24.1 C
Ranchi
Saturday, March 2, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Ram Mandir Ayodhya: ‘मैं तो अयोध्या जाऊंगा, किसी को दिक्कत है तो…’, देखें क्या बोले क्रिकेटर हरभजन सिंह

श्री रामलला की मूर्ति को गुरुवार को गर्भ गृह में स्थापित किया गया था. इसके बाद उनकी पहली फोटो सामने आई. अयोध्या में जारी तैयारी के बीच क्रिकेटर हरभजन सिंह का बयान सामने आया है.

विपक्षी दलों द्वारा अयोध्या राम मंदिर ‘प्राण प्रतिष्ठा’ समारोह के निमंत्रण को अस्वीकार करने पर पूर्व क्रिकेटर और राज्यसभा सांसद हरभजन सिंह ने कहा कि यह हमारा सौभाग्य है कि इस समय यह मंदिर बन रहा है, इसलिए हम सभी को जाना चाहिए और आशीर्वाद लेना चाहिए. कोई भी जाए और कोई भी न जाए, मैं जरूर जाऊंगा. कोई फर्क नहीं पड़ता कि कौन सी पार्टी जाती है और कौन सी पार्टी नहीं जा रही है. उन्होंने कहा कि मैं जाऊंगा…यदि किसी को मेरे राम मंदिर जाने से कोई दिक्कत है, तो वे जो चाहें करें…


Also Read: ‘आज गली गली अवध सजाएंगे’: अब स्कूलों में भी राम नाम की धुन, देखें ये खास वीडियो

अयोध्या में रामलला के भव्य प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम को लेकर तैयारियां तेजी से चल रही हैं. कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे, सोनिया गांधी और लोकसभा में पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी को राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा समारोह के लिए आमंत्रित किया गया था जो 22 जनवरी को अयोध्या में होने वाला है. हालांकि पार्टी की ओर से कहा गया है कि ये तीनों नेता समारोह में नहीं जाएंगे.

आज प्राण प्रतिष्ठा के पांचवे दिन क्या होगा

यहां चर्चा कर दें कि श्रीराम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा से पहले शुरू हुए अनुष्ठान के चौथे दिन शुक्रवार को वैदिक रीति-रिवाज एवं अरणि मंथन से अग्नि प्रकट की गयी और उसे यज्ञ के नवकुंडों में स्थापित किया गया. इसके बाद वैदिक मंत्रोच्चार के साथ यज्ञकुंड में आहुतियां दी गयीं. शनिवार को यानी आज प्राण प्रतिष्ठा के पांचवे दिन नित्य पूजन, हवन, पारायण आदि कार्य होगा. प्रातः शर्कराधिवास, फलाधिवास, प्रासाद का 81 कलशों में स्थित विविध औषधियुक्त जल से स्नपन, प्रासाद का अधिवासन, पिंडिका अधिवासन, पुष्पाधिवास, सायंकालिकपूजन एवं आरती होगी.

Also Read: Ayodhya Ram Mandir LIVE: राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा का पांचवा दिन आज, 81 कलश के जल से होगा स्नान

आज प्रभु श्रीरामलला वास्तु शांति के बाद सिंहासन पर विराजेंगे

श्रीरामलला वास्तु शांति के बाद सिंहासन पर आज विराजेंगे. इससे पहले, प्रभु श्रीरामलला को शर्कराधिवास, फलाधिवास, प्रासाद का 81 कलशों में स्थित विविध औषधियुक्त जल से स्नान कराने का काम किया जायेगा. फिर प्रासाद का अधिवासन, पिंडिका अधिवासन, पुष्पाधिवास, पूजन एवं आरती की जाएगी.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें