवार को थाना पहुंचे और थानाध्यक्ष श्वेता कुमारी के समक्ष अपना-अपना पक्ष रखा. बताया जा रहा है पटना की युवती व प्रेमी दो अलग-अलग समुदाय से है.

प्रेमिका ने प्रेमी के साथ शारीरिक संबंध में रहने का किया दावा

प्रेमिका युवती का कहना था कि बांका के रजौन के युवक से वह पिछले दो वर्षों से प्यार कर रही है. इस दौरान वह अपने प्रेमी के साथ शारीरिक संबंध में भी रही है. कुछ दिनों बाद चोरी-छिपे शादी भी कर ली. उधर, युवक का कहना है कि शादी नहीं हुई है. इस लड़की से उसका कोई वास्ता नहीं है. मामले को लेकर थाने में काफी देर तक हाईवोल्टेज ड्रामा होता रहा.

दोनों पक्षों को 15 दिनों में साक्ष्य प्रस्तुत करने का समय दिया गया

महिला थानाध्यक्ष ने युवती को शादी किये जाने पर साक्ष्य को पेश करने का निर्देश दिया. साथ ही कहा है कि दोनों पक्षों को आवश्यक साक्ष्य के साथ निर्धारित तिथि को उपस्थित होकर पुन: अपना पक्ष रखने का निर्देश दिया है. उन्हें अपना-अपना पक्ष रखने के लिए 15 दिनों का समय दिया गया है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें